सर्वाधिक पढ़ी गईं

वित्तीय घाटे के मोर्चे पर मोदी सरकार को झटका, अप्रैल-नवंबर में बजट लक्ष्य का हुआ 115%

राजकोषीय घाटा सरकार के रेवेन्यु और खर्च के बीच का अंतर होता है.

December 27, 2018 6:58 PM
Fiscal deficit touches 115 pc of FY target during Apr-Novअप्रैल-नवंबर अवधि में देश का राजकोषीय घाटा 7.17 लाख करोड़ रुपये दर्ज किया गया.

चालू वित्त वर्ष की अप्रैल-नवंबर अवधि में देश का राजकोषीय घाटा (फिस्कल डेफिसिट) 7.17 लाख करोड़ रुपये दर्ज किया गया. यह पूरे साल के बजटीय लक्ष्य का 114.8 फीसदी हो गया है. इसका मुख्य कारण रेवेन्यु की ग्रोथ रेट कम होना है. राजकोषीय घाटा सरकार के रेवेन्यु और खर्च के बीच का अंतर होता है.

बजट में पूरे साल में कुल 6.24 लाख करोड़ रुपये के वित्तीय घाटे का लक्ष्य रखा गया था. नवंबर 2017 के अंत में घाटा बजट लक्ष्य का 112 फीसदी था. सरकार ने बजट में 2018-19 में वित्तीय घाटे को जीडीपी का 3.3 फीसदी रखा जाना निर्धारित किया था. वित्त वर्ष 2017-18 में राजकोषीय घाटा जीडीपी का 3.53 फीसदी था.

8.7 लाख करोड़ का आया रेवेन्यु

कंट्रोलर जनरल ऑफ अकाउंट्स (CGA) द्वारा गुरुवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक, सरकार को नवंबर 2018 तक 8.7 लाख करोड़ रुपये का रेवेन्यु हासिल हुआ है, जो 2018-19 के बजट लक्ष्य का 50.4 फीसदी है. पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि में रेवेन्यु बजट लक्ष्य का 53.1 फीसदी रहा था. सरकार ने चालू वित्त वर्ष में 17.25 लाख करोड़ रुपये का रेवेन्यु हासिल करने का लक्ष्य रखा है.

कितना आया टैक्स से रेवेन्यु

अप्रैल-नवंबर के दौरान सरकार के पास टैक्स से आया रेवेन्यु बजट अनुमान का 49.4 फीसदी रहा, जबकि पिछले साल की इसी अवधि में यह 57 फीसदी रहा था.

नवंबर अंत तक इतना रहा सरकार का खर्च

CGA डाटा के मुताबिक, नवंबर अंत तक सरकार का कुल खर्च 16.13 लाख करोड़ रुपये रहा, जो बजट अनुमान का 66.1 फीसदी है. यह पिछले साल की समान अवधि से ज्यादा है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. वित्तीय घाटे के मोर्चे पर मोदी सरकार को झटका, अप्रैल-नवंबर में बजट लक्ष्य का हुआ 115%

Go to Top