मुख्य समाचार:

बिक्री में भारी गिरावट, देश की मैन्युफैक्चरिंग ग्रोथ 15 साल के निचले स्तर पर: PMI

अगस्त माह में मैन्युफैक्चरिंग ग्रोथ गिरकर 15 साल के सबसे निचले स्तर पर

September 2, 2019 1:05 PM
PMI Manufacturing Growth, Manufacturing Growth In August, sales growth down, production cut, employment growth, अगस्त माह में मैन्युफैक्चरिंग ग्रोथ, GDPअगस्त माह में मैन्युफैक्चरिंग ग्रोथ गिरकर 15 माह के सबसे निचले स्तर पर

भारत की अगस्त माह में मैन्युफैक्चरिंग ग्रोथ गिरकर 15 माह के सबसे निचले स्तर पर आ गई है. सेल्स ग्रोथ के अलावा प्रोडक्शन ग्रोथ और रोजगार में गिरावट से देश के विनिर्माण क्षेत्र की गतिविधियां बुरी तरह से प्रभावित हुई हैं. एक मंथली सर्वे में सोमवार को यह जानकारी सामने आई है. बता दें कि बीते हफ्ते देश के जीडीपी का डाटा आया था, जिसमें जून तिमाही में ग्रोथ रेट सालाना आधार पर 8 फीसदी से घटकर 5 फीसदी पर आ गई है. यह 6 साल में सबसे सुस्त ग्रोथ रेट है.

PMI अगस्त में 51.4 पर

आईएचएस मार्किट का इंडिया मैन्युफैक्चरिंग पर्चेजिंग मैनेजर्स सूचकांक (PMI) जुलाई में 52.5 से गिरकर अगस्त में 51.4 पर आ गया है. यह मई 2018 के बाद का सबसे निचला स्तर है. यह लगातार 25वां महीना है जब मैन्युफैक्चरिंग का पीएमआई 50 से अधिक रहा है. सूचकांक का 50 से अधिक रहना विस्तार दर्शाता है, जबकि 50 से नीचे का सूचकांक का आना कमजोरी का संकेत देता है.

निजी निवेश और उपभोक्ता मांग में सुस्ती

आईएचएस मार्किट की प्रधान अर्थशास्त्री पॉलिएना डी लीमा ने कहा कि अगस्त महीने में भारतीय मैन्युफैक्चरिंग इंडस्ट्री में सुस्त आर्थिक वृद्धि और अधिक लागत मुद्रास्फीति का दबाव देखा गया. काम के नए ऑर्डर, प्रोडक्शन और रोजगार को मापने वाले इंडेक्स समेत अधिकांश पीएमआई इंडेक्स में कमजोरी का रुख रहा. वैश्विक मोर्चे पर बिगड़ती स्थितियों के बीच निजी निवेश और उपभोक्ता मांग में सुस्ती से भारत की आर्थिक वृद्धि दर जून तिमाही में घटकर 5 फीसदी पर आ गई है.

बिक्री में धीमी गति से विस्तार

अगस्त में, बिक्री में 15 महीनों में सबसे धीमी गति से विस्तार हुआ है. जिसका प्रोडक्शन ग्रोथ और रोजगार सृजन पर भी दबाव पड़ा है. इसके अलावा, कारखानों ने मई 2018 के बाद पहली बार खरीदारी में कमी की है. लीमा ने कहा कि 15 महीने में पहली बार खरीदारी गतिविधियों में गिरावट एक चिंताजनक संकेत है. स्टॉक में जानबूझकर कटौती और पूंजी की कमी के कारण ऐसा हुआ है.

नए कारोबारी ऑर्डर की गति भी धीमी

सर्वे में कहा गया कि प्रतिस्पर्धी दबाव और बाजार में चुनौतीपूर्ण स्थितियों ने तेजी को रोकने की कोशिश की. अगस्त में विदेशों से आने वाले नए कारोबारी ऑर्डर की गति भी धीमी रही. घरेलू और अंतरराष्ट्रीय ग्राहकों को होने वाली बिक्री में सुस्ती ने प्रोडक्शन ग्रोथ को प्रभावित किया. सर्वे में शामिल कुछ सदस्यों ने कैश फ्लो से जुड़ी दिक्कत और फाइनेंस की उपलब्धता में कमी की सूचना दी है.

रोजगार के मोर्चे पर सर्वे में कहा गया कि कमजोर बिक्री ने मैन्युुैक्चरिंग कंपनियों को रिटायर्ड कर्मचारियों की जगह दूसरे कर्मचारी रखने से रोका है. कीमत के मोर्चे पर, इनपुट लागत बढ़कर 9 महीने के उच्च स्तर पर पहुंच गई है. इनपुट कास्ट में बढ़ोत्तरी ने भी खरीद गतिविधियों में रुकावट खड़ी की है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. बिक्री में भारी गिरावट, देश की मैन्युफैक्चरिंग ग्रोथ 15 साल के निचले स्तर पर: PMI

Go to Top