मुख्य समाचार:

ओडिशा में ‘सचेतक’ बना नया हथियार, कोरोना के खिलाफ लड़ाई में कैसे कर रहा मदद

'सचेतक' के अलावा ओडिशा सरकार ने सरपंचों को सशक्त करने के साथ कोविड मरीजों को स्वास्थ्य सेवा देने वाले स्वास्थ्यकर्मियों को प्रशिक्षित किया है.

Published: June 24, 2020 12:43 PM
how Sachetak mobile app is helping in Odisha to fight against COVID-19कोरोना के खिलाफ लड़ाई में डिजिटल पहल एक अहम टूल बनता जा रहा है.

कोरोनावायरस कोविड19 (covid19 pandemic ) महामारी से निपटने के लिए केंद्र और राज्य सरकारें अपने-अपने स्तर हरमुमकिन कोशिश में जुटी हैं. इसमें आधुनिक तकनीक भी अहम रोल अदा कर रहा है. केंद्र सरकार के अलावा कई राज्य सरकारें भी दिए गए प्रोटोकॉल के अनुसार अपनी प्लानिंग को लागू कर रही हैं. इसी तरह की एक कोशिश के तहत ओडिशा सरकार ने एक मोबाइल ऐप ‘सचेतक’ विकसित किया है. ओडिशा ने कोविड के खिलाफ अपनी कार्यनीति में आईटी का इस्तेमाल करने के अलावा स्थानीय सरपंचों को सशक्त बनाने, कम्युनिटी पार्टिसिपेशन के जरिए कुलश हेल्थकेयर कर्मियों का वर्कफोर्स तैयार करने और कमजोर लोगों की सुरक्षा पर फोकस किया है. इसके चलते राज्य में मृत्यु दर कम है और संक्रमित मरीजों का दबाव भी कम हुआ है.

‘सचेतक’ कैसे करेगा मदद

ओडिशा की राजधानी भुवनेश्वर में भुवनेश्वर नगर निगम (बीएमसी) ने शहर के बीमार और बुजुर्ग नागरिकों को जांच के दायरे में रखने के लिए एक मोबाइल ऐप ‘सचेतक’ विकसित किया है. इसमें परिवार के एक सदस्य को देखभालकर्ता के रूप में रजिस्टर्ड किया गया है. घर में अकेले रहने वाले बुजुर्गों के लिए वार्ड स्तर पर सचेतक समिति के एक स्वयंसेवक को देखभालकर्ता के रूप में निर्धारित किया गया है. वे कमजोर लोगों की जान बचाने के तरीकों में प्रशिक्षित होते हैं.

ऐप के माध्यम से लोग कोविड से बचने के लिए जरूरी संसाधनों का पता लगा सकते हैं और डॉक्टरों से परामर्श कर सकते हैं. कोविड क्वारंटीन पर नई जानकारी हासिल कर सकते हैं और कोविड के पॉजिटिव मामले की ताजा स्थिति पर जानकारी प्राप्त कर सकते हैं. इस ऐप से मिले आंकड़ों से नगर निकायों को टारगेटेड हेल्थ कैम्प के लिए योजना बनाने में मदद मिलती है.

Covid-19 Live Updates: भारत में कोरोना संक्रमित 4.50 लाख के पार

सरपंच और हेल्थकर्मी

सचेतक के अलावा ओडिशा सरकार ने आपदा प्रबंधन अधिनियम, 2005 की धारा 51 के तहत जिला अधीक्षकों के अधिकारों को ग्राम पंचायतों के सरपंचों को उनके अधिकार क्षेत्र में सौंप दिया है. इससे खासकर बाहर से लौट रहे प्रवासियों को 14 दिन के लिए क्वारंटीन में रखने के नियमों की निगरानी करने में मदद मिल रही है.

ओडिशा सरकार ने कोविड मरीजों को स्वास्थ्य सेवा प्रदान करने के लिए 1.72 लाख स्वास्थ्यकर्मियों को प्रशिक्षित किया है. एक अभिनव कदम के रूप में गंजम जिला प्रशासन क्वारंटीन केंद्रों में हजारों प्रवासियों को सफाई जैसे कार्यों के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं के रूप में प्रशिक्षित कर रहा है. इस काम को अन्य जिलों में भी दोहराया जा रहा है.

ओडिशा में कुल 5752 कोरोना पॉजिटिव

ओडिशा सूचना और जनसंपर्क विभाग की ओर से बुधवार सुबह तक जारी आंकड़ों के अनुसार, राज्य में पॉजिटिव मामलों की कुल संख्या 5752 हो गई है जिसमें से 1740 सक्रिय मामले हैं और 3988 ठीक हो चुके मामले हैं. बीते 24 घंटे में राज्य में 282 नए मामले सामने आए हैं. दूसरी ओर, देश में कोरोना संक्रमित मरीजों का आंकड़ा 4.56 लाख से अधिक हो चुका है. मरने वालों की संख्या भी 14,500 के करीब पहुंच चुका है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. ओडिशा में ‘सचेतक’ बना नया हथियार, कोरोना के खिलाफ लड़ाई में कैसे कर रहा मदद

Go to Top