सर्वाधिक पढ़ी गईं

महाराष्ट्र में बनेगी शिवसेना-NCP-कांग्रेस की नई ‘महायुति’, पवार बोले- सरकार बनेगी और 5 साल चलेगी

एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने यह साफ किया सेना-एनसीपी-कांग्रेस मिलकर सरकार बनाएंगे और पांच साल चलाएंगे. कोई मध्यावधि चुनाव नहीं होंगे.

November 15, 2019 3:32 PM
maharashtra government formation latest updates in hindi shiv sena ncp congress bjpमहाराष्ट्र में फिलहाल राष्ट्रपति शासन है.

महाराष्ट्र में Shiv Sena, NCP और Congress के साझा गठबंधन के जरिए सरकार बनाने प्रक्रिया शुरू कर दी गई है. राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) ने यह भी साफ कर दिया है कि मुख्यमंत्री शिवसेना का होगा और यह स्थायी सरकार अपने 5 साल का कार्यकाल पूरा करेगी. एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने शुक्रवार को यह साफ किया सेना-एनसीपी-कांग्रेस मिलकर सरकार बनाएंगे और पांच साल चलाएंगे और कोई मध्यावधि चुनाव नहीं होंगे. महाराष्ट्र में फिलहाल राष्ट्रपति शासन है.

पवार ने कहा कि तीनों राजनीतिक दल राज्य के विकास को ध्यान में रखकर एक स्थिर सरकार का गठन करना चाहते हैं. मध्यावधि चुनाव की कोई संभावना है. सरकार बनेगी और पांच साल चलेगी.

भाजपा ने क्या सरकार बनाने के लिए एनसीपी के साथ चर्चा की? इस सवाल के जवाब में एनसीपी प्रमुख ने कहा कि उनकी पार्टी केवल शिवसेना, कांग्रेस और उसके सहयोगियों के साथ बातचीत कर रही है. इसके अलावा किसी से बातचीत नहीं हो रही है.

‘न्यूनतम साझा कार्यक्रम’ पर चलेगी सरकार

पवार ने कहा कि तीनों दल फिलहाल न्यूनतम साझा कार्यक्रम (CMP) पर काम कर रहे हैं, जो राज्य में नियोजित तरीके से सरकार चलाने का मार्ग होगा. तीनों दलों के प्रतिनिधियों के बीच गुरुवार को मुंबई में बैठक हुई और एक सीएमपी का मसौदा तैयार किया गया.

सेना-एनसीपी-कांग्रेस की सरकार छह महीने से ज्यादा नहीं टिकेगी, पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के इस बयान पर शरद पवार ने कहा, ”मैं कुछ सालों से देवेंद्र जी को जानता हूं. लेकिन मैं यह नहीं जानता था कि वह ज्योतिष के भी एक छात्र हैं.”

सरकार बनाने के समय शिवेसना यदि हिंदुत्व के मसले को उठाती है तो क्या एनसीपी उनका सपोर्ट करेगी, इस पर पवार ने कहा कि कांग्रेस और एनसीपी की उद्धव ठाकरे की पार्टी के नेताओं से गुरुवार को बैठक हुई और सीएमपी पर चर्चा की गई.

गुरुवार की बैठक में कौन रहा शामिल

तीनों दलों के बीच सरकार गठन के लिए न्यूनतम साझा कार्यक्रम पर बातचीत के लिए गुरुवार को हुई बैठक में महाराष्ट्र एनसीपी प्रमुख जयंत पाटिल, एनसीपी नेता छग्गन भुजबल और पार्टी प्रवक्ता नवाब मलिक, कांग्रेस से पृथ्वीराज चव्हाण, माणिकराव ठाकरे और विजय वाडेत्तिवार और शिवसेना की तरफ से एकनाथ शिंदे व सुभाष देसाई शामिल थे.

78 वर्षीय मराठा क्षत्रप ने कहा कि कांग्रेस और एनसीपी ने हमेशा सेक्युलरिज्म के बारे में बात की है. गुरुवार की बैठक में मैं नहीं था, मेरे सहयोगी थे. मैं जानता हूं कि क्या चर्चा हुई. लेकिन, यह सही है कि कांग्रेस या एनसीपी ने हमेशा सेक्युलरिज्म के बारे में बात किया है.

BJP ने किया खारिज तो कांग्रेस-NCP के दर पहुंची सेना

भाजपा की तरफ से मुख्यमंत्री पद और पोर्टफोलियो का बराबर बंटवारा करने की शिवसेना की मांग खारिज कर दी गई. इसके बाद वह एनसीपी और कांग्रेस के दर पर समर्थन के लिए पहुंची. यहां यह बता दें, एनसीपी और शिवसेना ने गठबंधन मे चुनाव लड़ा था. 24 अक्टूबर को नतीजे आने के बाद भाजपा को 105, शिवसेना को 56, एनसीपी को 54 और कांग्रेस को 44 सीटें मिली थीं.

नहीं बनी सरकार तो लगा राष्ट्रपति शासन

राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी की तरफ से तीनों बड़े दलों को सरकार बनाने के लिए बारी-बारी से आमंत्रित किया गया. लेकिन, तीनों ही दल तय समय में सरकार बनाने का दावा पेश नहीं कर पाए. एक समय ऐसा लगा कि शिवसेना, कांग्रेस और एनसीपी के समर्थन की चिट्ठी लेकर राज्यपाल के पास पहुंच जाएगी लेकिन ऐसा नहीं हो सका.

नतीजतन, राज्यपाल ने केंद्र को राज्य में राष्ट्रपति शासन की सिफारिश कर दी. मंगलवार को कैबिनेट ने इस पर अपनी मुहर लगा दी. देर शाम राष्ट्रपति ने कैबिनेट के फैसले पर अपनी मुहर लगा दी.

Input: PTI

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. महाराष्ट्र में बनेगी शिवसेना-NCP-कांग्रेस की नई ‘महायुति’, पवार बोले- सरकार बनेगी और 5 साल चलेगी

Go to Top