सर्वाधिक पढ़ी गईं

कोरोना महामारी की दूसरी लहर के बाद सरकार अर्थव्यवस्था के लिए उठा सकती है कदम, जानें CEA के वी सुब्रमण्यम ने नए आर्थिक पैकेज पर क्या कहा

मुख्य आर्थिक सलाहकार (CEA) के वी सुब्रमण्यम ने कहा है कि सरकार कोरोना वायरस की दूसरी लहर से प्रभावित अर्थव्यवस्था को प्रोत्साहन के लिए और उपाय कर सकती है.

June 20, 2021 7:45 PM
government may take some steps for economy after second wave of covid-19 says CEA kv Subramanianमुख्य आर्थिक सलाहकार (CEA) के वी सुब्रमण्यम ने कहा है कि सरकार कोरोना वायरस की दूसरी लहर से प्रभावित अर्थव्यवस्था को प्रोत्साहन के लिए और उपाय कर सकती है.

मुख्य आर्थिक सलाहकार (CEA) के वी सुब्रमण्यम ने कहा है कि सरकार कोरोना वायरस की दूसरी लहर से प्रभावित अर्थव्यवस्था को प्रोत्साहन के लिए और उपाय कर सकती है. हालांकि, इसके साथ ही सुब्रमण्यम ने कहा कि नए प्रोत्साहन पैकेज की मांग पर विचार वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा बजट 2021-22 में किए गए विभिन्न उपायों को देखते हुए किया जाएगा. कुछ उद्योग संगठनों ने सुझाव दिया है कि अप्रैल-मई में महामारी की दूसरी लहर से प्रभावित अर्थव्यवस्था को उबारने के लिए सरकार को तीन लाख करोड़ रुपये का प्रोत्साहन पैकेज देना चाहिए. सुब्रमण्यम की यह प्रतिक्रिया इन्हीं सुझावों पर आई है.

रिजर्व बैंक के एक आकलन के मुताबिक, महामारी की दूसरी लहर से देश को करीब दो लाख करोड़ रुपये के उत्पादन का नुकसान हुआ है. सुब्रमण्यम ने कहा कि पिछले साल भी हम और उपायों के लिए तैयार थे. लेकिन मुझे लगता है कि जब हम प्रोत्साहन पैकेज की बात कर रहे हैं, तो पिछले साल और इस साल में काफी अंतर है. उन्होंने चीजों को स्पष्ट करते हुए कहा कि पिछला बजट महामारी से पहले पेश हुआ था. लेकिन इस बार का बजट महामारी के बीच पेश किया गया है. इसमें काफी चीजों को पहले ही शामिल कर लिया गया है.

अर्थव्यवस्था की रिकवरी की रफ्तार बढ़ाना मकसद: CEA

उन्होंने कहा कि मुख्य रूप से बुनियादी ढांचा खर्च पर ध्यान दिया जा रहा है. इससे निर्माण गतिविधियां बढ़ती हैं और अंतत: असंगठित क्षेत्र में रोजगार पैदा होता है. पिछले वित्त वर्ष की जनवरी-मार्च तिमाही में ऐसा देखने को मिला. उन्होंने कहा कि सरकार की ओर से उल्लेखनीय पूंजीगत खर्च से चौथी तिमाही में निर्माण क्षेत्र में 15 फीसदी की वृद्धि हुई.

घर से काम करते समय इन बातों का रखें ध्यान, तो Work For Health में बदल सकता है Work From Home

सुब्रमण्यम ने कहा कि अंतिम उद्देश्य यह सुनिश्चित करना है कि अर्थव्यवस्था की रिकवरी रफ्तार पकड़ सके. उन्होंने कहा कि इसे सुनिश्चित करने के लिए सरकार को जो करने की जरूरत होगी, वह करेगी. गरीबों के लिए खाद्य सुरक्षा पर सीईए ने कहा कि सरकार ने पहले ही 80 करोड़ आबादी के लिए मुख्य खाद्य कार्यक्रम का नवंबर तक विस्तार कर दिया है. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के विस्तार की लागत 70,000 करोड़ रुपये बैठेगी. सुब्रमण्यम ने कहा कि मुफ्त टीका एक और महत्वपूर्ण आर्थिक उपाय है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. कोरोना महामारी की दूसरी लहर के बाद सरकार अर्थव्यवस्था के लिए उठा सकती है कदम, जानें CEA के वी सुब्रमण्यम ने नए आर्थिक पैकेज पर क्या कहा

Go to Top