मुख्य समाचार:
  1. SP-BSP गठबंधन टूटा! मायावती ने कहा, BSP अकेले लड़ेगी उपचुनाव, अखिलेश का जवाब- हम भी तैयार

SP-BSP गठबंधन टूटा! मायावती ने कहा, BSP अकेले लड़ेगी उपचुनाव, अखिलेश का जवाब- हम भी तैयार

राजनीतिक विवशता का हवाला देते हुए मायावती ने कहा कि गठबंधन स्थायी रूप से खत्म नहीं हुआ. यदि भविष्य में सपा प्रमुख अखिलेश यादव अच्छा काम करेंगे तो हम फिर साथ आएंगे.

June 4, 2019 12:32 PM
Mayawati takes break from alliance with SPराजनीतिक विवशता का हवाला देते हुए मायावती ने कहा कि गठबंधन स्थायी रूप से खत्म नहीं हुआ. यदि भविष्य में सपा प्रमुख अखिलेश यादव अच्छा काम करेंगे तो हम फिर साथ आएंगे. (Image: PTI)

बहुजन समाजवादी पार्टी (BSP) सुप्रीमो मायावती ने मंगलवार को यह एलान कर दिया कि बसपा उपचुनाव अकेले लड़ेगी. इस एलान के साथ ही यह साफ है कि यूपी में SP-BSP गठबंधन अब लगभग खत्म हो गया है, हालांकि इसका औपचारिक एलान नहीं हुआ है. राजनीतिक विवशता का हवाला देते हुए मायावती ने कहा कि गठबंधन स्थायी रूप से खत्म नहीं हुआ. यदि भविष्य में  सपा प्रमुख अखिलेश यादव अच्छा काम करेंगे तो हम फिर साथ आएंगे. उधर, सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने भी साफ कर दिया है कि उपचुनाव में गठबंधन नहीं रहता है तो सपा भी सभी 11 सीटों पर चुनाव लड़ेगी.

मायावती ने कहा, ”जब से बीएसपी का सपा का गठबंधन हुआ है, त​ब से खासतौर से अखिलेश यादव और उनकी पत्नी ​डिंपल यादव ने बहुत सम्मान दिया है. राष्ट्रहित में मैंने भी अपने सभी पुराने गिलेशिकवे भुलाकर उन्हें पर्याप्त सम्मान दिया. हमारे संबंध केवल राजनीतिक नहीं है, यह हमेशा बने रहेंगे.”

यादव वोट BSP को नहीं मिला

मायावती ने कहा है कि इन सबके बावजूद हम राजनीतिक विवशताओं की अनदेखी नहीं कर सकते हैं. उत्तर प्रदेश में लोकसभा के नतीजों में साफ है कि समाजवादी पार्टी का बेस वोट यानी यादव समाज ने पार्टी को सपोर्ट नहीं किया. यहां तक कि एसपी के मजबूत प्रत्याशी भी चुनाव हार गए.

गठबंधन स्थायी रूप से नहीं टूटा

SP-BSP गठबंधन पर मायावती ने कहा कि कहा कि यह स्थायी रूप से खत्म नहीं हुआ. यदि हम भविष्य में ऐसा महसूस करते हैं कि सपा प्रमुख अपनी राजनीतिक कामकाज में सफल होते हैं तो हम दोबारा एक साथ काम करेंगे. लेकिन, यदि वह सफल नहीं होते हैं तो हमारे लिए यह अच्छा रहेगा कि हम अकेले-अकेले काम करें. इसलिए हमने उपचुनाव अकेले लड़ने का फैसला किया है.

सपा भी सभी 11 सीटों पर लड़ेगी चुनाव: अखिलेश

गठबंधन में सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा कि यदि गठबंधन टूट गया है तो मैं गहराई से इस पर विचार करूंगा और यदि उपचुनाव में गठबंधन नहीं रहता है तो समाजवादी पार्टी भी चुनावों के लिए तैयार है. सपा भी सभी 11 सीटों पर अकेले चुनाव लड़ेगी.

लोकसभा चुनाव में गठबंधन रहा फेल

लोकसभा चुनाव 2019 में समाजवादी पार्टी (SP), बहुजन समाजवादी पार्टी (BSP) और राष्ट्रीय लोकदल (RLD) ने गठबंधन बनाकर चुनाव लड़ा था. यूपी की 80 सीटों में से सपा 37, बसपा 38 और RLD 3 सीटों पर चुनाव लड़ी थी. जबकि, गठबंधन ने अमेठी और रायबरेली सीटों पर अपने उम्मीदवार नहीं उतारे थे.

नतीजों की बात करें तो सपा 5 और बसपा 10 सीटें ही जीत पाई. RLD एक भी सीट नहीं जीत सकी. इस तरह देखा जाए तो यूपी में गठबंधन फेल रहा. बता दें, मोदी को केंद्र में रोकने के लिए तीनों दलों ने गठबंधन बनाकर चुनाव लड़ा था.

Go to Top

FinancialExpress_1x1_Imp_Desktop