मुख्य समाचार:

मेक इन इंडिया: 50 लाख PPE किट के निर्यात को मंजूरी, कुछ महीने पहले तक होता था 100% आयात

पीपीई किट के निर्यात पर अबतक पूरी तरह से रोक थी, लेकिन अब इसे निर्यात की प्रतिबंधित सूची में डाला गया है.

Published: June 29, 2020 4:03 PM
modi government allows export of COVID19 PPE medical coveralls; monthly quota fixed at 50 lakh unitsपीपीई किट के निर्यात पर अबतक पूरी तरह से रोक थी.

कोरोनावायरस महामारी (coronavirus pandemic) से लड़ते हुए भारत ने अपनी क्षमता का कितना बेहतर इस्तेमाल किया, इसका अंदाजा PPE किट के निर्यात से लगाया जा सकता है. देश में जब लॉकडाउन का एलान किया गया, उस समय तक देश में एक भी PPE किट का उत्पादन नहीं किया जाता था, आज सरकार ने इसका सीमित निर्यात करने की अनुमति दे दी है. इस महामारी के दौर में यह मेक इन इंडिया की ताकत का जीता जागता उदाहरण है. दरअसल, सरकार ने कोविड- 19 से जुड़ी चिकित्सा सामग्री ‘व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण (PPE)’ किट के निर्यात नियमों में आंशिक ढील दी है. इस किट की मासिक 50 लाख इकाइयों के निर्यात की अनुमति दी गई है. इस उत्पाद के निर्यात पर अब तक पूरी तरह से रोक थी, लेकिन अब इसे निर्यात की प्रतिबंधित सूची में डाला गया है. पीपीई किट कोविड- 19 संक्रमित लोगों के इलाज में लगे चिकित्सा कर्मियों द्वारा पहनी जाती है ताकि संक्रमण को फैलने से रोका जा सके.

कोरोनावायरस की वैक्सीन में अब कितनी देर! ये 2 कंपनियां रेस में सबसे आगे

विदेश व्यापार महानिदेशालय (DGFT) ने एक अधिसूचना में कहा है, ‘‘कोविड-19 इकाइयों के लिये 50 लाख पीपीई चिकित्सा उपकरण का निर्यात कोटा तय किया गया है. पीपीई चिकित्सा उपकरण निर्यात करने वाली पात्र इकाइयों के लिये निर्यात लाइसेंस जारी करने के तहत यह कोटा निर्धारित किया गया है. इसके पात्रता मानदंडों के लिए अलग से व्यापार नोटिस जारी किया जाएगा.’’

इसमें कहा गया है कि पीपीई किट से जुड़े अन्य हिस्से निषेध सूची में बने रहेंगे. वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने ट्वीट कर कहा, ‘‘भारत में निर्मित सामान के निर्यात को बढ़ावा दिया जा रहा है. कोविड- 19 इलाज के दौरान काम आने वाली पीपीई चिकित्सा किट का मासिक 50 लाख कोटा तय करते हुए निर्यात की अनुमति दी गई.’’

4.5 लाख से अधिक PPE किट का उत्पादन

मेक इन इंडिया की ताकत का अंदाजा इस बात से लगया जा सकता है कि कोरोना महामारी के समय जब लॉकडाउन किया गया था तब भारत एक भी पीपीई किट का निर्माण नहीं करता था. आज लोकल उद्यमियों की ओर से भारत में तकरीबन 4.5 लाख पीपीई किट रोजाना उत्पादन हो रहा है. पीएम मोदी भी देश की उद्यमशीलता की तारीख करते हुए कई बार अपने संबोधन में इस बात का जिक्र कर चुके हैं.

 

Input: PTI

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. मेक इन इंडिया: 50 लाख PPE किट के निर्यात को मंजूरी, कुछ महीने पहले तक होता था 100% आयात

Go to Top