सर्वाधिक पढ़ी गईं

जम्मू-कश्मीर के विभाजन का बिल राज्यसभा में पास, अमित शाह ने बताया क्यों जरूरी है धारा 370 का अंत

अमित शाह ने बताया कि क्यों कश्मीर में धारा 370 को हटाना जरूरी है.

Updated: Aug 05, 2019 7:47 PM
amit shah, article 370, jammu & kashmir, article 35A, अमित शाह, amit shah in upper house, amit shah in rajya sabhaअमित शाह ने बताया कि क्यों कश्मीर में धारा 370 को हटाना जरूरी है.

जम्मू-कश्मीर को दो केंद्र शासित प्रदेशों में बांटने वाला प्रस्ताव राज्यसभा से पास हो गया है. इसके चलते राज्य को दो केन्द्र शासित प्रदेशों जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में बांटा जाएगा. राज्यसभा में जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन विधेयक के पक्ष में 125 और विपक्ष में 61 वोट पड़े. इस विधेयक के तहत जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधान समाप्त करने, जम्मू कश्मीर को विधायिका वाला केंद्र शासित क्षेत्र और लद्दाख को बिना विधायिका वाला केंद्र शासित क्षेत्र बनाने का प्रस्ताव है.

इसके अलावा राज्यसभा में जम्मू कश्मीर में आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लोगों को शैक्षिक संस्थानों और सरकारी नौकरियों में दस फीसदी आरक्षण देने संबंधी विधेयक भी पास हो गया है. पुनर्गठन विधेयक को मंजूरी मिलने से पहले इनका विरोध करते हुए तृणमूल कांग्रेस और जदयू ने सदन से वॉकआउट किया. मत विभाजन में राकांपा ने हिस्सा नहीं लिया.

क्यों जरूरी है धारा 370 का अंत

विधेयक को मंजूरी मिलने से पहले गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि आने वाले दिनों में अगर हालात सुधरते हैं तो जम्मू-कश्मीर को दोबारा पूर्ण राज्य का दर्जा दिया जा सकता है. कश्मीर से धारा 370 हटाने पर मचे हो-हल्ले के बीच गृह मंत्री अमित शाह ने राज्य सभा में जवाब दिया है. अमित शाह ने कहा कि धारा 370 के रहते कश्मीर में न तो विकास हो सकता है और न ही आतंकवाद को खत्म नहीं किया जा सकता. उन्होंने कहा कि इसी वजह से आज तक राज्य का विकास नहीं हो सका, दूसरे वहां आतकंवाद पनपता चला गया. उन्होंने कहा कि कश्मीर को भी हम भारत के विकास में शामिल करना चाहते हैं, जिसके लिए 370 को हटाना जरूरी है. नेहरू जी ने भी इसे हटाने की बाद कही थी, लेकिन आज तक ऐसा नहीं हो पाया.

उकसाने वालों के अपने स्वार्थ

शाह ने कहा कि जो लोग धारा 370 हटाने के विरोध में वहां के लोगों को उकसाने और उनमें डर पैदा करने की कोशिश कर रहे हैं, वे सिर्फ राजनैतिक स्वार्थ के लिए ऐसा कर रहे हैं. उनके अपने बच्चे तो लंदन और अमेरिका में पढ़ रहे हैं, अपने लिए सब कर लिया लेकिन घाटी के युवाओं को पढ़ने और आगे बढ़ने नहीं देना चाहते. मोदी सरकार घाटी के युवाओं को गले लगाना चाहती है, इसलिए धारा 370 को हटाना जरूरी है.

पाकिस्तान ने इस धारा का फायदा उठाया

शाह ने कहा कि समय-समय पर 370 के भूत ने वहां अलगाववाद को मानने वाले युवाओं को गुमराह किया. पाकिस्तान ने भी इसका इस्तेमाल कर युवाओं को गुमराह किया और राज्य में आतंकवादा बढ़ाने का प्रयास किया. इसी वजह से लगातार कश्मीर की हालत बिगड़ी है.

धारा 370 से युवाओं का नुकसान

अमित शाह ने कहा कि कश्मीर में वे सारी चीजें मौजूद हैं, जिससे राज्य में पर्यटन का विकास हो सकता है. लेकिन धारा 370 की वजह से वहां पर्यटन खत्म होता चला गया. दुनिया मानती है कि कश्मीर धरती पर स्वर्ग है, लेकिन वहां पर पर्यटन नहीं बना. पर्यटन की संभावनाओं को सीमित करने का काम धारा 370 ने किया. वहां इंडस्ट्री नहीं लग पाई. बड़ी इंडस्ट्री नहीं लगेगी तो बेरोजगारी कैसे मिटेगी. उन्होंने कहा कि जो आपको 370 का सपना दिखाते हैं, युवाओं का भला इससे नहीं होने वाला है. राज्य में बिजली, रोजगार सबकी स्थिति खराब है, जिसकी वजह धारा 370 है. 370 की वजह से वहां लोकतंत्र नहीं पनपा, भ्रष्टाचार चरम सीमा पर पहुंच गया.

पाकिस्तान का बयान भी सुनाया

अमित शाह ने कहा कि पाकिस्तान ने कहा था कि 370 जब तक है, कश्मीर का युवा भारत के साथ नहीं जुड़ सकता और इनका इस्तेमाल करने के लिए आप संगठन खड़ा करें. आतंकवादी पूरे देश में आतंकवाद फैलाना चाहते हैं, लेकिन गुजरात, बिहार, ओडिशा जैसे राज्यों का युवा इसलिए गुमराह नहीं होते, क्योंकि वहां 370 नहीं है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. जम्मू-कश्मीर के विभाजन का बिल राज्यसभा में पास, अमित शाह ने बताया क्यों जरूरी है धारा 370 का अंत

Go to Top