मुख्य समाचार:
  1. इस तरह होगी आपके बहुमूल्य वोटों की गिनती, गड़बड़ी की स्थिति में हुई शिकायत तो फिर से करना पड़ सकता है मतदान

इस तरह होगी आपके बहुमूल्य वोटों की गिनती, गड़बड़ी की स्थिति में हुई शिकायत तो फिर से करना पड़ सकता है मतदान

रिटर्निंग ऑफिसर की शिकायत पर मतगणना बंद हो सकती है .

May 23, 2019 7:50 AM
voting process, loksabha election, loksabha election 2019, vote counting process, evm, evm machine, returning officer, vote counting, वोट काउंटिंग, मतगणना, मतगणना प्रक्रिया, मतदानवीवीपैट पर्चियों के मिलान के कारण इस बार अंतिम नतीजे आने में थोड़ी देरी होगी.

अगली सरकार किसकी, थोड़ी ही देर में यह स्पष्ट होने लगेगा. 17वीं लोकसभा के लिए चुनाव की मतगणना 8 बजे शुरू हो जाएगी और चुनाव आयोग के एक ऐप के जरिए भी परिणाम की जानकारी ले सकते हैं. इस चुनाव में पहली बार देश में वीवीपैट का इस्तेमाल हुआ जिसके कारण अंतिम नतीजे आने में कुछ देरी हो सकती है. वीवीपैट (वोटर वेरिफिएबल पेपर ऑडिट ट्रायल) एक खास सुविधा है जिसके तहत मतदाता को वोट डालने के बाद एक पर्ची दिखती है जिसके जरिए यह सुनिश्चित किया जाता है कि आपका वोट आपके ही पसंदीदा उम्मीदवार को गया है. आइए जानते हैं कि आपके द्वारा सात चरणों में दिए गए मतों की गिनती किस तरह होगी और इस पूरी Vote Counting Process के दौरान कौन-कौन सामने मौजूद रहते हैं.

यहां से जुड़ें अपने उम्मीदवारों की जीत-हार से जुड़े परिणामों से

इस तरह होती है Vote Counting Process

  • वोटिंग प्रॉसेस शुरू होने से पहले रिटर्निंग अफसर और उनके सहयोगी सभी लोगों के सामने गोपनीयता की शपथ लेते हैं और रिटर्निंग अफसर के सामने सभी ईवीएम मशीनों की जांच की जाती है.
  • मतदान गिनती के दौरान राजनीतिक दलों के उम्मीदवार अपने काउंटिंग एजेंट के साथ मौजूद रह सकते हैं.
  • ईवीएम में पड़े गए मतों की गिनती से पहले पोस्टल मतपत्रों की गिनती की जाती है.
  • पोस्टल मतपत्रों की गिनती के बाद मतदान केंद्रों के मुताबिक सभी ईवीएम को एक क्रम में रखा जाता है.
  • ईवीएम में पड़े कुल वोटों और अलग-अलग उम्मीदवारों को मिले वोटों को रिकॉर्ड किया जाता है.
  • इसके बाद सभी पोलिंग सेंटर की ईवीएम के आंकड़ों को आपस में जोड़ दिया जाता है.
  • इससे पहले ईवीएम के आंकड़ों और पोस्टल के मतपत्रों के आधार पर घोषित कर दिया जाता था लेकिन इस बार वीवीपैट पर्ची का भी मिलान किया जाएगा.
  • ईवीएम की गिनती पूरी होने के बाद वीवीपैट पर्चियों का मिलान किया जाएगा और इसके लिए हर काउंटिंग हॉल में अलग से वीवीपैट बूथ भी होगा.

रिटर्निंग ऑफिसर की शिकायत पर बंद हो सकती है मतगणना

कुछ जगहों पर मतगणना प्रक्रिया में किसी वजह से मतगणना प्रक्रिया में विवाद होने लगता है या इसमें कोई तकनीकी रुकावट आ जाती है. किसी भी कारण से मतगणना में रुकावट पर रिटर्निंग ऑफिसर तुरंत चुनाव आयोग को रिपोर्ट करता है और उसके बाद मतगणना को जारी रखने या पूरी मतदान प्रक्रिया को ही रद्द कर फिर से मतदान करने का आदेश दे सकता है.

Go to Top