मुख्य समाचार:

मूडीज ने मोदी सरकार को दिया एक और झटका, ग्रोथ अनुमान घटाकर 5.6% किया

ग्लोबल रेटिंग एजेंसी मूडीज (Moody's) ने एक बार फिर मोदी सरकार को झटका दिया है.

November 14, 2019 3:09 PM
moody's cut India economic growth forecast, rating outlook, मूडीज, मोदी सरकार को झटका, slowdown, consumption, rating agency moodysग्लोबल रेटिंग एजेंसी मूडीज (Moody’s) ने एक बार फिर मोदी सरकार को झटका दिया है.

सरकार जहां अर्थव्यवस्था को नई दिशा देने के लिए तमाम कोशिशों में लगी हुई है, ग्लोबल रेटिंग एजेंसी मूडीज (Moody’s) ने एक बार फिर मोदी सरकार को झटका दिया है. मूडीज इनवेस्टर्स सर्विस ने चालू वित्त वर्ष के लिये भारत की आर्थिक वृद्धि दर के अनुमान को 5.8 फीसदी से घटाकर 5.6 फीसदी कर दिया है. मूडीज ने गुरूवार को कहा कि जीडीपी (सकल घरेलू उत्पाद) में नरमी अपेक्षा के विपरीत लंबी अवधि तक खींच गई है. जिसके कारण उसे अपने अनुमान को कम करना पड़ा है. इसके पहले रेटिंग एजेंसी मूडीज ने ने देश की क्रेडिट रेटिंग आउटलुक को ‘स्टेबल’ से घटाकर ‘निगेटिव’ कर दिया था.

क्रेडिट रेटिंग और रिसर्च सर्विस देने वाली कंपनी ने कहा कि हमने भारत के लिये आर्थिक वृद्धि के अनुमान को घटा दिया है. हमारा अनुमान है कि 2019-20 में यह 5.6 फीसदी रहेगी जो 2018-19 में 7.4 फीसदी थी. मूडीज इनवेस्टर्स सर्विस के अनुसार 2020-21 और 2021-22 में आर्थिक गतिविधियों में तेजी आएगी और यह क्रमश: 6.6 फीसदी और 6.7 फीसदी रह सकती है. लेकिनग्रोथ रेट पिछले सालों के मुकाबले सुस्त रहेगा.

2018 के मिड से ​ही धीमी पड़ी ग्रोथ

मूडीज के अनुसार भारत की इकोनॉमिक ग्रोथ रेट 2018 के मिड से ​ही धीमी पड़ रही है. वास्तविक जीडीपी ग्रोथ रेट 2019 की दूसरी तिमाही में करीब 8 फीसदी से घटकर 5 फीसदी पर आ गई. देश में बेरोजगार बढ़ रही है. मूडीज के अनुसार निवेश गतिविधियां पहले से धीमी हैं लेकिन खपत के लिये मांग के कारण अर्थव्यवस्था में तेजी बनी हुई थी. हालांकि अब खपत मांग भी नरम हुई है जिससे मौजूदा नरमी को लेकर समस्या बढ़ रही है.

रेटिंग आउटलुक निगेटिव किया था

इसके पहले रेटिंग एजेंसी मूडीज ने ने देश की क्रेडिट रेटिंग आउटलुक को ‘स्टेबल’ से घटाकर ‘निगेटिव’ कर दिया था. रेटिंग एजेंसी के अनुसार अर्थव्यवस्था की सुस्ती से निपटने के लिए सरकार के कदम बहुत ज्यादा प्रभावी साबित नहीं हुए. इससे पहले के मुकाबले जीडीपी ग्रोथ की रफ्तार कम रहेगी. हालांकि, मूडीज ने भारत के लिए Baa2 विदेशी-मुद्रा एवं स्थानीय मुद्रा रेटिंग बरकरार रखी है.

दूसरी ओर, सरकार ने मूडीज के इस कदम का सख्त विरोध किया है. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitaraman) ने ट्वीट कर कहा कि भारतीय अर्थव्यवस्था के फंडामेंटल अभी भी मजबूत हैं और हाल में आर्थिक सुधार की दिशा में उठाए गए कदम निवेश को बढ़ावा देंगे. वित्त मंत्री सीतारणम ने भारत में महंगाई दर नियंत्रण में है और बॉन्ड यील्ड लो है. वित्‍त मंत्रालय के अनुसार, मूडीज ने भारत की रेटिंग भले ही घटाई है लेकिन भारतीय अर्थव्यवस्था दुनिया में सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्थाओं में से एक है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. मूडीज ने मोदी सरकार को दिया एक और झटका, ग्रोथ अनुमान घटाकर 5.6% किया

Go to Top