सर्वाधिक पढ़ी गईं

Gandhi Jayanti: महात्‍मा गांधी की स्मृतियों का पलटिये हर पन्‍ना, डिजिटली यहां सहेजा गया है पूरा जीवन-दर्शन

इस वेबसाइट पर 19.30 लाख पन्ने हैं और हर महीने इसमें 20,000 नये पन्ने जोड़े जा रहे हैं .

Updated: Oct 02, 2019 10:57 AM
Mahatama Gandhi jayanti on 2 october gandhi personal life on gandhi heritage portalइसकी शुरुआत के बाद से पोर्टल को छह लाख से ज्यादा बार देखा गया

आज 2 अक्टूबर यानी गांधी जयंती है. जो भी व्यक्ति महात्मा गांधी के जीवन, दर्शन में रुचि रखता है उसके लिए ‘गांधी हेरिटेज पोर्टल’ अनमोल खजाने की तरह है. इस वेबसाइट पर 19.30 लाख पन्ने हैं और हर महीने इसमें 20,000 नये पन्ने जोड़े जा रहे हैं. छह साल पहले शुरू ‘गांधीहेरिटेजपोर्टलडॉटओआरजी’ पर गांधीजी के जीवन से जुड़ी किताबें, पत्रिकाएं, तस्वीरें, ऑडियो और वीडियो क्लिप, कार्टून, पोस्टर, टिकट और अन्य सामग्री डिजिटल प्रारूप में है .

पोर्टल का रख-रखाव करने वाले साबरमती आश्रम के आईटी प्रमुख विराट कोठारी ने बताया कि बापू के जीवन से जुड़े 39 महत्वपूर्ण स्थानों में 23 का दस्तावेजीकरण भी किया गया है . उन्होंने बताया कि जल्द ही लोग इस पोर्टल के जरिए गांधीजी के जीवन से जुड़ी वेबसाइटों का वर्चुअल रियल्टी अनुभव भी ले पाएंगे .

कुल 19.30 लाख पन्ने उपलब्ध

कोठारी ने कहा कि इसकी शुरुआत के बाद से पोर्टल को छह लाख से ज्यादा बार देखा गया और 1800 उपयोगकर्ता हर दिन 30 मिनट से ज्यादा समय इस पर गुजारते हैं . केंद्रीय संस्कृति मंत्रालय ने साबरमती आश्रम संरक्षण और स्मारक ट्रस्ट को वेबसाइट डिजाइन करने और इसकी देखरेख का काम सौंपा था. वर्ष 2013 के सितंबर में तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने इसकी शुरूआत की थी. शुरुआत से ही इसपर पांच लाख पन्नों की विषयवस्तु उपलब्ध हैं .

कोठारी ने कहा, ‘‘पोर्टल पर आसानी से पहुंचा जा सकता है. हमने दुनिया के विभिन्न हिस्सों से गांधीवादी संस्थानों से दस्तावेज एकत्र कर उन्हें डिजीटल रूप में बदलने के बाद इस पर अपलोड किया और मूल सामग्री को वापस लौटा दिया. हम हर महीने औसतन 20,000 पन्ने जोड़ रहे हैं.’’ उन्होंने कहा, ‘‘अप्रैल के बाद से हमने 1.18 लाख नये पन्ने जोड़े हैं. इस तरह कुल 19.30 लाख पेज हो गए हैं. ’’

गांधी समग्र के 100 खंड

पोर्टल पर ‘गांधी समग्र’ के 100 खंड, गांधीजी नो अक्षर देह (गुजराती में गांधीजी के संग्रहित कार्य) और ‘संपूर्ण हिंदी वांग्मय’ के 97 खंड के साथ ही उनकी सात किताबों के पहले संस्करणों, उनके अनुवादों और भगवद्गीता के उनके गुजराती अनुवाद भी शामिल हैं. वेबसाइट 12 भारतीय और छह विदेशी भाषाओं में उपलब्ध है.

इसे 27 अन्य भाषाओं में भी उपलब्ध कराया जा रहा है. इनमें ज्यादातर भारतीय भाषाएं हैं, जो पूर्वोत्तर में बोली जाती है . कोठारी ने कहा कि वेबसाइट पर आने वाले अधिकतर लोग भारत के हैं . इसके बाद अमेरिका, ब्रिटेन, कनाडा, ऑस्ट्रेलिया, जापान, फ्रांस, यूएई, जर्मनी और बांग्लादेश के प्रयोक्ता भी इस पर आते हैं.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. Gandhi Jayanti: महात्‍मा गांधी की स्मृतियों का पलटिये हर पन्‍ना, डिजिटली यहां सहेजा गया है पूरा जीवन-दर्शन

Go to Top