मुख्य समाचार:

वित्त मंत्री पर मनमोहन सिंह का पलटवार: 5 साल हो चुके हैं पूरे, अब UPA पर आरोप लगाना बंद करें

पूर्व PM वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की पिछली सरकार पर की गई टिप्पणी को लेकर पूछे गए सवाल का जवाब दे रहे थे.

October 17, 2019 11:03 PM
former PM Manmohan Singh responds to Finance minister nirmala sitharaman: Stop blaming UPA for every economic crisisImage: Reuters

मोदी सरकार पर पलटवार करते हुए पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने बृहस्पतिवार को कहा कि केन्द्र में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन की सरकार को पांच साल से अधिक समय हो चुका है. इसलिए मोदी सरकार को हर आर्थिक संकट के लिए पिछली संप्रग सरकार को दोष देना बंद करना चाहिए और समस्याओं के समाधान पर ध्यान देना चाहिए

मनमोहन एक संवाददाता सम्मेलन में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की पिछली सरकार पर की गई टिप्पणी को लेकर पूछे गए सवाल का जवाब दे रहे थे. सीतारमण ने अपनी अमेरिका यात्रा के दौरान कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और रिजर्व बैंक के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन के कार्यकाल के दौरान भारतीय बैंकिंग क्षेत्र बुरे दौर में पहुंचा है.

सिंह ने स्वीकार किया कि उनके कार्यकाल में कुछ कमजोरियां रहीं लेकिन राजग सरकार को संप्रग की उन गलतियों से सीख लेते हुए विश्वसनीय समाधान उपलब्ध कराना चाहिए. नीरव मोदी और अन्य ऋण बकाएदारों को सार्वजनिक धन लेकर नहीं भागना चाहिए या बैंकों की स्थिति ‘बद से बदतर’ नहीं होनी चाहिए थी.

साढ़े 5 साल वादे पूरे करने के लिए काफी

सिंह ने कहा, ‘‘आप (सरकार) साल दर साल यह नहीं कह सकते कि संप्रग ने गलतियां कीं. सत्ता में आपको साढ़े पांच साल हो चुके हैं. किसी सरकार के अपने सार्वजनिक कल्याण के वादों को पूरा करने के लिए यह पर्याप्त समय होता है. हर बात का दोषारोपण संप्रग पर करने से देश की समस्याओं का कोई समाधान नहीं निकलेगा.’’

अपने 2004 से 2014 के शासन के बारे में सिंह ने कहा, ‘जो हुआ सो हुआ, कुछ कमजोरी रही होगी. लेकिन इस सरकार को सत्ता में साढ़े पांच साल हो चुके हैं, इसे हमारी गलतियों से सीख लेनी चाहिए और उन समस्याओं का विश्वसनीय समाधान पेश करना चाहिए जिनका सामना अब भी देश कर रहा है.’ सिंह ने कहा कि दोषारोपण से आपको कुछ बढ़त तो मिल सकती है लेकिन हमारे देश की मानवता जिन समस्याओं से जूझ रही है, इससे उसका समाधान नहीं निकलेगा.

अगले दो हफ्तों में 5 दिन बंद रहेंगे बैंक, लिस्ट चेक कर निपटा लें जरूरी काम

कॉरपोरेट टैक्स में कटौती का किया स्वागत

इससे पहले सिंह ने सरकार के कॉरपोरेट टैक्स में कटौती के कदम का स्वागत किया. देश में मांग बढ़ाने के लिए उन्होंने सरकार को अप्रत्यक्ष करों में कटौती करने का सुझाव दिया. उन्होंने आर्थिक माहौल में गिरावट के लिए मोदी सरकार पर दोष मढ़ते हुए कहा कि राजकाज संचालन में दोहरे इंजन का नमूना असफल हो गया. आर्थिक सुस्ती के इस दौर में सरकार की सुस्ती और अक्षमता के कारण लाखों भारतीयों का भविष्य और उनकी आकांक्षाएं प्रभावित हो रहीं हैं.

कृषि क्षेत्र में कई तरह की समस्याएं हुईं खड़ी

मनमोहन ने कहा कि साल दर साल आर्थिक वृद्धि में गिरावट आ रही है और ऐसे में सरकार के वादे के मुताबिक 2024 तक भारत को पांच हजार अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने की उम्मीद पूरी नहीं हो सकती. मनमोहन ने यह भी कहा कि मुद्रास्फीति को दायरे में व्यवस्थित रखने की एक धुन के कारण कृषि क्षेत्र में कई तरह की समस्याएं खड़ी हो गई हैं. इसकी वजह से महाराष्ट्र आज आत्महत्याओं की राजधानी बन गया है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. वित्त मंत्री पर मनमोहन सिंह का पलटवार: 5 साल हो चुके हैं पूरे, अब UPA पर आरोप लगाना बंद करें

Go to Top