सर्वाधिक पढ़ी गईं

RBI Highlights: रिजर्व बैंक ने सस्ता किया कर्ज, मौद्रिक नीति समीक्षा की 10 प्रमुख बातें

जानिए RBI मौद्रिक नीति समीक्षा की 10 प्रमुख बातें.

October 4, 2019 2:29 PM
key highlights of RBI MPC review meeting, RBI Monetary Policy, 10 important facts about RBI MPC review meeting, repo rate, RRR, SLR, CRR, GDP growth outlookजानिए RBI मौद्रिक नीति समीक्षा की 10 प्रमुख बातें.

RBI monetary policy: रिजर्व बैंक (RBI) ने रेपो रेट में 0.25 फीसदी की कटौती की है. शुक्रवार को चालू वित्त वर्ष 2019-20 की चौथी द्विमासिक मौद्रिक नीति का एलान करते हुए ​RBI गवर्नर शक्तिकांत दास ने रेपो रेट 0.25 फीसदी घटाकर 5.15 फीसदी कर दिया. इसके साथ ही रिवर्स रेपो रेट घटकर 4.90 फीसदी हो गया. रिजर्व बैंक ने CRR 4 फीसदी और SLR 19 फीसदी पर बरकरार रखा है. RBI ने इस साल लगातार पांचवीं बार दरों में कटौती की है. इस दौरान दरें 1.35 फीसदी कम हो गई हैं. एमएसएफ और बैंक रेट एडजस्ट होकर 5.40 फीसदी हो गया है. माना जा रहा है कि इसके बाद बैंक भी होम लोन और आटो लोन पर ब्याज दरें घटा सकते हैं. जानते हैं मॉनेटरी पॉलिसी की 10 प्रमुख बातें…..

1. प्रमुख नीतिगत दर रेपो में 0.25 फीसदी की कटौती. नीतिगत दरों में वर्ष 2019 में यह लगातार पांचवी कटौती है.
2. रेपो रेट 5.15 फीसदी हो गया है, जबकि रिवर्स रेपो दर भी घटकर 4.90 फीसदी रह गया.
3. आरबीआई ने चालू वित्त वर्ष के लिए सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) वृद्धि दर का अनुमान 6.9 फीसदी से घटाकर 6.1 फीसदी किया.
4. आर्थिक वृद्धि की गति बढ़ाने के मद्देनजर मौद्रिक नीति में समायोजन बिठाने वाला नरम रुख बरकरार रखा है.
5. अर्थव्यवस्था को गति देने के लिए सरकार के प्रोत्साहन उपायों से निजी क्षेत्र में खपत और निजी निवेश बढ़ाने में मदद मिलेगी.
6. दूसरी तिमाही के लिए खुदरा मुद्रास्फीति का अनुमान संशोधित कर 3.4 फीसदी किया गया.
7. दूसरी छमाही का खुदरा मुद्रास्फीति अनुमान 3.5 से 3.7 फीसदी पर बरकरार है.
8. रिजर्व बैंक ने माना कि नीतिगत दरों में कटौती का लाभ आगे पहुंचाने का काम आधा-अधूरा ही हुआ है.
9. विदेशी मुद्रा भंडार 1 अक्टूबर तक 434.6 अरब डॉलर रहा, इसमें 31 मार्च 2019 के मुकाबले इसमें 21.7 अरब डॉलर की बढ़ोत्तरी रही है.
10. मौद्रिक नीति समिति की अगली बैठक तीन से पांच दिसंबर 2019 को होनी तय की गई है.

RBI की नई ब्याज दरें

रेपो रेट : 5.15%
रिवर्स रेपो रेट : 4.90%
CRR : 4%
SLR : 19%

बैंकों पर होगा कर्ज सस्ता करने का दबाव

रिजर्व बैंक की ओर से रेपो दर में इस कटौती के बाद बैंकों पर कर्ज और सस्ता करने का दबाव बढ़ गया है. इसके चलते आने वाले दिनों में होम लोन, आटो लोन और पर्सनल लोन पर ब्याज दर कम हो सकती है. रेपो दर वह दर होती है जिस पर केंद्रीय बैंक वाणिज्यिक बैंकों को अल्पकाल के लिये नकदी उपलब्ध कराता है. रेपो दर में इस कटौती के बाद रिजर्व बैंक की रिवर्स रेपो दर भी कम होकर 4.90 फीसदी, सीमांत स्थायी सुविधा (एमएसएफ) दर और बैंक दर घटकर 5.40 फीसदी रह गई है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. RBI Highlights: रिजर्व बैंक ने सस्ता किया कर्ज, मौद्रिक नीति समीक्षा की 10 प्रमुख बातें

Go to Top