सर्वाधिक पढ़ी गईं

Metro Budget 2021: दो नई तकनीक से पब्लिक ट्रांसपोर्ट को मिलेगा बढ़ावा, जानिए क्या है MetroLite और MetroNeo की खासियत

Metro Budget 2021: वित्त मंत्री ने कहा कि पब्लिक ट्रांसपोर्ट को बढ़ावा देने के लिए सरकार लगातार कोशिश कर रही है.

February 1, 2021 9:19 PM
Metro Budget 2021 government will raise share of public transport in urban areas through expansion of metro rail network with new technology metrolite and metroneoआम मेट्रो की तुलना में लाइट और नियो मेट्रो की लागत कम होती है. (Representative Image)

Metro Budget 2021: केंद्रीय वित्त मंत्री ने आज 1 फरवरी को अगले वित्त वर्ष 2021-22 का आम बजट पेश किया. इस बजट में उन्होंने शहरी क्षेत्रों में सार्वजनित यातायात को बढ़ावा देने की बात कही. वित्त मंत्री ने कहा कि पब्लिक ट्रांसपोर्ट को बढ़ावा देने के लिए सरकार लगातार कोशिश कर रही है. मेट्रो रेल नेटवर्क और सिटी बस सर्विसेज में बढ़ोतरी की जा रही है.

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि टियर 1 से जुड़े हुए इलाकों और टियर 2 सिटी में MetroLite और MetroNeo की नई तकनीक के जरिए पब्लिक ट्रांसपोर्ट के तौर पर मेट्रो की सेवाएं उपलब्ध कराए जाएगी. इन दोनों तकनीक की खास बात यह है कि यह कम लागत में मेट्रो में सफर का समान अनुभव देती है. दिल्ली, मुंबई, कोलकाता चेन्नई, हैदराबाद, बंगलूरु और पुणे टियर 1 सिटी हैं जबकि लखनऊ, आगरा, जयपुर, चंडीगढ़ और नागपुर इत्यादि टियर 2 सिटी हैं.

MetroLite और MetroNio की खासियत

आम मेट्रो की तुलना में लाइट और नियो मेट्रो की लागत कम होती है. इनके लिए स्टेशन छोटे होते हैं, बस स्टैंड की तरह. हालांकि यात्रियों को ढोने की क्षमता कम होती है. इन दोनों में ही सिर्फ 3 कोच होते हैं और इन्हें चलाने के लिए एक डेडिकेटेड कोरिडोर तैयार किया जाएगा. इनका मेंटेनेंस खर्च भी कम पड़ता है.

हालांकि इन दोनों में बात करें को नियो मेट्रो अधिक बचत वाली है. यह टायरों पर चलने वाली मेट्रो है और इसे ट्राम, मेट्रो व बस का मिला-जुला रूप मान सकते हैं. इसे बिजली से चलने वाली बस समझा जा सकता है जिसमें मेट्रो की तरह यात्री सफर कर सकते हैं. पिछले साल नवंबर 2020 में 29 मेट्रो लाइट के टेंडर कैंसल कर दिए थे और मेट्रोनियो के लिए टेंडर निकालने की तैयारी में है. केंद्रीय शहरी मंत्रालय के मुताबिक नियो मेट्रो की लागत सामान्य मेट्रो की तुलना में 40 फीसदी कम है.

यह भी पढ़ें- बजट में एग्री सेस लगाने का ऐलान, लेकिन इस वजह से नहीं बढ़ेंगे पेट्रोल-डीजल के दाम

इन मेट्रो प्रोजेक्ट्स के लिए केंद्र देगी फंड

वित्त मंत्री ने बताया कि इस समय 702 किमी की कंवेंशल मेट्रो ऑपरेशनल है. इसके अलावा 27 शहरों में 1016 किमी मेट्रो व आरआरटीज अंडर कंस्ट्रक्शन हैं. बजट के मुताबिक इन चार मेट्रो परियोजनाओं के लिए केंद्र सरकार अपने हिस्से का फंड देगी.

  • 11.5 किमी के फेज-2 कोच्चि मेट्रो रेलवे के लिए 1957.05 करोड़ रुपये.
  • 118.9 किमी के चेन्नई मेट्रो रेलवे फेज-2 के लिए 63246 करोड़ रुपये.
  • 58.19 किमी के बेंगलूरु मेट्रो रेलवे प्रोजेक्ट फेज 2ए और फेज 2बी के लिए 14788 करोड़ रुपये.
  • नागपुर मेट्रो रेल प्रोजेक्ट फेज-2 के लिए 5976 करोड़ रुपये और नासिक मेट्रो के लिए 2092 करोड़ रुपये.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. बजट 2021
  3. Metro Budget 2021: दो नई तकनीक से पब्लिक ट्रांसपोर्ट को मिलेगा बढ़ावा, जानिए क्या है MetroLite और MetroNeo की खासियत

Go to Top