मुख्य समाचार:

Indian Railways: रेलवे इन 12 कैटेगरी में यात्रियों को देता है 100% तक रियायती टिकट, चेक करें पूरी लिस्ट

रेलवे अपने कर्मचारियों के अलावा वरिष्ठ नागरिकों से लेकर छात्रों और मरीजों तक को ट्रेन टिकट पर कंसेशन मुहैया कराती है.

December 11, 2019 7:49 AM
Indian Railways gives upto 100 percent concession on train tickets to different categories of persons, here is full list of these categories alongwith element of concessionImage: PTI

पिछले 3 वित्त वर्षों में रेलवे (Indian Railways) ने ट्रेन टिकट पर यात्रियों को 7418.44 करोड़ रुपये की रियायत दी है. यह जानकारी नियंत्रक एवं महालेखापरीक्षक (CAG) की रिपोर्ट में सामने आई है. यात्री टिकट से रेलवे की जो कमाई होती है, उसका 8.42 फीसदी के करीब रेलवे रियायत देकर गंवा देती है. दरअसल रेलवे अपने कर्मचारियों के अलावा वरिष्ठ नागरिकों से लेकर छात्रों और मरीजों तक को ट्रेन टिकट पर कंसेशन मुहैया कराती है.

छूट 12 कैटेगरी के तहत आने वाले लोगों को मिलती है. इसके चलते टिकट पर 100 फीसदी तक छूट दिए जाने यानी मुफ्त में सफर का भी प्रावधान है. आइए जानते हैं कौन सी हैं वे 12 कैटेगरी जिनके तहत रेलवे हर साल अरबों रुपये की रियायत देती है…

1. दिव्यांग व्यक्ति

– ऑर्थोपेडिकली हैंडीकैप्ड/पैराप्लेजिक (एक तरह का पक्षाघात) व्यक्ति, मानसिक रूप से मंद व्यक्ति, जो सहायक के बिना अकेले यात्रा न कर सकें को सहायक के साथ; दृष्टिविहीन व्यक्तियों और गूंगे व बहरे व्यक्तियों को अकेले या सहायक के साथ किसी भी उद्देश्य से यात्रा करने के लिए टिकट पर सेकंड क्लास, फर्स्ट क्लास, स्लीपर क्लास, 3AC, AC चेयर कार में सफर पर 75 फीसदी की छूट मिलती है.

1AC और 2AC से सफर पर छूट 50 फीसदी, राजधानी/शताब्दी ट्रेनों के 3AC व AC चेयर कार में सफर पर 25 फीसदी, MST व QST पर 50 फीसदी की छूट मिलती है. यही छूट सहायक की टिकट पर भी उपल्ब्ध होती है.

2. बीमार व्यक्ति

कैंसर के मरीज

कैंसर से पीड़ित व्यक्ति को इलाज या वक्त-वक्त पर होने वाले चेकअप के लिए अकेले या सहायक के साथ आने-जाने के लिए ट्रेन टिकट पर ट्रेन के सेकंड, फर्स्‍ट क्‍लास और एसी चेयर कार में सफर पर 75 फीसदी, स्‍लीपर व 3AC में सफर करने पर 100 फीसदी और 1AC व 2AC में सफर करने पर 50 फीसदी की छूट मिलती है. सहायक की टिकट पर स्लीपर और 3AC में 75 फीसदी छूट का प्रावधान है. इन दोनों के अलावा बाकी किसी भी क्लास में सहायक को मरीज के बराबर ही छूट मिलती है.

थैलेसीमिया, दिल और किडनी के मरीज

थैलेसीमिया एक आनुवांशिक बीमारी है, जिससे शरीर में हीमोग्‍लोबिन के बनने में गड़बड़ी पैदा हो जाती है. इसके चलते मरीज को बार-बार खून चढ़ाना पड़ता है. इसके मरीज और उसके एक सहायक को इलाज या चेकअप के लिए आने-जाने पर; दिल की मरीजों को हार्ट सर्जरी के लिए और किडनी पेशेंट्स को किडनी ट्रांसप्‍लांट ऑपरेशन या डायलिसिस के लिए अकेले या सहायक के साथ आने—जाने पर ट्रेन टिकट पर मिलने वाली रियायत इस तरह है…

  • सेकंड क्‍लास, स्‍लीपर, फर्स्‍ट क्‍लास, 3AC, AC चेयर कार में सफर पर 75 फीसदी
  • 1AC और 2AC में 50 फीसदी

यही छूट सहायक की टिकट पर भी लागू है.

हीमोफीलिया पेशेंट्स

हीमोफीलिया की बीमारी में शरीर में खून का थक्का बनना बंद हो जाता है. इससे शरीर का कोई हिस्सा कट जाने पर खून ज्‍यादा समय तक बहता रहता है, यहां तक कि मरीज की जान भी जा सकती है. हीमोफीलिया के मरीजों को इलाज या चेकअप के लिए सेकंड, स्‍लीपर, फर्स्‍ट क्‍लास, 3AC, AC चेयर कार में सफर करने पर ट्रेन टिकट पर 75 फीसदी की छूट मिलती है. एक सहायक की टिकट पर भी यह छूट लागू है.

टीबी और नॉन इन्‍फेक्‍शन वाले कुष्‍ठ रोग के मरीज

इन मरीजों को ट्रेन के सेकंड, स्‍लीपर और फर्स्‍ट क्‍लास में अकेले या एक सहायक के साथ सफर करने पर टिकट पर 75 फीसदी छूट उपलब्ध है.

एड्स के मरीज

एड्स के मरीजों को नॉमिनेटेड आर्ट सेंटर्स में इलाज, चेकअप के लिए आने-जाने के लिए ट्रेन टिकट पर 50 फीसदी छूट मिलती है, जो कि सेकंड क्‍लास से सफर के लिए है.

ऑस्‍टोमी के मरीज

किसी भी उद्देश्‍य से ऑस्‍टोमी के मरीजों को सफर के लिए ट्रेन टिकट पर 50 फीसदी छूट मिलती है. यह उनके मासिक और तिमाही पास पर होती है. इसके अलावा उनके साथ एक सहायक के लिए भी यह छूट लागू रहती है.

3. सीनियर सिटीजन

58 साल या इससे ज्यादा उम्र की महिला और 60 साल या इससे अधिक उम्र के पुरुष को ट्रेन में किसी भी उद्देश्य से सफर करने पर टिकट में छूट मिलती. महिला यात्री के लिए यह 50 फीसदी और पुरुष यात्री के लिए 40 फीसदी है. ये छूट ट्रेन के सभी क्लास (एसी, स्लीपर) में सफर करने पर रहती है. इसके अलावा राजधानी, शताब्दी और दुरंतो जैसी प्रीमियम ट्रेनों में भी लागू है.

PM-किसान: अब बिना आधार बैंक खाते में नहीं आएंगे 6000 रु सालाना, दिसंबर से हुआ अनिवार्य

4. छात्र

घर और स्कूल आना-जाना

लड़कियों को ग्रेजुएशन तक MST से ट्रेन के सेकंड क्‍लास में फ्री में सफर करने की सुविधा है. लड़के 12वीं क्‍लास तक MST से सेकंड क्‍लास में फ्री में सफर कर सकते हैं. इसके तहत मदरसे के बच्‍चे भी शामिल हैं.

होमटाउन या एजुकेशनल टूर पर जाना

अपने गृह नगर यानी होमटाउन और शैक्षणिक टूर पर जाने वाले छात्रों के लिए ट्रेन टिकट पर छूट इस तरह है..

  • जनरल कैटेगरी छात्रों के लिए सेकंड और स्‍लीपर क्‍लास से सफर में 50 फीसदी. MST/QST रखने वालों को भी 50 फीसदी
  • SC/ST छात्रों को सेकंड व स्‍लीपर क्‍लास ट्रेन टिकट या MST/QST से सफर पर 75 फीसदी

ग्रामीण इलाकों के बच्‍चों का सालाना टूर

गांवों के सरकारी स्‍कूल में पढ़ने वाले बच्‍चों के लिए साल में एक बार स्‍टडी टूर के लिए सेकंड क्‍लास की रेल टिकट में 75 फीसदी छूट है.

एंट्रेंस और सरकारी नौकरी के लिए लिखित परीक्षा

– ग्रामीण इलाकों के सरकारी स्‍कूल में पढ़ने वाली लड़कियों को मेडिकल, इंजीनियरिंग आदि के एंट्रेंस एग्‍जाम के लिए ट्रेन के सेकंड क्‍लास से सफर में टिकट पर 75 फीसदी छूट मिलती है.
– UPSC और सेंट्रल स्‍टाफ सिलेक्‍शन कमीशंस द्वारा आयोजित मुख्‍य लिखित परीक्षा में भाग लेने वाले छात्रों को सेकंड क्‍लास से सफर में रेल किराए में 50 फीसदी की छूट रहती है.

विदेशी छात्र

भारत में पढ़ रहे विदेशी छात्रों को भारत सरकार द्वारा आयोजित कैंप/सेमिनार अटेंड करने के लिए ट्रेन के सेकंड और स्‍लीपर क्‍लास टिकट में 50 फीसदी रियायत है. यह छूट छुट्टियों में ऐतिहासिक और अन्‍य महत्‍वपूर्ण जगहों पर जाने के लिए भी मिलती है.

रिसर्च स्‍टूडेंट्स, वर्क कैंप में जाने वाले छात्र

– 35 साल तक के रिसर्च स्‍कॉलर्स को रिसर्च से जुड़े कामों के लिए सेकंड और स्‍लीपर क्‍लास से रेल सफर पर टिकट पर 50 फीसदी की है.
– वर्क कैंप में भाग लेने जा रहे छात्रों या नॉन-स्‍टूडेंट्स के लिए सेकंड और स्‍लीपर क्‍लास रेल टिकट पर 25 फीसदी छूट है.

मरीन इंजीनियर्स अप्रेंटिस

– मर्केंटाइल मरीन की नेविगेशनल या इंजीनियरिंग ट्रेनिंग करने वाले कैडेट्स और मरीन इंजीनियर अप्रेंटिस को सेकंड क्‍लास और स्‍लीपर क्‍लास टिकट पर 50 फीसदी की रियायत है. यह छूट उन्‍हें घर से ट्रेनिंग शिप पर आने-जाने के उद्देश्‍य से सफर के लिए है.

5. युवा

– नेशनल यूथ प्रोजेक्ट के नेशनल इंटीग्रेशन कैंपों में शामिल होने जा रहे युवाओं को सेकेंड या स्लीपर क्लास में सफर के लिए टिकट पर 50 फीसदी की छूट है. वहीं मानव उत्थान सेवा समिति के नेशनल इंटीग्रेशन कैंपों में जा रहे युवाओं को सेकेंड या स्लीपर क्लास में सफर के लिए 40 फीसदी का डिस्काउंट मिलता है.

– बेरोजगार युवाओं को स्टेच्युटरी बॉडीज, म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन, सरकारी अंडर टेकिंग, यूनिवर्सिटी या किसी पब्लिक सेक्टर बॉडी में नौकरी के लिए इंटरव्यू के लिए सेकेंड या स्लीपर क्लास में सफर करने पर रेल टिकट में 50 फीसदी की छूट है.

– केंद्र सरकार या राज्य सरकार में नौकरी के लिए इंटरव्यू देने जाने के लिए बेरोजगार युवाओं को सेकेंड क्लास से सफर में 100 फीसदी और स्लीपर क्लास में 50 फीसदी का डिस्काउंट मिलता है.

6. किसान

– किसान व इंडस्ट्रियल लेबर्स को कृषि/इंडस्ट्रियल प्रदर्शनियों में जाने के लिए सेकंड और स्लीपर क्लास टिकट पर 25 फीसदी छूट है.
– सरकार द्वारा स्पॉन्सर्ड स्पेशल ट्रेनों से सफर करने वाले किसानों को सेकंड व स्लीपर क्लास टिकट पर 33 फीसदी छूट मिलती है.
– किसान व दुग्ध उत्पादकों को लर्निंग/ट्रेनिंग के लिए राष्ट्र स्तरीय संस्थानो में जाने के लिए; भारत कृषक समाज और सर्वोदय समाज, वर्धा की सालाना कॉन्फ्रेंस में भाग लेने वाले प्रतिनिधियों को सेकंड व स्लीपर क्लास ट्रेन टिकट पर 50 फीसदी छूट है.

7. अवार्डीज

– असाधारण सेवा के लिए राष्ट्रपति का पुलिस मेडल प्राप्त या सराहनीय सेवा के लिए इंडियन पुलिस अवॉर्ड प्राप्त 60 साल या इससे ज्यादा के पुरुष को किसी भी उद्देश्य से सफर के लिए ट्रेन टिकट पर 50 फीसदी छूट है. महिला के मामले में यह 60 फीसदी है. छूट सभी क्लास और राजधानी/शताब्दी/जनशताब्दी सभी में लागू है.

– प्रॉडक्टिविटी व इनोवेशन के लिए प्रधानमंत्री श्रम अवॉर्ड प्राप्त इंडस्ट्रियल वर्कर किसी भी उद्देश्य से ट्रेन के सेकंड व स्लीपर क्लास में सफर पर टिकट पर 75 फीसदी छूट पाने के हकदार हैं.

– शिक्षा के क्षेत्र में अनुकरणीय सेवा के लिए भारत के राष्ट्रपति से नेशनल अवॉर्ड पाए शिक्षक; नेशनल ब्रेवरी अवॉर्ड पाए बच्चे और उनके माता-पिता किसी भी उद्देश्य से सेकंड और स्लीपर क्लास से सफर के लिए ट्रेन टिकट पर 50 फीसदी छूट पाने के हकदार हैं.

SCSS, PMVVY से लेकर LIC जीवन शांति: घर के बुजुर्गों का पैसा कहां रहेगा ज्यादा सेफ, रिटर्न भी शानदार

8. वॉर विडो

वॉर विडो, श्रीलंका में हुई कार्रवाई में मारे गए I.P.K.F. कार्मिकों की विधवाएं; आतंकवादी व उग्रवादी के खिलाफ कार्रवाई में मारे गए पुलिस वालों, अर्द्धसैनिक बल जवानों, डिफेंस जवानों की विधवाएं; 1999 में करगिल में हुए ऑपरेशन विजय के शहीदों की विधवाएं किसी भी उद्देश्य से सेकंड क्लास और स्लीपर क्लास टिकट से सफर पर 75 फीसदी की छूट ले सकती हैं.

9. आर्टिस्ट व स्पोर्ट्सपर्सन्स

– परफॉरमेंस के लिए जाने वाले कलाकारों को सेकंड व स्लीपर क्लास टिकट पर 75 फीसदी; फर्स्ट क्लास, AC चेयर कार, 3AC व 2AC टिकट पर 50 फीसदी; राजधानी/शताब्दी/जनशताब्दी के 3AC व 2AC, एसी चेयर कार टिकट पर 50 फीसदी छूट मिलती है.

– फिल्म प्रॉडक्शन से संबंधित काम के लिए यात्रा कर रहे फिल्म टेक्निशियंस को स्लीपर क्लास टिकट पर 75 फीसदी; फर्स्ट क्लास, AC चेयर कार, 3AC व 2AC टिकट पर 50 फीसदी छूट मिलती है. इसमें राजधानी/शताब्दी भी शामिल हैं.

– ऑल इंडिया व स्टेट टूर्नामेंट, नेशनल टूर्नामेंट्स में भाग लेने जा रहे खिलाड़ियों और IMF द्वारा आयोजित माउंटेनियरिंग
एक्सपेडिशंस में भाग लेने जा रहे लोगों को सेकंड क्लास और स्लीपर क्लास की ​ट्रेन टिकट पर 75 फीसदी व फर्स्ट क्लास की ​टिकट पर 50 फीसदी रियायत मिलती है.

– केन्द्र व राज्य सरकारों/केन्द्र शासित प्रदेशों/जिलों के हेडक्वार्टर्स से मान्यता प्राप्त पत्रकारों को पत्रकारिता से जुड़े काम के लिए सभी क्लास की टिकट पर 50 फीसदी छूट है. साथ ही राजधानी/शताब्दी/जन शताब्दी ट्रेनों के ऑल इन्क्लूसिव किराए पर भी 50 फीसदी छूट है. इन पत्रकारों के जीवनसाथी/साथी/18 साल तक के निर्भर बच्चों को हर वित्त वर्ष में दो बार ​ट्रेन टिकट पर 50 फीसदी छूट मिलती है.

10. मेडिकल प्रोफेशनल्स

– किसी भी उद्देश्य से सफर करने वाले एलोपैथिक डॉक्टरों को ट्रेन के सभी क्लास और राजधानी/शताब्दी/जन शताब्दी ट्रेनों में टिकट पर 10 फीसदी छूट मिलती है.
– नर्स और मिडवाइफ को सेकंड और स्लीपर क्लास टिकट पर 25 फीसदी छूट है.

11. अन्य

– सामाजिक/सांस्कृतिक/शैक्षणिक महत्व की निश्चित ऑल इंडिया बॉडीज की सालाना कॉन्फ्रेंस में भाग लेने जा रहे प्रतिनिधियों को; कैंप/मीटिंग/रैली/ट्रैकिंग प्रोग्राम्स में हिस्सा लेने जा रहे भारत सेवा दल, बेंगलुरु को; समाज सेवा के लिए सर्विस सिविल इंटरनेशनल के वॉलंटियर्स को; शैक्षणिक टूर के लिए प्राइमरी, सेकंडरी और हायर सेकंडरी स्कूलों के शिक्षकों को; एंबुलेंस कैंप/कॉम्पिटीशंस के लिए सेंट जॉन एंबुलेंस ब्रिग्रेड के मेंबर्स और रिलीफ वेलफेयर एंबुलेंस कॉर्प्स को सेकंड क्लास और स्लीपर क्लास ट्रेन टिकट पर 25 फीसदी छूट मिलती है.

12. Izzat MST

असंगठित क्षेत्रों में काम करने वाले 1500 रुपये से कम मासिक आय वाले Izzat MST धारकों को अधिकतम 100 किमी की यात्रा के​ लिए 25 रुपये छूट मिलती है.

नोट: सभी रियायतें बेसिक मेल/एक्सप्रेस किरायों पर लागू हैं.

Source: indianrailways

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. Indian Railways: रेलवे इन 12 कैटेगरी में यात्रियों को देता है 100% तक रियायती टिकट, चेक करें पूरी लिस्ट

Go to Top