scorecardresearch

‘रेवड़ी कल्चर’ पर मचा राजनीतिक घमासान, पीएम मोदी के बयान पर विपक्ष की तीखी प्रतिक्रिया, समझें पूरा मामला

Rewri Culture: पीएम मोदी ने मुफ्त घोषणाओं को रेवड़ी कल्चर कहा है जिस पर यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है.

modi remarks of some people to collect votes by distributing free rewris at Bundelkhand expressway inauguration opposition attack back
PM addressing at the inauguration of the Bundelkhand: बुंदेलखण्ड एक्सप्रेस-वे के उद्घाटन के मौके पर पीएम मोदी ने कहा कि देश में मुफ्त की रेवड़ी बांटकर वोट बटोरने का कल्चर लाने की कोशिश हो रही है जो कि देश के लिए बहुत ही घातक है. (Image- PIB)

Rewri Culture: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज उत्तर प्रदेश के जालौन में बुंदेलखण्ड एक्सप्रेस-वे का उद्घाटन किया. इस मौके पर उन्होंने कहा कि देश में मुफ्त की रेवड़ी बांटकर वोट बटोरने का कल्चर लाने की कोशिश हो रही है जो कि देश के लिए बहुत ही घातक है. उन्होंने कहा कि इस रेवड़ी कल्चर से लोगों को बहुत सावधान रहना है. पीएम मोदी के रेवड़ी कल्चर वाले बयान पर यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने पीएम मोदी पर हमला बोला है.

क्या कहा पीएम मोदी ने?

बुंदेलखण्ड एक्सप्रेस-वे के उद्घाटन मौके पर पीएम मोदी ने कहा कि हमारे देश में मुफ्त की रेवड़ी बांटकर वोट बटोरने का कल्चर लाने की कोशिश हो रही है.ये रेवड़ी कल्चर देश के विकास के लिए बहुत घातक है. इस रेवड़ी कल्चर से देश के लोगों को बहुत सावधान रहना है. रेवड़ी कल्चर वाले कभी आपके लिए नए एक्सप्रेसवे नहीं बनाएंगे, नए एयरपोर्ट या डिफेंस कॉरिडोर नहीं बनाएंगे. रेवड़ी कल्चर वालों को लगता है कि जनता जनार्दन को मुफ्त की रेवड़ी बांटकर, उन्हें खरीद लेंगे. हमें मिलकर उनकी इस सोच को हराना है, रेवड़ी कल्चर को देश की राजनीति से हटाना है. हम कोई भी फैसला लें, निर्णय लें, नीति बनाएं, इसके पीछे सबसे बड़ी सोच यही होनी चाहिए कि इससे देश का विकास और तेज होगा. हर वो बात, जिससे देश को नुकसान होता है, देश का विकास प्रभावित होता है, उसे हमें दूर रखना है.

अखिलेश यादव ने ली चुटकी

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री ने पीएम मोदी के बयान पर चुटकी ली और हमला बोला है. उन्होंने ट्वीट किया है कि “रेवड़ी बाँटकर थैंक्यू का अभियान चलवाने वाले सत्ताधारी अगर युवाओं को रोज़गार दें तो वो ‘दोषारोपण संस्कृति’ से बच सकते हैं. रेवड़ी शब्द असंसदीय तो नहीं?”

बता दें कि असंसदीय को लेकर इस समय राजनीतिक माहौल गर्माया हुआ है क्योंकि संसद के मौजूदा बुकलेट में तानाशाही, जुमला, सत्य, अहंकार और भ्रष्ट जैसे कई शब्दों को असंसदीय बताया गया है. असंसदीय का मतलब है कि संसद के दोनों सदनों में इन्हें बोला नहीं जा सकता है लेकिन विवाद होने के बाद लोकसभा अध्यक्ष ओम प्रकाश बिरला ने सफाई दी कि संसद में किसी शब्द के बोलने पर पाबंदी नहीं लगाई गई है और सांसद अपनी बात कहने के लिए आजाद हैं.

मानसून सत्र से पहले असंसदीय शब्दों की सूची जारी; संसद में तानाशाही, अहंकार, असत्य, अयोग्य, अपमान और जुमलाजीवी जैसे शब्द बोलने पर लगी रोक

अखिलेश यादव ने एक और वीडियो कैप्शन के साथ ट्वीट किया है जिसमें बुंदेलखण्ड एक्सप्रेस-वे का जल्दबाजी में उद्घाटन करने का आरोप लगाया गया है. उन्होंने लिखा है, “आधे-अधूरे बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे के उद्घाटन की हड़बड़ी बताती है कि इसका डिज़ाइन भी ऐसे ही चलताऊ बना है तभी डिफ़ेंस कॉरिडोर के पास होने के बाद भी यहां भाजपा सरकार, सपा काल में बने आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे जैसी हवाई पट्टी न बना पाई. इसे चित्रकूट तक विकसित न करना दूरदृष्टि की कमी है.”

केजरीवाल ने पीएम मोदी के बयान पर दी कड़ी प्रतिक्रिया

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रेवड़ी कल्चर को लेकर पीएम मोदी के बयान पर निशाना साधा है, उन्होंने कहा,”अपने देश के बच्चों को मुफ़्त और अच्छी शिक्षा देना और लोगों का अच्छा और मुफ़्त इलाज करवाना – इसे मुफ़्त की रेवड़ी बाँटना नहीं कहते. हम एक विकसित और गौरवशाली भारत की नींव रख रहे हैं. ये काम 75 साल पहले हो जाना चाहिए था.”

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

TRENDING NOW

Business News