मुख्य समाचार:

Train 18 की टेस्टिंग सितंबर से; शताब्दी की जगह लेगी यह हाई स्पीड ट्रेन, जानिए 10 फैक्ट्स

इंटर-सिटी ट्रैवल के लिए भारतीय रेलवे की पहली इंजन-लेस ट्रेन होगी. इसे मेक इन इंडिया प्रोग्राम के तहत डेवलप किया गया है.

August 24, 2018 10:43 AM
Indian Railways, T18, Train 18, Indian Railways first engine less Train 18, Train 18 feature, world class Indian Railways Train, Train 18 latest news, Shatabdi Express, Rajdhani Express, Train 18 latest news in hindiइंटर-सिटी ट्रैवल के लिए भारतीय रेलवे की पहली इंजन-लेस ट्रेन होगी. इसे मेक इन इंडिया प्रोग्राम के तहत डेवलप किया गया है.

भारतीय रेलवे की सेमी हाईस्पीड ‘Train 18’ का परीक्षण अलगे महीने सितंबर से शुरू हो जाएगा. रेलवे की नई तकनीक की झलक दिखाने वाली यह ट्रेन शताब्दी एक्सप्रेस की जगह लेगी. रेल मंत्रालय के सूत्रों के अनुसार, ‘ट्रेन 18’ के सितंबर से शुरू होने की उम्मीद है. यह इंटर-सिटी यात्रा के लिए भारतीय रेलवे की पहली इंजन-लेस ट्रेन होगी. इसकी अधिकतम स्पीड 160 किमी प्रति घंटे होगी.

टेस्टिंग के बाद फ्लीट में होगी शामिल
सूत्रों ने कहा कि ट्रेन रेलवे के फ्लीट में परीक्षण के बाद शामिल की जाएगी. भारतीय रेल के तकनीकी सलाहकार अनुसंधान डिजाइन व मानक संगठन (RDSO) इसका परीक्षण करेगा और ट्रेन को मान्यता देगा. इससे पहले ‘ट्रेन 18’ के जुलाई में शुरू होने वाली थी. ‘ट्रेन 18’ चेन्नई स्थित इंटीग्रल कोच फैक्ट्री (ICF) की ओर से बनाया गया है. हाल ही में आईसीएफ जीएम सुधांशु मणि ने FE Online को बताया था कि ट्रेन 18 को आयात पर होने वाली लागत के मुकाबले करीब आधे खर्च पर देश में ही बनाया गया है.

T1 8 ट्रेन, देखिए Exclusive तस्वीरें

Train 18 की 10 खासियतें-

1. रेल मंत्रालय के अधिकारियों ने कहा कि ‘Train 18’ मौजूदा शताब्दी एक्सप्रेस की जगह लेगी. उन्होंने कहा कि आईसीएफ इस तरह के छह ट्रेनों का सेट तैयार करेगी, जिसमें से दो में शयनयान कोच होंगे.

2. नई ट्रेन में यात्रियों की सुविधाएं बढ़ाने के लिए कुछ विशेषताएं हैं, जिसमें इंटर-कनेक्टेड पूरी तरह से बंद गैंगवे, स्वचालित दरवाजें, वाई-फाई और इंफोटेमेंट, जीपीएस आधारित यात्री सूचना प्रणाली, जैव-वैक्यूम प्रणाली व माड्यूलर शौचालय व घूमने वाली सीटें शामिल हैं.

3. नई Train 18 को मादी सरकार के ‘मेक इन इंडिया’ प्रोग्राम के तहत डेवलप किया गया है. इसकी मैन्युफैक्चरिंग इंटीग्रल कोच फैक्ट्री (ICF) चेन्नई में की जा रही है.

4. ट्रेन 18 में दोनों तरह ड्राइविंग कैब होगी. इसलिए ट्रेनों के टर्नअराउंड पर लगने वाले समय की बचत होगी.

5. नई ट्रेन 18 पूरी तरह वातानुकूलित (AC) होगी. इसमें 16 चेयरकार कोचेज होंगे. इसमें से 2 कोच एग्जीक्यिूटिव क्लास और 14 नॉन-एग्जीक्यूविट क्लास की होंगी.

6. एग्जीक्यूविट क्लास में 56 और नॉन-एग्जीक्यूटिव क्लास में 78 पैसेंजर सीट हो सकती हैं.

7. ट्रेन 18 के कोचेज में प्रवेश और निकास के लिए आॅटोमैटिक दरवाजे होंगे. इसमें एक नया फीचर स्लाइडिंग फूटस्टेप्स का होगा.

8. ट्रेन 18 में सेल्फ-प्रोपल्सन सिस्टम होगा, जिससे ट्रेन जल्दी रफ्तार पकड़ लेगी और धीमी भी हो जाएगी.

9. ट्रेन 18 में मॉड्यूलर टॉयलेट होंगे. जो दिव्यांगो के लिए भी अनुकूल होंगे.

10. ट्रेन 18 में सीटें आरामदायक और रोटेटिंग होंगी. ट्रेन में एलईडी लाइटिंग होंगी.

(इनपुट: आईएएनएस)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. Train 18 की टेस्टिंग सितंबर से; शताब्दी की जगह लेगी यह हाई स्पीड ट्रेन, जानिए 10 फैक्ट्स

Go to Top