सर्वाधिक पढ़ी गईं

कोरोना पर सरकार की नई गाइडलाइंस: 1 अप्रैल से कहां होगी सख्ती, किन जगहों पर रहेगी ढील

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने कोरोना महामारी को प्रभावी तरीके से रोकने के लिए आज मंगलवार 23 मार्च को दिशा-निर्देश जारी किए हैं. ये गाइडलाइंस 1 अप्रैल से प्रभावी हो जाएंगे.

March 23, 2021 5:57 PM
MHA issues order with guidelines for effective control of COVIDー19 which will be effective from April 1 and remain in force up to April 30केंद्रीय गृह मंत्रालय ने सभी राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों को टेस्ट बढ़ाने के निर्देश दिए हैं.

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने कोरोना महामारी को प्रभावी तरीके से रोकने के लिए आज मंगलवार 23 मार्च को दिशा-निर्देश जारी किए हैं. इसके तहत कंटेनमेंट जोन और एसओपीज (स्टैंडर्ज ऑपरेटिंग प्रोजीसजर्स) के बाहर सभी गतिविधियों को मंजूरी रहेगी यानी कि एयर ट्रैवल-पैसेंजर ट्रेन-मेट्रो ट्रेन के जरिए आवाजाही की मंजूरी रहेगी और सभी स्कूल-कॉलेज, होटल-रेस्टोरेंट्स, शॉपिंग मॉल्स, मल्टीप्लेक्सेज, योगा सेंटर और एसेंबली इत्यादि खुले रहेंगे. ये निर्देश 1 अप्रैल से लागू हो जाएंगे और 30 अप्रैल तक प्रभावी रहेंगे.
गृह मंत्रालय द्वारा जारी निर्देशों के मुताबिक एसओपी को समय-समय पर अपडेट किया जाएगा और इसे सख्ती से संबंधित अथॉरिटी लागू करेगी. गृह मंत्रालय ने सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को सख्ती से टेस्ट-ट्रैक-ट्रीट प्रोटोकॉल को लागू करने का निर्देश दिया है. राज्य और राज्यों के भीतर आवाजाही के लिए किसी विशेष इजाजत की मंजूरी नहीं लेनी होगी और जिन देशों के साथ मुक्त सीमा आवागमन रहा है, वहां भी रोक नहीं रहेगी. हालांकि राज्य/यूनियन टेरीटरी कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए जरूरी कदम उठा सकेंगे और अपने यहां स्थानीय स्तर पर रिस्ट्रिक्शंस लागू कर सकेंगे.

1 अप्रैल से 45 साल से ज्यादा उम्र के सभी लोग लगवा सकेंगे कोविड वैक्सीन, शुरू हुआ रजिस्ट्रेशन

टेस्ट-ट्रैक-ट्रीट प्रोटोकॉल के तहत ये गाइडलांस जारी

  • राज्यों व यूनियन टेरीटरीज को आरटी-पीसीआर टेस्ट में तेजी लानी होगी और इसे कम से कम 70 फीसदी या इससे अधिक के लेवल पर लाना होगा.
  • कोई भी नया कोरोना संक्रमण का मामला सामने आने के बाद उसे आइसोलेट किया जाएगा. इसके अलावा उसके संपर्क में आए हुए लोगों की पहचान कर उन्हें भी आइसोलेट किया जाएगा.
  • पॉजिटिव केसेज और उनके संपर्क में आए हुए लोगों के आधार पर डिस्ट्रिक्ट अथॉरिटी सावधानपूर्वक कंटेनमेंट जोन का निर्धारण करेगी. इसके लिए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा निर्धारित दिशा-निर्देशों का पालन करना होगा.
  • सभी कंटेनमेंट जोन्स की जानकारी संबंधित डिस्ट्रिक्ट कलेक्टर्स और राज्य/यूनियन टेरीटरी की वेबसाइट पर नोटिफाई किया जाएगा. इसके अलावा इसकी सूची केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय से भी साझा करनी होगी.
  • कंटेनमेंट जोन के लिए जारी निर्देशों का पालन करने की पूरी जिम्मेदारी स्थानीय जिला, पुलिस और म्यूनिसिपल अथॉरिटीज की होगी और राज्य/यूनियन टेरीटरी ऑफिसर्स की अकाउंटेबेलिटी सुनिश्चित करेंगे.

राज्यों को वैक्सीनेशन बढ़ाने के निर्देश

केंद्र सरकार ने 16 जनवरी 2021 से दुनिया का सबसे बड़ा कोरोना वैक्सीनेशन कार्यक्रम शुरू कर दिया है. हालांकि कुछ राज्यों में इसकी धीमी रफ्तार ने केंद्र की चिंता बढ़ा दी है क्योंकि इससे कोरोना संक्रमण बढ़ने का डर है. केंद्रीय गृह मंत्रालय ने राज्यों/यूनियन टेरीटरी को निर्देश दिया है कि वैक्सीनेशन की गति बढ़ाई जाए और सभी प्रॉयरिटी ग्रुप को कवर किया जाए. वैक्सीनेशन कार्यक्रम के तहत केंद्र सरकार ने आज एक बड़ा फैसला लेते हुए 1 अप्रैल से देशभर में 45 साल की उम्र से ज्यादा के सभी लोग कोरोना का टीका लगवाने की मंजूरी दे दी है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. कोरोना पर सरकार की नई गाइडलाइंस: 1 अप्रैल से कहां होगी सख्ती, किन जगहों पर रहेगी ढील

Go to Top