मुख्य समाचार:

रेलवे का बड़ा फैसला, चीन की कंपनी को दिया 471 करोड़ का ठेका रद्द; बताई ये वजह

पूर्वी लद्दाख के गलवान में भारत और चीन के सैनिकों के बीच हुई हिंसक झड़प के बाद भारतीय रेलवे की ओर से एक बड़ा फैसला सामने आया है.

Updated: Jun 18, 2020 6:20 PM
India-China border standoff impact, Indian Railways to terminate the contract with chinese company in Eastern Dedicated Freight Corridor projectकंपनी को 2019 तक काम पूरा कर लेना था. (Image: PTI)

पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में भारत और चीन के सैनिकों के बीच हुई हिंसक झड़प में 20 भारतीय सैनिकों के शहीद होने के बाद भारतीय रेलवे की ओर से एक बड़ा फैसला सामने आया है. रेलवे ने चीन की कंपनी बीजिंग नेशनल रेलवे रिसर्च एंड डिजायन इंस्टीट्यूट ऑफ सिग्नल एंड कम्‍युनिकेशंस ग्रुप कंपनी लिमिटेड को दिया गया एक ठेका रद्द करने का निर्णय लिया है. यह ठेका 471 करोड़ रुपये का है और कानपुर और मुगलसराय के बीच 417 किलोमीटर लंबे खंड पर सिग्नल व दूरसंचार के काम के लिए दिया गया था.

रेलवे का कहना है कि इस खंड पर बीजिंग नेशनल रेलवे रिसर्च एंड डिजायन इंस्टीट्यूट द्वारा सिग्नल व दूरसंचार के काम में धीमी प्रगति के कारण ठेकरा रद्द किया जा रहा है. कंपनी को 2019 तक काम पूरा कर लेना था, लेकिन अभी तक वह सिर्फ 20 फीसदी ही काम कर पाई है. इसलिए डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (DFCCIL) की ओर से ठेका रद्द किया जा रहा है.

2016 में मिला था ठेका

मालगाड़ियों की आवाजाही के लिए समर्पित कानपुर और मुगलसराय के बीच 417 किलोमीटर लंबे खंड ‘ईस्टर्न डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर’ के सिग्नल व दूरसंचार का काम रेलवे ने 2016 में चीन की कंपनी को दिया था.

चीनी प्रोडक्ट का विज्ञापन न करें फिल्म-खेल जगत की हस्तियां, ‘बॉयकाट चाइना’ अभियान का बनें हिस्सा: CAIT

दूरसंचार विभाग भी आया आगे

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार, भारत सरकार के दूरसंचार विभाग ने भी यह फैसला किया है कि BSNL के 4G अपग्रेडेशन में चीन के बने इक्विपमेंट का इस्तेमाल नहीं किया जाएगा. विभाग ने बीएसएनएल से कहा है कि सुरक्षा कारणों के चलते चीनी सामान का इस्तेमाल नहीं किया जाए. विभाग ने इस संबंध में टेंडर पर फिर से काम करने का फैसला किया है. विभाग निजी मोबाइल सेवा ऑपरेटरों से चीनी कंपनियों द्वारा बनाए गए उपकरणों पर निर्भरता कम करने के लिए कहने पर भी विचार कर रहा है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. रेलवे का बड़ा फैसला, चीन की कंपनी को दिया 471 करोड़ का ठेका रद्द; बताई ये वजह

Go to Top