मुख्य समाचार:

गणेश की मूर्तियां चीन से क्यों हो रही हैं आयात? जब वित्त मंत्री सीतारमण ने खुद पूछे ये सवाल

वित्त मंत्री ने कहा, आत्मनिर्भर भारत अभियान का मतलब यह नहीं है कि आयात बिल्कुल नहीं होना चाहिए. आर्थिक ग्रोथ और रोजगार सृजन के लिए जो जरूरी है, अयात करें.

Published: June 25, 2020 7:33 PM
ganesh idol, ganesh idol import from china, finance minister, Nirmala Sitharaman, Nirmala Sitharaman with BJP workers, atmanirbhar bharat, atmanirbhar bharat abhiyan, atmanirbhar bharat abhiyan package, india import from china, china ipmort from indiaवित्त मंत्री ने साबुन रखने का डिब्बा, प्लास्टिक के सामान, अगरबत्ती जैसे सामान के आयात पर आश्चर्य जताया. (Representational Image)

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने गुरुवार को भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ एक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में भगवान गणेश की मूर्तियां चीन से आयात होने पर आश्चर्य जताया. वित्त मंत्री ने कहा कि आर्थिक वृद्धि को गति देने के लिए आयात करने में कुछ भी गलत नहीं है, पर गणेश की मूर्तियों का चीन से आयात किया जाना समझ से परे है. उन्होंने कहा कि जो कच्चा माल देश में उपलब्ध नहीं है और उद्योग को उसकी जरूरत है, उसके आयात में कोई समस्या नहीं है. उन्होंने केंद्र सरकार की ‘आत्मनिर्भर भारत अभियान’ पहल के बारे में कहा, ‘‘जो आयात उत्पादन को गति दे और रोजगार के अवसर बढ़ाए, उसमें कोई दिक्कत नहीं है. इस प्रकार का आयात किया जा सकता है.’’ वित्त मंत्री ने कहा कि हालांकि, अगर आयात रोजगार अवसर को नहीं बढ़ाता है और आर्थिक वृद्धि की मदद नहीं करता है, उससे आत्मनिर्भर होने और भारतीय अर्थव्यवस्था को कोई लाभ नहीं होगा.

उन्होंने कहा कि गणेश की मूर्ति मिट्टी से बनती है और हर साल गणेश चतुर्थी के मौके पर स्थानीय कुम्हारों से इसे हम खरीदते रहे हैं. सीतारमण ने कहा, ‘‘लेकिन आज, आखिर क्यों गणेश की मूर्तियां भी चीन से आयात हो रही हैं… ऐसी स्थिति क्यों है…क्या हम मिट्टी से गणेश की मूर्ति नहीं बना सकते…?’’ उन्होंने साबुन रखने का डिब्बा, प्लास्टिक के सामान, अगरबत्ती जैसे सामान के आयात पर आश्चर्य जताया.

घरेलू उत्पादन से MSME को बढ़ावा

वित्त मंत्री ने कहा कि इस प्रकार के उत्पादों का स्थानीय स्तर पर घरेलू कंपनियों और सूक्ष्म, लघु एवं मझोले उद्यमों (एमएसएमई) के विनिर्माण करने पर आत्म निर्भरता को बढ़ावा मिलेगा.जो चीजें स्थानीय तौर पर उपलब्ध हैं, उसके आयात की जो स्थिति है, उसमें बदलाव की जरूरत है. आत्मनिर्भर अभियान के पीछे मूल मकसद यही है कि हम आत्मनिर्भर बनें. उन्होंने कहा, ‘‘आत्म निर्भर भारत अभियान का मतलब यह नहीं है कि आयात बिल्कुल नहीं होना चाहिए.’’ सीतारमण ने कहा कि औद्योगिक वृद्धि और रोजगार सृजन के लिये आप जो भी जरूरत है, अयात करें.
तमिल में किया संबोधन

तमिल में अपने संबोधन में उन्होंने अपनी पार्टी के दोबारा से केंद्र में सरकार बनाने के बाद पिछले एक साल में सरकार की उपलब्धियों का उल्लेख किया. उन्होंने हवलदार के पलानी की बहादुरी की सराहना करते हुए उन्हें श्रद्धांजलि दी. तमिलनाडु के पलानी उन 20 सैनिकों में शामिल थे जो लद्दाख में 15 जून को चीनी सैनिकों के साथ झड़प में शहीद हुए.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. गणेश की मूर्तियां चीन से क्यों हो रही हैं आयात? जब वित्त मंत्री सीतारमण ने खुद पूछे ये सवाल

Go to Top