मुख्य समाचार:
  1. मायावती के भाई आनंद कुमार पर आयकर विभाग का बड़ा एक्शन, नोएडा में 400 करोड़ का बेनामी प्लाट जब्त

मायावती के भाई आनंद कुमार पर आयकर विभाग का बड़ा एक्शन, नोएडा में 400 करोड़ का बेनामी प्लाट जब्त

मायावती ने हाल ही में आनंद कुमार को बहुजन समाज पार्टी (बसपा) का राष्ट्रीय उपाध्यक्ष नियुक्त किया है.

July 18, 2019 3:15 PM
I-T Department action against Mayawatis brother Anand Kumarमायावती ने हाल ही में आनंद कुमार को बहुजन समाज पार्टी (बसपा) का राष्ट्रीय उपाध्यक्ष नियुक्त किया है.

BSP Chief Mayawatis brother Anand Kumar: इनकम टैक्स डिपार्टमेंट यानी आयकर विभाग ने बहुजन समाजवादी पार्टी (बसपा) प्रमुख मायावती के भाई और भाभी की 400 करोड़ रुपये की बेनामी सं​पत्ति जब्त कर दी है. टैक्स डिपार्टमेंट ने गुरुवार को मायावती के भाई आनंद कुमार और उनकी पत्नी विचित्र लता के ‘‘लाभकारी मालिकाना हक’’ वाले सात एकड़ के नोएडा स्थित भूखंड को जब्त कर लिया. सूत्रों के अनुसार, आयकर विभाग जांच में पता चला कि आनंद कुमार के पास नोएडा में 28328 वर्ग मीटर का एक बेनामी प्लाट है.

सूत्रों के अनुसार, इस बारे में अस्थाई आदेश टैक्स डिपार्टमेंट की ओर से दिल्ली स्थित बेनामी निषेध इकाई (बीपीयू) ने 16 जुलाई को जारी किया था. इसके बाद 18 जुलाई को आयकर विभाग ने प्लाट को जब्त कर लिया है.

आनंद कुमार और उनकी पत्नी के खिलाफ इनकम टैक्स डिपार्टमेंट की यह कार्रवाई बसपा के लिए तगड़ा झटका माना जा रहा है. बता दें, मायावती ने हाल ही में आनंद कुमार को बहुजन समाज पार्टी (बसपा) का राष्ट्रीय उपाध्यक्ष नियुक्त किया है.

आनंद कुमार के खिलाफ चल रही है जांच

टैक्स डिपार्टमेंट के अनुसार, मायावती के भाई आनंद कुमार की 1,300 करोड़ रुपये की संपत्ति की जांच चल रही है. टैक्स डिपार्टमेंट ने अपनी जांच में आरोप लगाया कि आनंद कुमार की संपत्ति में 2007 से 2014 तक करीब 18000 फीसदी बढ़ी है. उनकी संपत्ति 7.1 करोड़ रुपये से बढ़कर 1,300 करोड़ रुपये हो गई. 12 कंपनियां टैक्स डिपार्टमेंट की जांच के दायरे में है, जिसमें आनंद कुमार डायरेक्टर हैं.

नोएडा प्राधिकरण में कभी क्लर्क थे आनंद

बसपा प्रमुख मायावती के भाई आनंद कुमार कभी नोएडा प्राधिकरण में मामूली क्लर्क हुआ करते थे. यूपी में मायावती की सरकार बनने के बाद आनंद कुमार की संपत्ति जबरदस्त बढ़ोतरी दर्ज की गई. आनंद कुमार के खिलाफ फर्जी कंपनी बनाकर करोड़ों रुपये लोन लेने का आरोप भी लगा था. 2007 में मायावती की सरकार आने के बाद आनंद कुमार ने एक के बाद एक लगातार 49 कंपनियां खोलीं. 2014 में वह 1316 करोड़ की संपत्ति के मालिक बन गए.

 

Go to Top