मुख्य समाचार:

सरकारी हर्बल चाय बढ़ाएगी इम्यूनिटी, कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में हो सकती है असरदार!

रसायन और उर्वरक मंत्रालय के फार्मास्यूटिकल विभाग के तत्वावधान में नाईपर राष्ट्रीय महत्व के संस्थान हैं.

Published: June 24, 2020 2:49 PM
Ministry of Chemicals and Fertilizer led NIPER introduces immunity booster Herbal Tea to strengthen physical resistance to infectionइस चाय को दिन में 3 बार पीया जा सकता है. यह बच्चों और बुजुर्गों के लिए भी सुरक्षित है. (Representational Image)

कोरोनावायरस कोविड19 (Coronavirus Pandemic) के उपचार की अभी तक कोई असरदार दवा या वैक्सीन नहीं ​डेवलप हो पाई है. ऐसे में संक्रमण के खिलाफ लड़ने में यह माना जा रहा है कि व्यक्ति की रोग-प्रतिरोधक क्षमता यानी इम्यूनिटी जितनी मजबूत होगी, वो इस बीमारी से बचा रहेगा या उससे जल्दी उबर जाएगा. इसे देखते हुए राष्ट्रीय औषधीय शिक्षा एवं अनुसंधान संस्थान (NIPER) ने संक्रमण के खिलाफ शारीरिक प्रतिरोध को मजबूत करने के लिए रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाली (इम्यूनिटी बूस्टर) हर्बल चाय को पेश किया है. बता दें, रसायन और उर्वरक मंत्रालय के फार्मास्यूटिकल विभाग के तत्वावधान में नाईपर राष्ट्रीय महत्व के संस्थान हैं. सात संस्थान अहमदाबाद, हैदराबाद, हाजीपुर, कोलकाता, गुवाहाटी, मोहाली और रायबरेली में कार्यरत हैं.

केंद्रीय रसायन एवं उर्वरक मंत्रालय की ओर से जारी बयान के अनुसार, NIPER मोहाली ने कोविड महामारी से लड़ने के लिए सुरक्षा उपकरण, सैनिटाइजर और मास्क जैसे कई इनोवेटिव प्रोडक्ट पेश किए हैं. इसकी क्रम में उसने इम्यूनिटी बूस्टर हर्बल चाय को भी पेश किया है. चूंकि कोविड-19 के उपचार के लिए कोई प्रभावी दवा या वैक्सीन अभी तक उपलब्ध नहीं है. इसलिए लोगों में मजबूत प्रतिरक्षा प्रणाली होना आवश्यक है ताकि वे किसी भी तरह के संक्रमण से खिलाफ आसानी से लड़ सकें और खुद को सुरक्षित रख सकें.

मंत्रालय के अनुसार, नाईपर, मोहाली के प्राकृतिक उत्पाद विभाग की तरफ से विकसित यह हर्बल चाय शरीर में इक्यूनिटी सिस्टम को बेहतर बनाती है ताकि इसका उपयोग कोविड-19 वायरल संक्रमण के खिलाफ एक निवारक उपाय के रूप में किया जा सके.

एक मजबूत प्रतिरक्षा प्रणाली व्यक्तियों को संक्रमणों से बचाती है और इसमें रोगजनक सूक्ष्म जीव जैसे बैक्टीरिया, वायरस और किसी भी अन्य प्रकार के विषाक्त उत्पादों को बेअसर और समाप्त करने की क्षमता होती है। प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया को मज़बूत करना एंटी-वायरल / एंटी-माइक्रोबियल दवाओं का विकल्प हो सकता है। जड़ी-बूटियों को प्रतिरक्षा बढाने वाले गुणों के लिए जाना जाता है, जिसका अर्थ है कि वे विशिष्ट और सामान्य प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया दोनों का उत्पादन करते हैं।

NIPER introduces immunity booster Herbal Tea नाईपर हर्बल चाय (Image: PIB)

हर्बल चाय में 6 घरेलू जड़ी-बूटियां

मंत्रालय के अनुसार, यह हर्बल चाय अश्वगंधा, गिलोय, मुलेठी, तुलसी और ग्रीन टी जैसी 6 स्थानीय रूप से उपलब्ध जड़ी-बूटियों का एक मिश्रण है. जिन्हें सावधानीपूर्वक निर्धारित अनुपात में मिलाया जाता है. जड़ी-बूटियों का चयन आयुर्वेद में बताए गए ‘रसायन’ अवधारणा पर आधारित है. रसायन का अर्थ है कायाकल्प. इन जड़ी-बूटियों का लंबे समय से विभिन्न आयुर्वेदिक दवाओं में उपयोग होता रहा है और इन्हें इम्यूनिटी बूस्टर के रूप में देखा जाता रहा है. ये जड़ी-बूटियां कोशिका स्तर पर प्रतिरक्षा कार्य करती हैं और वायरल/ जीवाणु से लड़ने के लिए हमारे शरीर द्वारा उत्पन्न प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया को बढ़ाती हैं. अधिक इम्यूनिटी के प्रभाव को प्राप्त करने के लिए फार्मूला को तैयार किया गया है.

ओडिशा में ‘सचेतक’ बना नया हथियार, कोरोना के खिलाफ लड़ाई में कैसे कर रहा मदद

हर्बल चाय का कैसे करें सेवन?

रसायन मंत्रालय का कहना है कि इस चाय को दिन में 3 बार पीया जा सकता है. यह बच्चों और बुजुर्गों के लिए भी सुरक्षित है. यह गले को आराम देता है और शरीर को मौसमी फ्लू की समस्याओं से लड़ने में मदद करता है. इसे परिसर में नाईपर मेडिकल प्लांट गार्डन से एकत्रित/खरीदी गयी जड़ी-बूटियों से तैयार किया गया है. रसायन और उर्वरक मंत्रालय के फार्मास्यूटिकल विभाग के तत्वावधान में नाईपर राष्ट्रीय महत्व के संस्थान हैं. सात संस्थान अहमदाबाद, हैदराबाद, हाजीपुर, कोलकाता, गुवाहाटी, मोहाली और रायबरेली में कार्यरत हैं.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. सरकारी हर्बल चाय बढ़ाएगी इम्यूनिटी, कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में हो सकती है असरदार!

Go to Top