मुख्य समाचार:

Rafale in India: 29 जुलाई को 5 राफेल लड़ाकू विमान भारत पहुंचेंगे, परमाणु हमला करने में हैं सक्षम

Rafale News: अत्‍याधुनिक मिसाइलों और घातक बमों से लैस फाइटर जेट राफेल की पहली खेप फ्रांस मेरिनेक एयरबेस से रवाना हो चुका है.

Updated: Jul 27, 2020 3:42 PM
Rafale Jets to arrive in Indiaसमझौते के 4 साल बाद राफेल की पहली खेप भारत को मिली है. (तस्वीर: फ्रांस में भारतीय दूतावास का ट्वीट)

5 Rafale fighter jets to arrive from France in India: चीन और पाकिस्तान की नाकाप हरकतों का माकूल जवाब दे रहे भारत की सैन्य ताकत अब और अभेद, सुरक्षात्मक व घातक बनने जा रही है. ऐसा इसलिए क्योंकि अत्‍याधुनिक मिसाइलों और घातक बमों से लैस भारतीय वायुसेना के सबसे घातक फाइटर जेट राफेल की पहली भारत को मिल गई है.  परमाणु हमला करने में सक्षम ये विमान 29 जुलाई को भारत की सरजमीं पर लैंड करेंगे. फ्रांस के मेरिनेक एयरबेस से 5 राफेल फाइटर विमानों का पहला बैच रवाना हो चुका है. रॉफेल जेट के पहली स्क्वाड्रन को अंबाला एयर बेस पर तैनात किया जाएगा. हालांकि, इंडियन एयरफोर्स के प्रवक्ता ने कहा कि राफेल जेट की अगस्त में एक फॉर्मल इंडक्शन सेरेमनी की जाएगी.

राफेल विमानों के रवाना होने से पहले फ्रांस में भारतीय दूतावास ने इन विमानों और इंडियन एयरफोर्स के जाबांज पायलटों की तस्‍वीर भी जारी की है. ये विमान 29 जुलाई को अंबाला एयरफोर्स स्टेशन पर पहुंचेंगे. मोदी सरकार ने फ्रांस सरकार के साथ 36 राफेल विमानों की खरीद के लिए 59,000 करोड़ रुपये में डील की है. इस दोनों सरकार के बीच इस बाबत समझौते पर हुए दस्तखत के करीब चार साल बाद राफेल विमान की पहली खेप भारत को मिल रही है. इसके भारतीय वायुसेना के बेड़े की ताकत में काफी इजाफा होगा. हाल में पूर्वी लद्दाख में चीन के साथ हुई झड़प जैसे मामले में अब निपटने में इंडियन एयरफोर्स अधिक समक्ष हो पाएगी.

आधिकारिक सूत्रों के अनुसार, राफेल जेट की तैनाती लद्दाख सेक्टर में की जा सकती है. एलएसी पर चीन के साथ सीमा विवाद के मद्देनजर भारतीय वायुसेना की आपरेशनल क्षमता बढ़ाने की कोशिश के तहत यह कदम उठाया जाएगा.

7000 किमी की दूरी तय करेंगे राफेल 

फ्रांस में भारतीय दूतावास की ओर से जारी बयान के अनुसार, राफेल जेट फ्रांस से भारत की करीब 7000 किमी की दूरी तय करेंगे. रास्ते में वह यूएई में एकबार रुकेंगे. अक्टूबर 2019 में डसॉल्ट एविएशन ने पहले राफेल जेट को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की मौजूदगी में भारतीय वायुसेना को सौंपा था. 2021 अंत तक सभी 36 राफेल जेट की डिलिवरी कर दी जाएगी. डसॉल्ट की ओर से भारतीय वायुसेना पायलट और सभी सपोर्टिंग स्टॉफ को एयरक्रॉफ्ट और वैपन सिस्टम की पूरी ट्रेनिंग दी जा चुकी है.

 


(Input: PTI)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. Rafale in India: 29 जुलाई को 5 राफेल लड़ाकू विमान भारत पहुंचेंगे, परमाणु हमला करने में हैं सक्षम

Go to Top