मुख्य समाचार:
  1. कोर सेक्टर की ग्रोथ रेट में मामूली इजाफा, मार्च में रही 4.7%

कोर सेक्टर की ग्रोथ रेट में मामूली इजाफा, मार्च में रही 4.7%

पूरे 2018-19 वित्त वर्ष के लिए कोर सेक्टर की ग्रोथ रेट 4.3 फीसदी पर स्थिर रही.

April 30, 2019 6:00 PM
Infra sector growth improves to 4.7 pc in Marइन आठ सेक्टर में कोयला, कच्चा तेल, नेचुरल गैस, रिफाइनरी प्रॉडक्ट्स, फर्टिलाइजर्स, स्टील, सीमेंट और बिजली शामिल हैं. (PTI)

मार्च 2019 में देश के आठ प्रमुख सेक्टर्स (Infra Sector) की ग्रोथ मामूली रूप से बढ़कर 4.7 फीसदी हो गई. मार्च 2018 में यह दर 4.5 फीसदी थी. इन आठ सेक्टर में कोयला, कच्चा तेल, नेचुरल गैस, रिफाइनरी प्रॉडक्ट्स, फर्टिलाइजर्स, स्टील, सीमेंट और बिजली शामिल हैं.

मंगलवार को जारी आधिकारिक डाटा के मुताबिक, पूरे 2018-19 वित्त वर्ष के लिए कोर सेक्टर की ग्रोथ रेट 4.3 फीसदी पर स्थिर रही.

किस सेक्टर की क्या रही स्थिति

मार्च 2019 में कोयला जनरेशन ग्रोथ 9.1 फीसदी पर स्थिर रही. वहीं नेचुरल गैस, रिफाइनरी प्रॉडक्ट्स, फर्टिलाइजर्स, स्टील और सीमेंट सेक्टर्स की ग्रोथ रेट में इजाफा दर्ज किया गया. हालांकि कच्चे तेल का उत्पादन मार्च में 6.2 फीसदी कम रहा. बिजली का उत्पादन 1.4 फीसदी घटा. फरवरी में कच्चे तेल और रिफाइनरी प्रॉडक्ट्स के उत्पादन में आई गिरावट के चलते 8 प्रमुख सेक्टर्स की ग्रोथ रेट कम होकर 2.1 फीसदी पर आ गई थी.

IIP होगा प्रभावित

कारे सेक्टर की ग्रोथ IIP को प्रभावित करेगी. इसकी वजह है कि कुल फैक्ट्री आउटपुट में इन सेक्टर्स का योगदान लगभग 41 फीसदी है.

Go to Top