सर्वाधिक पढ़ी गईं

चालू वित्त वर्ष में सरकार की और बढ़ सकती है कमाई, लक्ष्य से ज्यादा टैक्स कलेक्शन की उम्मीद

सरकार ने चालू वित्त वर्ष में कर संग्रहण 22.2 लाख करोड़ रुपये रहने का अनुमान लगाया है. यह पिछले वित्त वर्ष की तुलना में 9.5 प्रतिशत ज्यादा है.

November 21, 2021 3:45 PM
Govt to exceed FY22 tax collection target, direct tax mop-up at Rs 6 lakh cr till Oct: Revenue secyसरकार चालू वित्त वर्ष 2021-22 में टैक्स कलेक्शन के लक्ष्य को पार कर जाएगी.

सरकार चालू वित्त वर्ष 2021-22 में टैक्स कलेक्शन (Tax Collection) के लक्ष्य को पार कर जाएगी. रेवेन्यू सेक्रेटरी तरुण बजाज ने यह उम्मीद जताई है. चालू वित्त वर्ष में अक्टूबर तक सरकार का नेट डायरेक्ट टैक्स कलेक्शन छह लाख करोड़ रुपये रहा है. वहीं वित्त वर्ष के दौरान प्रतिमाह औसत GST संग्रह करीब 1.15 लाख करोड़ रुपये है. बजाज ने कहा कि सरकार का टैक्स कलेक्शन चालू वित्त वर्ष के लिए बजट अनुमान से ज्यादा रहेगा. एक इंटरव्यू में बजाज ने कहा कि पेट्रोल और डीजल पर एक्साइज ड्यूटी में कटौती और खाद्य तेल पर कस्टम ड्यूटी में कमी से सरकारी खजाने पर चालू वित्त वर्ष में करीब 80,000 करोड़ रुपये का बोझ पड़ेगा.

अक्टूबर तक 6 लाख करोड़ रुपये का टैक्स कलेक्शन

बजाज ने कहा कि रेवेन्यू डिपार्टमेंट दिसंबर के अग्रिम कर के आंकड़े सामने आने के बाद बजट अनुमान की तुलना में कर संग्रह की गणना शुरू करेगा. उन्होंने कहा, ‘‘रिफंड के बाद भी अक्टूबर तक हमारा टैक्स कलेक्शन करीब छह लाख करोड़ रुपये पर पहुंच गया है. यह अच्छा है. उम्मीद है कि हम बजट अनुमान को पार कर लेंगे.’’ बजाज ने आगे कहा, ‘‘हालांकि, हमने पेट्रोल, डीजल और खाद्य तेल पर इन-डायरेक्ट टैक्स में काफी राहत दी है. यह लाभ करीब 75,000 से 80,000 करोड़ रुपये का है. इसके बावजूद मुझे उम्मीद है कि हम डायरेक्ट और इन-डायरेक्ट टैक्स दोनों में बजट अनुमान को पार करेंगे.’’

Bank Holidays in December 2021: साल के आखिरी महीने में इतने दिन बंद रहेंगे बैंक, फटाफट निपटा लें अपने सभी जरूरी काम

चालू वित्त वर्ष में 22.2 लाख करोड़ रुपये टैक्स कलेक्शन का अनुमान

सरकार ने चालू वित्त वर्ष में कर संग्रहण 22.2 लाख करोड़ रुपये रहने का अनुमान लगाया है. यह पिछले वित्त वर्ष की तुलना में 9.5 प्रतिशत ज्यादा है. 2020-21 में कर संग्रह 20.2 लाख करोड़ रुपये रहा था. टोटल टैक्स कलेक्शन में डायरेक्ट टैक्स का हिस्सा 11 लाख करोड़ रुपये रहने का अनुमान है. इसमें 5.47 लाख करोड़ रुपये कॉरपोरेट टैक्स और 5.61 लाख करोड़ रुपये का इनकम टैक्स शामिल है. GST के बारे में बजाज ने कहा कि नवंबर का संग्रह अच्छा रहा है, लेकिन दिसंबर का आंकड़ा थोड़ा कम रहेगा. मार्च तिमाही में जीएसटी कलेक्शन फिर बढ़ेगा.

Mcap of Top 10 Firms: सेंसेक्स की टॉप 10 में से नौ कंपनियों का मार्केट कैप 1.47 लाख करोड़ रुपये घटा, जानिए किन कंपनियों को हुआ नुकसान

जीएसटी कलेक्शन भी अच्छा

बजाज ने कहा, ‘‘जीएसटी संग्रह अच्छा है. अक्टूबर में हमने 1.30 लाख करोड़ रुपये का आंकड़ा पार किया. इस महीने भी दिवाली की वजह से हमारा आंकड़ा अच्छा रहेगा.’’ उन्होंने कहा कि जीएसटी संग्रह का ‘रन रेट’ 1.15 लाख करोड़ रुपये से नीचे नहीं जाएगा. चालू वित्त वर्ष में कस्टम ड्यूटी कलेक्शन का लक्ष्य 1.36 लाख करोड़ रुपये और एक्साइज ड्यूटी कलेक्शन का लक्ष्य 3.35 लाख करोड़ रुपये है. इसके अलावा केंद्र का जीएसटी राजस्व (मुआवजा उपकर सहित) 6.30 लाख करोड़ रुपये रहने का अनुमान है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. चालू वित्त वर्ष में सरकार की और बढ़ सकती है कमाई, लक्ष्य से ज्यादा टैक्स कलेक्शन की उम्मीद

Go to Top