सर्वाधिक पढ़ी गईं

कश्मीर अपडेट: धारा 370 हटी, जम्मू-कश्मीर और लद्दाख होंगे दो केंद्र शासित प्रदेश

Kashmir latest news update: जम्मू-कश्मीर के पूर्व CM उमर अब्दुल्ला, मेहबूबा मुफ्ती और राज्य के अन्य दूसरे नेताओं को घर में नजरबंद कर दिया गया है.

Updated: Aug 05, 2019 3:20 PM
Kashmir live, Kashmir latest news updates, Kashmir news updates, section 144, section 35A, section 370, PM modi, CCS, Cabinet meeting in Kashmirमोदी सरकार ने कश्मीर मसले पर अबतक का सबसे बड़ा फैसला किया है.

Kashmir latest news update: मोदी सरकार ने कश्मीर मसले पर अबतक का सबसे बड़ा फैसला किया है. गृह मंत्री अमित शाह ने राज्य सभा में धारा 370 हटाने का संकल्प पेश किया है. अनुच्छेद धारा के सभी खंड लागू नहीं होंगे. राष्ट्रपति से धारा 370 में बदलाव की सिफारिश की गई है. 370 में अब सिर्फ खंड 1 लागू रहेगा. यानी, जम्मू-कश्मीर में सिर्फ खंड 1 के साथ धारा 370 के तहत लागू रहेगा. राज्य सभा में अमित शाह ने कहा कि धारा 370 हटाने में एक सेकंड की भी देरी नहीं करनी चाहिए.

सरकार ने राज्यसभा में एक विधेयक पेश किया जिसमें जम्मू कश्मीर राज्य का विभाजन दो केंद्र शासित प्रदेशों के रूप में करने का प्रस्ताव किया गया है. गृह मंत्री अमित शाह ने राज्यसभा में एक संकल्प पेश किया जिसमें कहा गया है कि संविधान के अनुच्छेद 370 के सभी खंड जम्मू कश्मीर में लागू नहीं होंगे. शाह ने राज्यसभा में जम्मू एवं कश्मीर राज्य पुनर्गठन विधेयक 2019 पेश किया. गृह मंत्री अमित शाह ने लद्दाख के लिये केंद्र शासित प्रदेश के गठन की घोषणा की जहां चंडीगढ़ की तरह से विधानसभा नहीं होगी.

शाह ने राज्यसभा में घोषणा की कि कश्मीर और जम्मू डिवीजन विधान के साथ एक अलग केंद्र शासित प्रदेश होगा जहां दिल्ली और पुडुचेरी की तरह विधानसभा होगी. गृह मंत्री ने कहा, ‘‘राष्ट्रपति के अनुमोदन के बाद अनुच्छेद 370 के सभी खंड लागू नहीं होंगे.’’ राज्यसभा में इस दौरान कांग्रेस समेत सभी विपक्षी दलों ने विधेयक का विरोध करते हुए हंगामा किया और आसन के समक्ष धरने पर बैठ गए.

राज्य सभा में किसने क्या कहा?

गुलाम नबी आजाद, कांग्रेस: हम भारत के संविधान के साथ हैं. हम हिंदुस्तान के संविधान की रक्षा के लिए जान की बाजी लगा देंगे लेकिन आज बीजेपी संविधान की हत्या कर दी.

पीडीपी सांसदों का विरोध: पीडीपी के राज्य सभा सांसद नजीर अहमद लावे और एमएम फैयज ने संसद परिसर में विरोध किया उन्होंने संविधान की प्रति फाड़ने की कोशिश की. दोनों को सदन से निकाल जाने के लिए कहा गया. फैयज ने विरोध में अपना कूर्ता फाड़ दिया.

सतीश चंद्र मिश्रा, बसपा: हम पूरी तरह इसके समर्थन में है. हम चाहते हैं कि बिल पास किया जाए. हमारी सरकार धारा 370 बिल और अन्य बिल के खिलाफ कोई विरोध नहीं जताया है.

मुफ्ती ने कहा- भारतीय लोकतंत्र का काला दिन

धारा 370 के सरकार के कदम पर मेहबूबा मुफ्ती ने कहा, भारतीय लोकतंत्र के लिए आज काला दिन है. भारत सरकार का एकतरफा फैसले के तहत धारा 370 को खत्म करना गैरकानूनी और असंवैधानिक है. धारा 370 पर सरकार के फैसले के गंभीर परिणाम होंगे. वे लोगों को डराकर जम्मू-कश्मीर को चाहते हैं. भारत कश्मीर पर अपना वादा निभाने में विफल रहा.

उधर, कश्मीर में धारा 144 लागू कर दी गई है. जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला, मेहबूबा मुफ्ती और राज्य के अन्य दूसरे नेताओं को घर में नजर बंद कर दिया गया है. कश्मीर में मोबाइल और इंटरनेट सेवाएं ठप कर दी गई हैं. कश्मीर मसले के मद्देनजर राज्यों को एडवाइजरी जारी की गई है. बीजेपी सांसदों को व्हिप जारी कर दिया है. 5-7 अगस्त के बीच सभी सांसद सदन में मौजूद रहेंगे.

राज्यों के लिए अलर्ट जारी

केंद्र सरकार ने कश्मीर मसले को लेकर कई राज्यों के लिए अलर्ट जारी किया है. उत्तर प्रदेश को हाई अलर्ट पर रखा गया है. सरकार ने सुरक्षा के मुद्दे पर राज्यों के लिए अडवाइजरी जारी की है. कश्मीर से जुड़ी यह अडवाइजरी सभी राज्यों पर लागू होगी. कश्मीर मसले पर कांग्रेस ने राज्य सभा में स्थगन प्रस्ताव नोटिस दिया. कांग्रेस सांसद गुलाम नबी आजाद, अंबिका सोनी, आनंद शर्मा और भुबनेश्वर कालिता ने यह नोटिस दिया है. पीडीपी के राज्य सभा सांसद नाजीर अहम लावे ने कश्मीर मसले पर जीरो आवर नोटिस दिया है.

उमर ने ट्वीट कर दी हाउस अरेस्ट की जानकारी

जम्मू-कश्मीर के कई जिलों में सीआरपीसी की धारा144 के तहत निषेधाज्ञा लगाई गई है. इस बीच, जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला, मेहबूबा मुफ्ती और राज्य के अन्य दूसरे नेताओं को घर में नजर बंद कर दिया गया है. अब्दुल्ला ने ट्वीट कर बताया कि उन्हें रविवार मध्य रात्रि से हाउस अरेस्ट किया गया है. अन्य दूसरे प्रमुख नेताओं के खिलाफ भी यह कार्रवाई की जा रही है.

घाटी के कई जिलों में सोमवार को प्रतिबंध लगाते हुए सुरक्षा कड़ी कर दी गई. सुरक्षा कारणों से जम्मू-कश्मीर में स्कूल और कॉलेज में कक्षाओं को निलंबित कर दिया गया है और परीक्षाएं भी स्थगित कर दी गई हैं. अधिकारियों ने बताया कि राजौरी और किश्तवाड़ जिलों तथा रामबाण जिले के बनिहाल इलाके में रात्रि कर्फ्यू लगाया गया है. वहीं जम्मू और कश्मीर संभागों के कई जिलों में निषेधाज्ञा लागू की गई है.

मोबाइल इंटरनेट ठप, अधिकारियों को दिए गए सैटेलाइट फोन

अधिकारियों ने बताया कि कश्मीर घाटी में मोबाइल इंटरनेट सेवाएं निलंबित हैं. पुलिस अधिकारियों और जिला मजिस्ट्रेटों को ‘सैटेलाइट फोन’ दिए गए हैं. महत्वपूर्ण प्रतिष्ठानों और संवेदनशील क्षेत्रों में आतंकवादी खतरे और नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर पाकिस्तान के साथ बढ़ते तनाव के चलते सुरक्षा कड़ी कर दी गई है.

राज्य की ग्रीष्मकालीन राजधानी श्रीनगर में प्रवेश और निकास मार्गों सहित अन्य मुख्य मार्गों पर अवरोध लगाए गए हैं. दंगा नियंत्रण वाहनों को भी कुछ इलाकों में तैयार रखा गया है, जहां कानून व्यवस्था में गड़बड़ी की आशंका अधिक है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. कश्मीर अपडेट: धारा 370 हटी, जम्मू-कश्मीर और लद्दाख होंगे दो केंद्र शासित प्रदेश

Go to Top