मुख्य समाचार:

COVID-19: 30 जून तक सभी पैसेंजर ट्रेनें रद्द, रेलवे देगी रिफंड; श्रमिक और स्पेशल ट्रेनों पर असर नहीं

रेलवे ने 30 जून तक के लिए सभी पैसेंजर ट्रेनों के लिए बुकिंग रद्द कर दी है. बुकिंग के पैसे सभी यात्रियों के खाते में भेजे जाएंगे.

May 14, 2020 11:44 AM
Indian Railways today suspended all the passengers trains, Shramik Special Trains, special trains, Railways cancelled all tickets booked to travel on or before June 30, railway ministry said, ticket charge will be fully refunded, COVID-19रेलवे ने 30 जून तक के लिए सभी पैसेंजर ट्रेनों के लिए बुकिंग रद्द कर दी है. बुकिंग के पैसे सभी यात्रियों के खाते में भेजे जाएंगे.

रेलवे ने 30 जून तक के लिए सभी पैसेंजर ट्रेनों के लिए बुकिंग रद्द कर दी है. बुकिंग के पैसे सभी यात्रियों के खाते में भेजे जाएंगे. हालांकि इससे श्रमिक और उन 15 सपेशन ट्रेनों की आवा जाही पर असर नहीं होगा, जिन्हें लॉकडाउन के बीच शुरू किया गया है. इनके अलावा 30 जून और उससे पहले की यात्रा के लिए पहले से बुक किए गए सभी टिकट रद्द कर दिए गए हैं. बता दें कि देश में लागू लॉकडाउन की वजह से करीब 2 महीनों से ट्रेन सेवा पूरी तरह से ठप हैं. ऐसे में जिन लोगों ने पहले ही टिकट बुक करवा लिए थे, उनके टिकटों को रद्द किया गया है.

12 मई से चल रही हैं स्पेशल ट्रेनें

रेलवे ने 12 मई से 15 स्पेशल ट्रेनें चलाने का फैसला किया है, जो कि राजधानी दिल्ली से देश के अन्य 15 शहरों को जोड़ेंगी. इन ट्रेनों में बीच बीच में कुछ स्टॉपेज भी दिए गए हैं. हालांकि इन स्पेशल ट्रेनों में राजधानी ट्रेन के बराबर यानी प्रीमियम फेयर लिया जा रहा है. ये ट्रेनें जोड़ी के हिसाब से चलेगी, यानी दिल्ली से उन सभी 15 स्टेशनों पर जाने के अलावा आने का भी इंतजाम होगा. पिछले तीन दिनों में इन ट्रेनों में हजारों लोग सफर कर चुके हैं.

यात्रा के लिए गाइलाइंस

स्पेशल ट्रेन के तौर पर जो गाड़ियां चलाई जा रही हैं वो सभी राजधानी हैं और उसमें सिर्फ एसी कोच ही हैं. सरकार ने इन ट्रेनों में सफर के लिए कुछ गाइलाइंस भी जारी की हैं. इनमें सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा खयाल रखा जा रहा है और अभी जितनी सीटें उतनी ही बुकिंग हो रही हैं. सफर के दौरान मास्क पहनना अनिवार्य है और सटेशन पर पहुंचने के बाद स्क्रीनिंग भी करवानी पड़ रही है. सफर खत्म होने के बाद संबंधित राज्य के मेडिकल गाइडलाइंस का पालन करना भी जरूरी है.

श्रमिकों के लिए अलग से ट्रेनें

दूसरी ओर प्रवासी मजदूरों के लिए विशेष तौर पर श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चलाई जा रही हैं. रोजाना करीब ऐसी 100 ट्रेनें चलाई जा रही हैं, जिनके जरिए अलग अलग राज्यों ने श्रमिकों को उनके घर पहुंचाया जा रहा है. इन ट्रेनों में अबतक 5 लाख से अधिक मजदूरों को वापस पहुंचाया जा चुका है और लगातार ये सर्विस जारी है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. COVID-19: 30 जून तक सभी पैसेंजर ट्रेनें रद्द, रेलवे देगी रिफंड; श्रमिक और स्पेशल ट्रेनों पर असर नहीं

Go to Top