मुख्य समाचार:

लैंडर विक्रम पर ISRO ने दी नई जानकारी, ‘सॉफ्ट लैंडिंग’ से पहले टूट गया था संपर्क

चंद्रयान-2: लैंडर के साथ संपर्क स्थापित करने के लिए हरसंभव कोशिश की जा रही है.

September 10, 2019 8:16 PM
Chandrayaan 2 Vikram landing : City space researchers say there is still hope‘लैंडर’ विक्रम के अंदर ‘रोवर’ प्रज्ञान भी है.

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) चंद्रयान-2 के ‘लैंडर’ विक्रम से शीघ्र संपर्क साध कर उसमें मौजूद ‘रोवर’ प्रज्ञान को उपयोग में लाने के लिए हर संभव कोशिश कर रहा है. ‘लैंडर’ विक्रम के चंद्रमा की सतह पर शनिवार तड़के ‘सॉफ्ट लैंडिंग’ करने के दौरान आखिरी क्षणों में इसरो के जमीनी स्टेशनों से संपर्क टूट गया था. उस वक्त विक्रम चंद्रमा से महज 2.1 किमी ऊपर था. ‘लैंडर’ विक्रम के अंदर ‘रोवर’ प्रज्ञान भी है.

इसरो ने रविवार को कहा था कि विक्रम ने ‘हार्ड लैंडिंग’ की है. एजेंसी ने मंगलवार को एक बार फिर से इस बात की पुष्टि की कि चंद्रयान-2 ऑर्बिटर में लगे कैमरों के जरिए लैंडर (विक्रम) का चंद्रमा की सतह पर पता लगा लिया गया है. ऑर्बिटर अपनी निर्धारित कक्षा में चंद्रमा की परिक्रमा कर रहा है.

लैंडर से संपर्क करने की कोशिश

इसरो ने एक ट्वीट में कहा, ‘‘लैंडर के साथ संपर्क स्थापित करने के लिए हरसंभव कोशिश की जा रही है.’’ इस अभियान से जुड़े इसरो के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘‘ऑर्बिटर कैमरा की तस्वीरों से यह प्रर्दिशत होता है कि लैंडर विक्रम चंद्रमा की सतह पर साबुत अवस्था में है, वह टूट कर नहीं बिखरा है. यह झुकी हुई अवस्था में है. यह अपने चार पैरों पर खड़ा नहीं है, जैसा कि यह सामान्यत: रहता है.’’ अधिकारी ने कहा, ‘‘यह उलटा नहीं है. यह एक ओर झुका हुआ है.’’ हालांकि, इसरो ने लैंडर की हालत के बारे में आधिकारिक टिप्पणी नहीं की है.

लैंडर का जीवनकाल 14 दिन के बराबर

चंद्रयान-2 में आर्बिटर, लैंडर (विक्रम) और रोवर (प्रज्ञान) हैं. लैंडर का जीवनकाल एक चंद्र दिवस है जो पृथ्वी के 14 दिनों के बराबर है. इसरो अध्यक्ष के. सिवन ने शनिवार शाम कहा था कि अंतरिक्ष एजेंसी 14 दिनों तक लैंडर से संपर्क बहाल करने की कोशिश करेगी और तब से यह संकल्प दोहराया जा रहा है. इसरो के एक अधिकारी ने कहा कि विक्रम को चंद्रमा की सतह के जिस स्थान पर उतरना था, उससे करीब 500 मीटर दूर (चंद्रमा की) सतह से वह टकराया. लेकिन इस पर इसरो ने आधिकारिक रूप से कुछ भी नहीं कहा है.

सूत्रों ने बताया कि इसरो की एक टीम यह पता लगाने की कोशिश कर रही है कि क्या वे लैंडर के एंटेना इस तरह से फिर से व्यवस्थित कर सकते हैं कि संपर्क बहाल हो जाए.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. लैंडर विक्रम पर ISRO ने दी नई जानकारी, ‘सॉफ्ट लैंडिंग’ से पहले टूट गया था संपर्क

Go to Top