PMGKAY: मुफ्त राशन देने की सरकारी योजना 3 महीने बढ़ी, 80 करोड़ लोगों को फायदा, क्या है पूरी स्कीम | The Financial Express

PMGKAY: मुफ्त राशन देने की सरकारी योजना 3 महीने बढ़ी, 80 करोड़ लोगों को फायदा, क्या है पूरी स्कीम

PMGKAY: सूचना और प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि इस स्कीम को अक्टूबर से दिसंबर, 2022 तक के लिये बढ़ाया गया है. माना जा रहा है कि गुजरात विधानसभा चुनाव को ध्यान में रखते हुए सरकार ने यह निर्णय लिया है.

PMGKAY: मुफ्त राशन देने की सरकारी योजना 3 महीने बढ़ी, 80 करोड़ लोगों को फायदा, क्या है पूरी स्कीम
गरीबों को मुफ्त में अनाज देने वाली स्कीम, गरीब कल्याण अन्न योजना (PMGKAY) की अवधि को केंद्र सरकार ने तीन महीने यानी दिसंबर 2022 तक बढ़ा दी है.

PMGKAY: गरीबों को मुफ्त में अनाज देने वाली स्कीम गरीब कल्याण अन्न योजना (PMGKAY) की अवधि केंद्र सरकार ने तीन महीने यानी दिसंबर 2022 तक बढ़ा दी है. इसपर 44,700 करोड़ रुपये की लागत आएगी. माना जा रहा है कि बढ़ती महंगाई से गरीबों को कुछ राहत देने के साथ ही गुजरात विधानसभा चुनाव को ध्यान में रखते हुए सरकार ने यह निर्णय लिया है. यह योजना 30 सितंबर को खत्म होने वाली थी. इस स्कीम से देश के 80 करोड़ लोगों को सीधे फायदा पहुंचता है.

7th Pay Commission: केंद्रीय कर्मचारियों को दिवाली गिफ्ट, DA में 4% हुआ इजाफा, अब कितनी बढ़ जाएगी सैलरी

क्या है इस स्कीम के फायदे

इस योजना के तहत 80 करोड़ गरीबों को पांच किलो गेहूं और चावल हर महीने दिया जाता है. कोरोना वायरस महामारी की रोकथाम के लिये देशव्यापी ‘लॉकडाउन’ से प्रभावित गरीबों को राहत देने के लिये प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना अप्रैल, 2020 में लाई गई थी. सूचना और प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने मंत्रिमंडल की बैठक के बाद कहा कि योजना शुक्रवार को समाप्त हो रही थी. इसे अक्टूबर से दिसंबर, 2022 तक के लिये बढ़ाया गया है. उन्होंने आगे बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल ने बुधवार को एक बैठक में इस योजना को तीन महीने और बढ़ाने का फैसला किया.

Tata Tiago EV: सबसे सस्ती इलेक्ट्रिक कार भारत में लॉन्च, शुरुआती कीमत 8.49 लाख रुपये, मिलेंगे बेहतरीन फीचर्स

अप्रैल 2020 में शुरू हुई थी स्कीम

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना (PMGKAY) अप्रैल 2020 में कोरोना महामारी के बीच गरीबों की मदद के लिए शुरू की गई थी. ठाकुर ने आगे कहा कि सरकार ने अप्रैल 2020 में PMGKAY स्कीम शुरू होने के बाद से अब तक 3.45 लाख करोड़ रुपये खर्च किए हैं. उन्होंने कहा कि इस स्कीम को 3 महीने के लिए बढ़ाने से सरकार पर लगभग 44,762 करोड़ रुपये का भार पड़ेगा. इस तरह, इस स्कीम पर कुल खर्च बढ़कर लगभग 3.91 लाख करोड़ रुपये हो जाएगा. उन्होंने यह भी कहा कि एक अक्टूबर से तीन महीने में गरीबों को 122 लाख टन खाद्यान्न मुफ्त दिया जाएगा.

(इनपुट-पीटीआई)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

TRENDING NOW

Business News