सर्वाधिक पढ़ी गईं

गुजरात के पूर्व सीएम केशुभाई पटेल का निधन, 92 साल की उम्र में ली आखिरी सांस

जब नरेंद्र मोदी गुजरात में मुख्यमंत्री बने तो उनसे पहले केशूभाई पटेल ही राज्य के मुख्यमंत्री थे.

Updated: Oct 29, 2020 1:30 PM
gujrat ex cm keshubhaipatel died modi treat him as a mentorमोदी केशूभाई पटेल को अपना गुरू मानते थे. (Representative Image-PTI)

गुजरात के पूर्व मुख्यमंत्री और पीएम मोदी के गुरू केशूभाई पटेल का निधन हो गया है. वह 92 साल के थे. उन्हें सांस लेने में दिक्कत के कारण अस्पताल में भर्ती कराया गया था. कुछ समय पहले वह कोरोना पॉजिटिव भी हुए थे. उन्होंने 2014 में राजनीति से सन्यास ले लिया था और अभी हाल ही में उन्हें सोमनाथ मंदिर ट्रस्ट का अध्यक्ष बनाया गया था.

पीएम मोदी और गृह मंत्री अमित शाह ने जताया शोक

पूर्व मुख्यमंत्री के निधन पर पीएम मोदी ने शोक जताया है. उन्होंने ट्वीट में लिखा है कि केशूभाई ने उन्हें और उनके जैसे कार्यकर्ताओं का मार्गदर्शन किया है, पीएम मोदी ने उनकी मौत को अपूरणीय क्षति बताते हुए ट्वीट में लिखा है कि उन्होंने केशूभाई के बेटे भारत से बात कर उन्हें सांत्वना दी है.

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने गुजरात के पूर्व मुख्यमंत्री के निधन पर ट्वीट कर शोक जताया है. ट्वीट में उन्होंने लिखा है, गुजरात के पूर्व मुख्यमंत्री केशुभाई पटेल जी के निधन का दुःखद समाचार प्राप्त हुआ. उनका लम्बा सार्वजनिक जीवन गुजरात की जनता की सेवा में समर्पित रहा. केशुभाई के निधन से गुजरात की राजनीति में ऐसी रिक्तता आयी है जिसका भरना आसान नहीं है. उनके परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त करता हूँ.

मोदी से पहले गुजरात के सीएम केशूभाई

केशूभाई पटेल दो बार गुजरात के मुख्यमंत्री बने थे लेकिन कभी अपना कार्यकाल पूरा नहीं कर पाए थे. इसके अलावा जब नरेंद्र मोदी गुजरात में मुख्यमंत्री बने तो उनसे पहले केशूभाई पटेल ही राज्य के मुख्यमंत्री थे. मोदी केशूभाई पटेल को अपना गुरू मानते थे.

जनसंघ के संस्थापक सदस्यों में से एक

केशूभाई पटेल जनसंघ के संस्थापक सदस्यों में एक थे. उन्होंने 1960 के करीब अपने राजनीतिक जीवन की शुरुआत की थी. आपातकाल के बाद 1977 के चुनाव में वे राजकोट से लोकसभा सांसद बने. हालांकि उन्होंने बाद में इस्तीफा देकर गुजरात में बाबूभाई पटेल की सरकार में 1978 से 1980 के बीच कृषि मंत्री के पद पर रहे. वह पहली बार 1995 में गुजरात के मुख्यमंत्री बने लेकिन सात महीने बाद ही शंकरसिंह वाघेला के विद्रोह के कारण उन्हें इस्तीफा देना पड़ा. इसके बाद वह 1998 में मुख्यमंत्री बने. बाद में गिरते स्वास्थ्य के कारण उन्होंने 2001 में इस्तीफा दे दिया. उनके बाद नरेंद्र मोदी राज्य के मुख्यमंत्री बने.

2012 में बनाई थी अपनी पार्टी

केशूभाई पटेल ने 2007 में लोगों को सत्ता परिवर्तन के लिए मतदान को कहा, हालांकि बीजेपी एक बार फिर बहुमत से सरकार बनाने में सफल रही. उन्होंने 2012 में बीजेपी की सदस्यता छोड़ दी और गुजरात परिवर्तन पार्टी का गठन किया. 2012 के विधानसभा चुनाव में उनकी पार्टी ने महज दो सीट जीता, जिसमें से एक सीट पर उन्होंने एक बीजेपी कैंडिडेट को हराया था. इसके बाद स्वास्थ्य कारणों से जनवरी 2014 में में जीपीपी के प्रेसिडेंट पद से इस्तीफा दे दिया और अगले ही महीने विधानसभा सदस्यता से भी इस्तीफा दे दिया. उनकी पार्टी जीपीपी का फरवरी में बीजेपी में विलय हो गया.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. गुजरात के पूर्व सीएम केशुभाई पटेल का निधन, 92 साल की उम्र में ली आखिरी सांस

Go to Top