मुख्य समाचार:
  1. रेलवे के साथ बिजनेस करना हुआ आसान, अब Aapoorti देगा नई सुविधाएं

रेलवे के साथ बिजनेस करना हुआ आसान, अब Aapoorti देगा नई सुविधाएं

अब इंडियन रेलवे के साथ बिजनेस करना पहले से आसान हो गया है. इस काम में मदद करेगा इंडियन रेलवे का नया ऐप आपूर्ति. रेल मंत्री पीयूष गोयल ने मोबाइल ऐप आपूर्ति लॉन्च किया है.

September 7, 2018 2:57 PM
india railway, mobile app, aapoorti, e tendrer, e auction, national transporte, business, usersअब इंडियन रेलवे के साथ बिजनेस करना पहले से आसान हो गया है. इस काम में मदद करेगा इंडियन रेलवे का नया ऐप आपूर्ति. रेल मंत्री पीयूष गोयल ने मोबाइल ऐप आपूर्ति लॉन्च किया है. (Reuters)

अब इंडियन रेलवे के साथ बिजनेस करना पहले से आसान हो गया है. इस काम में मदद करेगा इंडियन रेलवे का नया ऐप आपूर्ति. रेल मंत्री पीयूष गोयल ने शुक्रवार को इंडियन रेलवे आॅनलाइन खरीद प्रणाली (IREPS) के लिए मोबाइल ऐप आपूर्ति लॉन्च किया है, जिसके जरिए नेशनल ट्रांसपोर्टर की ई-टेंडरिंग और आॅनलाइन नीलामी यानी ई-संविदा और ई-नीलामी संबंधी गतिविधियों के आंकड़े और सूचना सही समय पर उपलब्ध होंगे. जिससे रेलवे के साथ कारोबार करने में आसानी होगी.

मिलेगी हर जानकारी

इस मोबाइल ऐप के यूजर रेलवे के किसी ई-टेंडर या नीलामी की पूरी डिटेल ऐप के जरिए पा सकेंगे. उन्हें टेंडर के खुलने, उसके बंद होने और खरीद संबंधी पूरी जानकारी मिल जाएगी. स्क्रैप की बिक्री के संबन्ध में आॅनलाइन नीलामी संबंधी पूरी जानकारी भी इस ऐप के जरिए मिलेगी. इसके अलावा आने वाले दिनों में होने वाली नीलामी, नीलामी के लिए पूरा कार्यक्रम, बिक्री की शर्तों, नीलामी के लिए उपलब्‍ध सामग्री और यूनिट की जानकारी मिलेगी।

90 हजार वेंडर रजिस्टर्ड

ऐप में यूजर्स फीडबैक भी दे सकते हैं, जिसके आधार पर इसमें समय समय पर सुधार भी किया जाएगा. इंडियन रेलवे आॅनलाइन खरीद प्रणाली की वेबसाइट पर अभी कुल 90 हजार वेंडर रजिस्टर्ड हो चुके हैं. रेल मंत्री पीयूष गोयल का कहना है कि इंडियन रेलवे की सभी टेंडर एक्टिविटी और आॅनलाइन नीलामी की जानकारी इसी मोबाइल ऐप पर दी जाएगी. उन्होंने बताया कि वित्त वर्ष 2017-18 में इस सिस्टम के जरिए 1.5 लाख करोड़ वैल्यू का 4.44 लाख ई टेंडर जारी किया गया. वहीं आॅनलाइन नीलामी के जरिए 2800 करोड़ रुपये का आॅनलाइन स्क्रैप सेल किया गया.

Go to Top