सर्वाधिक पढ़ी गईं

जल्द शुरू होगी चिप आधारित ई-पासपोर्ट सेवा, जानिए क्या होगी इसकी खासियत

सबसे पहले इसे डिप्लोमैट्स और ऑफिसियल्स को इशू किया जाएगा. इसके बाद सेकंड राउंड में चिप आधारित पासपोर्ट आम लोगों को भी इशू किया जाएगा.

January 22, 2019 10:12 PM
e-passport, chip in passport, iit kanpur, nic, National Informatics Centre, ISP, chip based passport, modi announced e passport, prawasi bhartiya, modi in prawasi bhartiya diwas sammelan, Pravasi Bharatiya Divas conclave , pm modi in varanasi, 15th Pravasi Bharatiya Divas Conclave,इसमें एडवांस्ड सिक्योरिटी फीचर्स और प्रिंटिंग व पेपर क्वालिटी बेहतर होगी.

जल्द ही देश में चिप आधारित ई-पासपोर्ट जारी किए जाए सकते हैं. यह घोषणा प्रधानमंत्री मोदी ने 15वें प्रवासी भारतीय दिवस के उद्घाटन समारोह में की . यह समारोह पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में चल रहा है. ई-पासपोर्ट को इंडिया सिक्योरिटी प्रेस (ISP), नासिक तैयार करेगी. ISP को केंद्र सरकार ने इसके निर्माण के लिए मंजूरी दे दी है. आईएसपी, आईआईटी कानपुर और एनआईसी इस प्रोजेक्ट पर मिलकर काम कर रहे हैं. चिप आधारित इस पासपोर्ट के लिए IIT-Kanpur और National Informatics Centre (NIC) ने मिलकर सॉफ्टवेयर तैयार किया है.

शीत सत्र के दौरान संसद में हो चुकी है चर्चा
विदेशी मामलों के राज्य मंत्री वीके सिंह ने शीत सत्र के दौरान संसद को ई-पासपोर्ट के बारे में जानकारी दी थी. सिंह ने कहा था कि Ministry of External Affairs की योजना ई-पासपोर्ट जारी करने की है जिसमें एडवांस्ड सिक्योरिटी फीचर्स और प्रिंटिंग व पेपर क्वालिटी बेहतर होगी.

ई-पासपोर्ट क्या है?
एडवांस्ड सिक्योरिटी फीचर्स से लैस ई-पासपोर्ट पर एप्लिकेंट्स के डिजिटल साइन होंगे और यह चिप में स्टोर रहेगा. अगर कोई शख्स इस चिप को किसी भी तरीके से टैंपर करने की कोशिश करता है तो उसका पासपोर्ट किसी काम का नहीं रह जाएगा. इसके अलावा चिप में स्टोर की हुई जानकारी को बिना फिजिकल पासपोर्ट के नहीं पढ़ा जा सकेगा.

ई-पासपोर्ट की खासियतें
1. ई-पासपोर्ट के आगे और पीछे के कवर मोटे होंगे.
2. पीछे के कवर पर छोटा सा सिलिकॉन चिप लगा होगा. यह पोस्टेज स्टांप से भी छोटा होगा.
3. चिप को रीड करने में महज कुछ सेकंड ही लगेंगे. इससे इमिग्रेशन काउंटर्स पर समय की बचत होगी.
4. इसे IIT-Kanpur और NIC ने डेवलप किया है. कोई भी कॉमर्सियल एजेंसी इसमें इन्वाल्व नहीं है.
5. चिप की मेमोरी 64 किलोबाइट होगी. इसमें 30 विजिट्स और इंटरनेशनल यात्राओं तक की जानकारी स्टोर हो सकेगी.
6. हालांकि अभी यह स्पष्ट नहीं है लेकिन चिप में फोटोग्राफ और फिंगरप्रिंट्स भी स्टोर किया जा सकता है.
7. इसका परीक्षण पहली बार अमेरिकी सरकारी लेबोरेटरी में किया गया.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. जल्द शुरू होगी चिप आधारित ई-पासपोर्ट सेवा, जानिए क्या होगी इसकी खासियत

Go to Top