सर्वाधिक पढ़ी गईं

Black Fungus को राज्य घोषित करें महामारी, स्वास्थ्य मंत्रालय को दें हर मामले की रिपोर्ट: केंद्र

Black Fungus in India: केंद्र सरकार ने राज्य सरकारों से म्यूकर माइकोसिस यानी ब्लैक फंगस को एपिडेमिक डिजीज एक्ट 1897 के तहत एक महामारी घोषित करने का आग्रह किया है.

May 20, 2021 3:15 PM
Black Fungus in IndiaBlack Fungus in India: केंद्र सरकार ने राज्य सरकारों से म्यूकर माइकोसिस यानी ब्लैक फंगस को एपिडेमिक डिजीज एक्ट 1897 के तहत एक महामारी घोषित करने का आग्रह किया है.

Black Fungus: केंद्र सरकार ने राज्य सरकारों से कहा है कि वह म्यूकर माइकोसिस (mucormycosis) यानी ब्लैक फंगस को एपिडेमिक डिजीज एक्ट 1897 के तहत एक महामारी घोषित करने का आग्रह किया है. राज्यों से कहा गया है कि वह हर एक मामले की रिपोर्ट जरूर करें. स्वास्थ्य मंत्रालय के एक लेटर में राज्यों को कहा गया है कि एपिडेमिक डिजीज एक्ट के तहत इसे दुर्लभ लेकिन संभावित घातक संक्रमण वाली बीमारी घोषित करने को कहा गया है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि सभी सरकारी, निजी स्वास्थ्य केंद्र और मेडिकल कॉलेज MoHFW और ICMR द्वारा जारी दिशानिर्देशों का पालन करेंगे.

सभी कंफर्म या संदिग्ध मामले की सूचना

इसका मतलब है कि ब्लैक फंगस के सभी कंफर्म या संदिग्ध मामले की सूचना स्वास्थ्य मंत्रालय को देनी होगी. स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने राज्यों को लिखे पत्र में कहा ​है कि सभी सरकारी और निजी स्वास्थ्य सेवाओं और मेडिकल कॉलेजों को ब्लैक फंगस की जांच, डाइग्नोसिस, प्रबंधन के लिए ICMR और Mohfw के दिशानिर्देशों का पालन करना होगा. बता दें कि इन दिनों कोविड 19 के साथ साथ ब्लैक फंगस भी जानलेवा बन गया है, जो स्वास्थ्य मंत्रालय के लिए चिंता का बड़ा विषय है.

इन राज्यों ने घोषित किया

इससे पहले राजस्थान, तेलंगाना ने महामारी कानून के तहत ब्लैक फंगस को अधिसूच्य रोग घोषित कर दिया था. तेलंगाना सरकार ने कोविड-19 से उबरे मरीजों को निशाना बना रहे ब्लैक फंगस (म्यूकर माइकोसिस) को महामारी रोग कानून 1897 के तहत एक अधिसूच्य रोग घोषित किया है. राजस्थान सरकार ने राजस्थान महामारी अधिनियम 2020 की धारा 3 की सहपठित धारा 4 के तहत म्यूकर माइकोसिस (ब्लैक फंगस) को संपूर्ण राज्य में महामारी व अधिसूचनीय रोग अधिसूचित किया गया है.

ब्लैक फंगस का बढ़ रहा है खतरा

देश में ब्लैक फंगस का खतरा बढ़ रहा है. इसने अबतक कई मरीजों की जान ले ली है. कोरोना वायरस के संक्रमण की वजह से देश में ब्लैक फंगस का खतरा बढ़ा है. ब्लैक फंगस रोग के संक्रमण को देखते हुए दिल्ली स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) ने कुछ दिशा निर्देश भी जारी किए हैं जिनके जरिए रोगी में ब्लैक फंगस संक्रमण की पहचान की जा सकती है. यह भी बताया है कि ब्लैक फंगस होने पर रोगी क्या कदम उठाएं.

AIIMS के दिशा निर्देशों के अनुसार ब्लैक फंगस के लक्ष्ण जांचने के लिए लगातार अपने चेहरे का निरीक्षण करते रहें और देखते रहें कि चेहरे पर कोई सूजन (खासकर नाक, आंख या गाल पर) तो नहीं है या फिर किसी भाग को छूने पर दर्द हो रहा हो। इसके अलावा अगर दांत गिर रहे हों या मुंह के अंदर सूजन तथा काला भाग दिखे तो सतर्क रहें।

दिल्ली में विशिष्ट केंद्र, महाराष्ट्र में 90 डेथ

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली सरकार एलएनजेपी, आरजीएसएसएच, जीटीबी अस्पताल में ब्लैक फंगस के इलाज के लिए विशिष्ट केंद्र स्थापित करेगी. तमिलनाडु ने भी अपने सार्वजनिक स्वास्थ्य अधिनियम के तहत इस बीमारी को अधिसूचित किया है. राज्य में अब तक 9 मामले पाए गए हैं. वहीं महाराष्ट्र में म्यूकर माइकोसिस से अब तक करीब 90 लोगों की मौत हो चुकी है. म्यूकर माइकोसिस के मामले पिछले साल कोरोना वायरस संक्रमण की शुरूआत के बाद से आने शुरू हुए हैं.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. Black Fungus को राज्य घोषित करें महामारी, स्वास्थ्य मंत्रालय को दें हर मामले की रिपोर्ट: केंद्र

Go to Top