मुख्य समाचार:

लॉकडाउन में जन औषधि केन्द्र बने आधुनिक, WhatsApp और Email से भी ले रहे ऑर्डर

रसायन एवं उर्वरक मंत्री डीवी सदानंद गौड़ा ने कहा, ‘‘यह खुशी की बात है कि कई PMBJK जरूरतमंदों तक आवश्यक दवाएं पहुंचाने के लिए आधुनिक संचार साधनों का उपयोग कर रहे हैं.

May 5, 2020 8:37 PM
Many Janaushadhi Kendras accept orders on WhatsApp, e-mail to facilitate access to medicines during covid19 lockdownImage: Reuters

सरकार ने मंगलवार को कहा कि लॉकडाउन के दौरान विभिन्न जनऔषधि केंद्र मरीजों से वॉट्सऐप और ईमेल के जरिए दवाओं के ऑर्डर स्वीकार कर रहे हैं, ताकि वे आसानी से दवा खरीद सकें. रसायन एवं उर्वरक मंत्री डीवी सदानंद गौड़ा ने कहा, ‘‘यह खुशी की बात है कि कई PMBJK जरूरतमंदों तक आवश्यक दवाएं पहुंचाने के लिए आधुनिक संचार साधनों का उपयोग कर रहे हैं. इनमें वॉट्सऐप जैसे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म शामिल हैं.’’

रसायन और उर्वरक मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि इस समय देश के 726 जिलों में 6,300 से अधिक प्रधानमंत्री भारतीय जनऔषधि केंद्र (PMBJK) कार्य कर रहे हैं. कोरोना वायरस के कारण देश भर में लगे लॉकडाउन के कारण खरीद व लॉजिस्टिक्स संबंधी दिक्कतों के बाद भी प्रधानमंत्री भारतीय जन औषधि केंद्रों ने अप्रैल में 52 करोड़ रुपये की बिक्री की है. मंत्रालय ने बयान में कहा है कि इन केंद्रों ने पिछले साल अप्रैल में 17 करोड़ रुपये और मार्च 2020 में 42 करोड़ रुपये की बिक्री की थी.

लॉकडाउन: 40 दिन में रिटेल कारोबार को लगा 5.50 लाख करोड़ का झटका, 20% ट्रेडर्स बंद कर सकते हैं बिजनेस

लोगों के बचे 300 करोड़

बयान के अनुसार, इससे लोगों को लगभग 300 करोड़ रुपये की कुल बचत हुई है. जनऔषधि केंद्रों पर दवाएं औसत बाजार मूल्य की तुलना में 50 से 90 फीसदी सस्ती मिलती हैं. बयान में कहा गया है कि मंत्रालय प्रधानमंत्री भारतीय जनऔषधि परियोजना के माध्यम से देश के लोगों को सस्ती दवाओं की निर्बाध उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए प्रतिबद्ध है. इसके साथ ही दवाइयों की डिलीवरी के लिए इंडिया पोस्ट के साथ समझौता भी किया गया है.

Input: PTI

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. लॉकडाउन में जन औषधि केन्द्र बने आधुनिक, WhatsApp और Email से भी ले रहे ऑर्डर

Go to Top