मुख्य समाचार:

केनरा बैंक, बैंक ऑफ महाराष्ट्र का कर्ज हुआ सस्ता; MCLR में कटौती, EMI होगी कम

BoM ने बयान जारी कहा है कि आर्थिक ग्रोथ और औद्योगिक विकास को बढ़ावा देने के लिए MCLR में कटौती की गई है.

Published: July 6, 2020 6:25 PM
Canara Bank Bank of Maharashtra cuts MCLR by up to 20 basis points EMI comes downBoM ने बयान जारी कहा है कि आर्थिक ग्रोथ और औद्योगिक विकास को बढ़ावा देने के लिए MCLR में कटौती की गई है.

सरकारी क्षेत्र के केनरा बैंक और बैंक ऑफ महाराष्ट्र (BoM) ने कर्ज की दरों में कटौती की है. सोमवार को MCLR आधारित लेंडिंग रेट में केनरा बैंक ने 0.10 फीसदी और बैंक ऑफ महाराष्ट्र में 0.20 फीसदी की कटौती की है. सभी कटौती सभी अवधि के लोन के लिए है. संशोधित दरें 7 जुलाई से प्रभावी हो जाएंगी. उधारी दरों में कटौती के बाद होम लोन, आटो लोन और पर्सनल लोन की EMI कम हो जाएगी.

केनरा बैंक की ओर से जारी बयान के अनुसार, बैंक की एक साल की अवधि के लिए एमसीएलआर 7.65 फीसदी से घटाकर 7.55 फीसदी कर दिया है. ओवरनाइट और एक महीने की अवधि वाली उधारी दरें भी 0.10 फीसदी घटकर 7.20 फीसदी रह गई हे. इसी तरह, तीन महीने का एमसीएलआर 7.55 फीसदी से घटकर 7.45 फीसदी रह गया है.

बैंक ऑफ महाराष्ट्र (BoM) ने एक साल की एमसीएलआर 7.70 फीसदी से घटाकर 7.50 फीसदी कर दिया है. बैंक के ओवरनाइट, एक महीने और तीन महीने की अवधि के एमसीएलआर घटकर क्रमश: 7 फीसदी, 7.10 फीसदी और 7.20 फीसदी रह गए है. इसी तरह, बैंक ने छह महीने की अवधि के एमसीएलआर को 7.50 फीसदी से घटाकर 7.30 फीसदी कर दिया है.

BoM ने बयान जारी कहा है कि आर्थिक ग्रोथ और औद्योगिक विकास को बढ़ावा देने के लिए एमसीएलआर में कटौती की गई है. बैंक ने लगतारा चौथे महीने एमसीएलआर में कटौती की है.

HDFC, SBI ने भी घटाया था लेंडिंग रेट

पिछले महीने हाउसिंग फाइनेंस कंपनी HDFC ने अपने कर्ज की ब्याज दर में 20 बेसिस प्वॉइंट्स (0.20%) की कटौती की थी. कंपनी ने रिटेल प्राइम लेंडिंग रेट (RPLR) में कटौती करती है, जिस पर उसके एडजस्टेबल रेट होम लोन (ARHL) बेंचमार्क हैं. यह कटौती 0.20% की है और 12 जून 2020 से लागू होगी. इससे पहले, इससे पहले, SBI ने अपनी कर्ज की दरों में एक बार फिर कटौती की. बैंक ने सभी टेन्योर के कर्ज पर MCLR 0.25 फीसदी घटाया. इस कटौती के बाद SBI में एक साल की अवधि वाले कर्ज के लिए MCLR 7.25 फीसदी से घटकर 7 फीसदी पर आ गई है. नई कर्ज दरें 10 जून से प्रभावी है. यह बैंक द्वारा MCLR में लगातार 13वीं कटौती है.

RBI ने घटाया था रेपो रेट 

बैंकिंग व्यवस्था में पिछले कुछ महीनों में कर्ज की ब्याज दरों में गिरावट हुई है. यह सरकार और रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) की ओर से सुस्त होती अर्थव्यवस्था को ठीक करने के लिए साथ में मिलकर लिए गए कदमों के बाद की गई है. आरबीआई ने पिछले महीने रेपो रेट में 0.40 फीसदी की कटौती की थी जिसके बाद यह 4 फीसदी के निचले स्तर पर आ गया. इसके पहले मार्च में भी रेपो रेट में 0.75 फीसदी की कटौती की गई थी.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. केनरा बैंक, बैंक ऑफ महाराष्ट्र का कर्ज हुआ सस्ता; MCLR में कटौती, EMI होगी कम

Go to Top