Advertisement

Inflation And IIP Data: खुदरा महंगाई दर लगातार दूसरे महीने 6% से ऊपर, बेस इफेक्ट के कारण मई में सुधरा औद्योगिक उत्पादन

जून 2021 में Retail Inflation की दर 6.26% रही, जो मई 2021 में 6.30% थी, औद्योगिक उत्पादन मई 2020 में 33.4% गिर गया था, उसके मुकाबले मई 2021 में इसमें 29.3% सुधार देखा गया, यानी यह अब भी मई 2019 से करीब 4% कम ही है.

जून 2021 में Retail Inflation की दर 6.26% रही, जो मई 2021 में 6.30% थी, मई 2020 में 33.4% की गिरावट के मुकाबले मई 2021 में औद्योगिक उत्पादन 29.3% सुधरा

Inflation And IIP Data: खुदरा महंगाई जून में 6.26 फीसदी रही है. पिछले महीने यह आंकड़ा 6.3 फीसदी पर था. सोमवार को जारी आधिकारिक डेटा से यह जानकारी मिली है. कंज्यूमर प्राइस इंडैक्स (CPI) पर आधारित महंगाई लगातार दूसरे महीने रिजर्व बैंक के स्तर से ऊपर रही है.

आरबीआई को सरकार ने खुदरा महंगाई को 4 फीसदी के साथ 2 फीसदी के मार्जिन पर रखने का स्तर तय किया है. राष्ट्रीय सांख्यिकी ब्यूरो (NSO) द्वारा जारी डेटा के मुताबिक, खाद्य चीजों में महंगाई जून में 5.15 फीसदी पर रही. यह मई के महीने में 5.01 फीसदी थी.

मई में IIP के आंकड़े

वहीं, देश का ओद्यौगिक उत्पादन (IIP) मई में 29.3 फीसदी बढ़ा है. सोमवार को जारी इसके आधिकारिक डेटा से यह जानकारी मिली है. इस ऊंची बढ़ोतरी की मुख्य वजह पिछले साल का कम बेस है. मई 2020 में आईआईपी में 33.4 फीसदी की गिरावट देखी गई थी. मई 2021 के आंशिक आंकड़ों की तुलना अगर मई 2019 से करेंगे तो औद्योगिक उत्पादन में कोई बदलाव नजर नहीं आएगा. राष्ट्रीय सांख्यिकी ब्यूरो (NSO) द्वारा जारी इंडैक्स ऑफ इंडस्ट्रीयल प्रोडक्शन (IIP) डेटा के मुताबिक, मई 2021 में मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर के आउटपुट में 34.5 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है.

मई में खनन का आउटपुट 23.3 फीसदी और ऊर्जा उत्पादन में 7.5 फीसदी की बढ़ोतरी हुई. मई 2020 में आईआईपी में 33.4 फीसदी की गिरावट आई थी. औद्योगिक उत्पादन पिछले साल मार्च से कोरोना महामारी की वजह से बुरी तरह प्रभावित हुआ है, जब इसमें 18.7 फीसदी की गिरावट देखी गई थी. अप्रैल 2020 में कोरोना वायरस संक्रमण को रोकने के लिए लगाए गए लॉकडाउन के बाद आर्थिक गतिविधियों में कमी की वजह से इसमें 57.3 फीसदी की गिरावट आई थी. IIP में पिछले साल फरवरी में 5.2 फीसदी की ग्रोथ देखी गई थी.

Covid-19 Vaccination: कोरोना से लड़ाई में चिंता बढ़ाने वाली खबर, सरकारी आंकड़ों के मुताबिक 21 जून के बाद से धीमी पड़ी टीकाकरण की रफ्तार

आखिर में, कुल मिलाकर देखें तो देश के तमाम आर्थिक आंकड़े अभी बुरी स्थिति में हैं. इसके साथ महंगाई भी बढ़ रही है. इससे आम आदमी को दोहरी मार झेलनी पड़ रही है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

READ IN APP