मुख्य समाचार:
  1. भारत के मल्टी ब्रांड रिटेल में उतरने की विदेशी कंपनियों को नहीं मिलेगी इजाजत: पीयूष गोयल

भारत के मल्टी ब्रांड रिटेल में उतरने की विदेशी कंपनियों को नहीं मिलेगी इजाजत: पीयूष गोयल

बाजार में प्रतिस्पर्धा समाप्त करने वाली दर पर वस्तुओं को बेच रहे लोगों के खिलाफ आवश्यक कार्रवाई की जाएगी.

June 19, 2019 11:10 PM
India will not allow multi-brand retail by foreign firms, predatory pricingImage: Reuters

सरकार मल्टी ब्रांड सेगमेंट में विदेशी कंपनियों को परिचालन की इजाजत नहीं देगी. साथ ही बाजार में प्रतिस्पर्धा समाप्त करने वाली दर पर वस्तुओं को बेच रहे लोगों के खिलाफ आवश्यक कार्रवाई की जाएगी. केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने बुधवार को एक बैठक में ये बातें कहीं. गोयल की यह बैठक गोयल किराना दुकानों, व्यापारियों एवं खुदरा कारोबारियों के संगठनों के प्रतिनिधियों के साथ थी.

वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि गोयल ने विदेशी कंपनियों को देश में मल्टी ब्रांड रिटेल क्षेत्र में नहीं उतरने देने पर जोर दिया. उन्होंने कहा कि बिजनेस-टू-बिजनेस (कंपनी से कंपनी के बीच) व्यापार के नाम पर मल्टी ब्रांड रिटेल क्षेत्र में किसी विदेशी कंपनी को प्रवेश नहीं करने दिया जाएगा. साथ ही बाजार में प्रतिस्पर्धा समाप्त करने वाली दर पर वस्तुओं को बेचने की अनुमति नहीं दी जाएगी. इसका उल्लंघन करने वालों के खिलाफ आवश्यक कार्रवाई की जाएगी.

5 दिनों में ई-कॉमर्स पॉलिसी के मसौदे पर सुझाव दें संबंधित पक्ष

मंत्री ने सभी संबंधित पक्षों को अगले पांच दिनों में ई-कॉमर्स नीति के मसौदे पर सुझाव देने को कहा. उन्होंने कहा कि उद्योग एवं आंतरिक व्यापार संवर्धन विभाग डीपीआईआईटी को मिलने वाले सभी सुझावों पर गौर करने के बाद ही नीति को अंतिम रूप दिया जाएगा. गोयल ने कारोबारियों से यह भी कहा कि वे अपने कारोबार को बढ़ावा देने के लिए सरकार के ऑनलाइन मार्केटप्लेस और मुद्रा योजना का इस्तेमाल करें.

खुदरा कारोबारियों के संगठन कंफेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने एक अलग बयान में कहा कि उसने यथाशीघ्र ई-वाणिज्य नीति को अमल में लाने की मांग की.

Go to Top

FinancialExpress_1x1_Imp_Desktop