मुख्य समाचार:
  1. सरकार को RBI से मिल सकते हैं 3 लाख करोड़, नियमित खर्चों में हो सकता है इस्तेमाल: रिपोर्ट

सरकार को RBI से मिल सकते हैं 3 लाख करोड़, नियमित खर्चों में हो सकता है इस्तेमाल: रिपोर्ट

जापान की ब्रोकरेज कंपनी नोमुरा की एक रिपोर्ट में यह कहा गया है.

June 25, 2019 7:17 PM
Govt likely to use ₹3-trillion RBI windfall to pay regular bills: ReportImage: Reuters

बिमल जालान समिति की रिपोर्ट के आधार पर भारतीय रिजर्व बैंक के पास मौजूद आवश्यकता से अधिक रिजर्व से केंद्र सरकार को 3 लाख करोड़ रुपये की राशि मिल सकती है. जापान की ब्रोकरेज कंपनी नोमुरा की एक रिपोर्ट में यह कहा गया है. जालाना समिति की रिपोर्ट अब बजट तक आएगी.

नोमुरा ने रिपोर्ट में कहा कि यह राशि सरकार को अलग-अलग हिस्सों में कुल मिला कर तीन साल में मिलेगी और ज्यादा संभावना है कि इसका इस्तेमाल सरकार के नियमित खर्च में किया जा सकेगा. रिजर्व बैंक के लिए उपयुक्त आर्थिक पूंजी रूपरेखा पर गठित बिमल जालान समिति का गठन पिछले साल दिसंबर में किया गया. अब तक समिति द्वारा रिपोर्ट देने की समय सीमा तीन बार बढ़ाई जा चुकी है.

ब्रोकरेज कंपनी ने कहा, ‘‘बाजार की उम्मीदों के अनुसार रिजर्व बैंक के पास पड़े रिजर्व में से 3 लाख करोड़ रुपये तीन साल की अवधि में किस्तों में दिए जाएंगे. हालांकि हमारा मानना है कि अंतत: कोष का ट्रांसफर कम होगा.’’

नियमित खर्च में इस्तेमाल होने की संभावना 45%

रिपोर्ट के अनुसार 45 प्रतिशत संभावना है कि धन का इस्तेमाल सरकार के नियमित खर्च को पूरा करने के लिए किया जाएगा. केवल 20 प्रतिशत गुंजाइश है कि इसका उपयोग बैंकों में पूंजी डालने में किया जाएगा. वहीं 25 प्रतिशत संभावना है कि रिजर्व बैंक के कर्ज को खत्म करने में इसका उपयोग किया जा सकता है.

14% रिजर्व रखने का है वैश्विक नियम

वित्त मंत्रालय का मानना है कि सकल संपत्ति का 28 प्रतिशत ‘बफर’ के रूप में केंद्रीय बैंक द्वारा रखना वैश्विक नियम 14 प्रतिशत से कहीं अधिक है.

Go to Top

FinancialExpress_1x1_Imp_Desktop