scorecardresearch

Export Duty Hike: सरकार ने पेट्रोल-डीजल और ATF पर एक्सपोर्ट ड्यूटी बढ़ाई, आम आदमी पर क्या होगा असर

एक्सपोर्ट ड्यूटी बढ़ाने के पीछे सरकार का मकसद घरेलू बाजार में पेट्रोल-डीजल और ATF जैसे फ्यूल की उपलब्धता बढ़ाना है.

केंद्र सरकार ने पेट्रोल-डीजल और ATF के एक्सपोर्ट पर एक्साइज ड्यूटी बढ़ा दी है. (reuters)

Export Duty on Petrol-Diesel, ATF: केंद्र सरकार ने पेट्रोल-डीजल और ATF के एक्सपोर्ट पर एक्साइज ड्यूटी बढ़ा दी है. पेट्रोल पर 5 रुपए प्रति लीटर तो वहीं डीजल पर 12 रुपये प्रति लीटर तक एक्सपोर्ट ड्यूटी बढ़ी है. ATF (Aviation Turbine Fuel) के एक्सपोर्ट पर 6 रुपए प्रति लीटर सेंट्रल एक्साइज ड्यूटी बढ़ाई गई है. एक्सपोर्ट ड्यूटी बढ़ाने के पीछे सरकार का मकसद घरेलू बाजार में पेट्रोल-डीजल और ATF जैसे फ्यूल की उपलब्धता बढ़ाना है. यानी यह आम आदमी के लिए लिहाज से पॉजिटिव कदम है. सरकार के इस कदम से घरेलू बाजार में फ्यूल की कीमतों पर कोई असर नहीं होगा.

इसका क्या असर होगा

देश में फ्यूल की कमी ना हो इसे सुनिश्चित करने के लिए सरकार की ओर से यह फैसला लिया गया है. इससे घरेलू बाजार में कीमतों पर नियंत्रण रखने में भी मदद मिलेगी. यानी घरेलू बाजार में फ्यूल की कीमतों पर कोई असर नहीं होगा. सरकार ने निर्यातकों को अपने 50 फीसदी पेट्रोल को घरेलू बाजार में बेचने के निर्देश दिए हैं. वहीं 30 फीसदी डीजल को भी घरेलू बाजार में बेचने का निर्देश दिया है. इस कदम से सरकार को भी महंगे क्रूड के दौर में फायदा होता दिख रहा है. इससे घरेलू बाजार में ईंधन की खपत को पूरा करने में मदद मिलेगी.

कीमतें बढ़ने का था डर

असल में कंपनियां पिछले कुछ समय से ज्यादा एक्सपोर्ट कर रही थीं. एक्सपोर्ट करने से घरेलू बाजार में तेल कम पड़ जा रहा था और इससे कीमतों में बढ़ोतरी का डर था. सरकार के इस फैसले से कीमतों को नियंत्रित रखने में मदद मिलेगी, वहीं इसका लाभ आम आदमी को भी मिलेगा. वहीं, सरकार ने घरेलू स्तर पर क्रूड आयल के उत्पादन पर 23,230 रुपये प्रति टन अतिरिक्त टैक्स लगाया है. इससे हाई इंटरनेशनल आयल प्राइस से प्रोड्यूसर्स को होने वाले अप्रत्याशित लाभ को दूर किया जा सके.

Gold पर इंपोर्ट ड्यूटी बढ़ी

सरकार ने आज यानी 1 जुलाई 2022 से सोने पर आज से इंपोर्ट ड्यूटी में 5 फीसदी इजाफा कर दिया है. यानी अब सोना इंपोर्ट करना पहले से 5 फीसदी महंगा होगा. बुलियन एक्सपर्ट का मानना है कि इससे फिलिकल मार्केट में भी सोने का भाव प्रति 10 ग्राम कम से कम 1000 रुपये के आस पास बढ़ सकता है. बता दें कि अबतक सोने पर इंपोर्ट ड्यूटी 7.5 फीसदी थी जो अब बढ़कर 12.5 फीसदी हो जाएगी. पिछले साल सरकार ने बजट में इंपोर्ट ड्यूटी में कटौती की थी. सोने और चांदी पर पहले 12.5 फीसदी की इंपोर्ट ड्यूटी थी, जिसे बजट 2021 में कम करके 7.5 फीसदी कर दिया गया था.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

Most Read In India News

TRENDING NOW

Business News