मुख्य समाचार:

भारतीय रेलवे लाएगा नया टाइम टेबल, 500 ट्रेनें हो सकती हैं खत्म; पढ़ें डिटेल

भारतीय रेलवे अपने टाइम टेबल को पूरी तरह बदलने जा रहा है.

September 4, 2020 7:12 PM
indian railways to change its time table five hundred trains can endभारतीय रेलवे अपने टाइम टेबल को पूरी तरह बदलने जा रहा है.

पीयूष गोयल की अगुवाई वाला भारतीय रेलवे अपने टाइम टेबल को पूरी तरह बदलने जा रहा है. इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट के मुताबिक, नए टाइमटेबल को लाने के साथ भारतीय रेलवे लगभग 500 रेगुलर ट्रेनों को बंद करने और 10 हजार स्टॉप को खत्म करने जा रहा है. नए टाइमटेबल को उस समय अपनाया जाएगा जब कोरोना महामारी खत्म हो जाएगी और पैसेंजर ट्रेन सर्विस दोबारा सामान्य हो जाएंगी. रिपोर्ट में कहा गया है कि जीरो बेस्ड टाइमटेबल के साथ रेलवे अपनी सालाना कमाई को 1,500 करोड़ से ज्यादा बढ़ाना चाहता है.

पैसेंजर ट्रेन सर्विस की औसत स्पीड बढ़ेगी

रेलवे मंत्रालय के आंतरिक आकलन के मुताबिक, यह अनुमानित अतिरिक्त कमाई किराये या दूसरे चार्ज को बढ़ाए बिना आएगी. यह टाइम टाइबल का बाय-प्रोडक्ट होगी और ऑपरेशनल पॉलिसी में बदलाव का नतीजा होगी.

ये टाइमटेबल के लागू होने के बाद 15 फीसदी ज्यादा माल भाड़ा ट्रेनों को एक्सलूसिव कॉरिडोर में ज्यादा तेज स्पीड पर चलाया जा सकेगा. इसके साथ ऐसा भी अनुमान है कि भारतीय रेलवे के पूरे नेटवर्क में पैसेंजर ट्रेन सर्विस की औसत स्पीड लगभग 10 फीसदी बढ़ेगी. भारतीय रेलवे का आईआईटी बॉम्बे के विशेषज्ञों के साथ मिलकर विकसित किया गया नया जीरो बेस्ड टाइमटेबल की मदद से ऑपरेशन को शुरू से सोचना मकसद है.

छोटे किसानों और स्टार्टअप को बड़ी राहत! RBI ने आसान किए नियम, आसानी से मिलेगी पैसा

टाइम टेबल की मुख्य बातें

रिपोर्ट के मुताबिक, जीरो बेस्ड टाइम टेबल इस बात के साथ काम करता है कि हर ट्रेन की मौजूदगी के साथ स्टेशन हॉल्ट को परिवहन उपलब्ध कराने के साथ उपलब्ध संसाधन के बेहतर इस्तेमाल के आधार पर करना होगा. रिपोर्ट में दिए गए सूत्रों के मुताबिक, टाइमटेबल को लेकर कुछ बातें ये हैं-

  • एक साल में औसतन 50 फीसदी से कम मौजूदगी के साथ ट्रेनें नहीं चलेंगी. अगर जरूरत हुई, तो ऐसी ट्रेन सेवाओं को दूसरी ट्रेनों के साथ मिलाया जाएगा जो ज्यादा लोकप्रिय होंगी.
  • लंबी दूरी की ट्रेनें जो एक दूसरे से 200 किलोमीटर की दूरी पर हैं, उनके लिए कोई स्टॉप नहीं होगा, जब तक रास्ते में कोई बड़ा शहर नहीं हो. लगभग 10 हजार स्टॉप को खत्म करने के लिए चुना गया है. हाालंकि, अधिकारियों के मुताबिक इन्हें केवल कुछ ट्रेनों में हटाया जाएगा और इन स्टेशन के लिए कोई दूसरी ट्रेन होगी.
  • सभी पैसेंजर ट्रेन सेवाओं को हब एंड स्पॉक मॉडल पर संचालित किया जाएगा. 10 लाख या उससे ज्यादा की आबादी के साथ वाले शहर जहां लंबी दूसरी की ट्रेनें खत्म होती हैं, वे हब होंगे. टाइमटेबल के मुताबिक, छोटी जगहों को कनेक्टिंग ट्रेनों के जरिए हब से जोड़ा जाएगा.
  • नए टाइमटेबल के आने से सबअर्बन नेटवर्क जैसे मुंबई लोकल ट्रेनों पर असर नहीं होगा.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. भारतीय रेलवे लाएगा नया टाइम टेबल, 500 ट्रेनें हो सकती हैं खत्म; पढ़ें डिटेल

Go to Top