सर्वाधिक पढ़ी गईं

सरकारी बैंकों के निजीकरण की कोई योजना नहीं: अरुण जेटली

वित्तमंत्री अरुण जेटली ने कहा कि सरकारी बैंकों (पीएसबी) के निजीकरण की कोई योजना नहीं है, क्योंकि इस पर राजनीतिक सहमति नहीं बन पा रही है.

February 25, 2018 10:51 AM
Government Banks, PNB Fraud, Privatization of Banks, arun jaitley, ficci, finance ministryवित्तमंत्री अरुण जेटली ने कहा कि सरकारी बैंकों (पीएसबी) के निजीकरण की कोई योजना नहीं है, क्योंकि इस पर राजनीतिक सहमति नहीं बन पा रही है. (IANS)

पंजाब नेशनल बैंक में आरोपी हीरा व्यापारी नीरव मोदी द्वारा किए गए 11,300 करोड़ रुपये के घोटाले के बाद वित्तमंत्री अरुण जेटली ने शनिवार को कहा कि सरकारी बैंकों (पीएसबी) के निजीकरण की कोई योजना नहीं है, क्योंकि इस पर राजनीतिक सहमति नहीं बन पा रही है. पीएनबी घोटाले का भंडाफोड़ 14 फरवरी को हुआ थी, जिसमें भारतीय बैंकिंग प्रणाली को हिला कर रख दिया. इसके बाद उद्योग मंडलों फिक्की, एसोचैम और सीआईआई ने सरकार से सरकारी बैंकों के निजीकरण की सिफारिश की थी.

जेटली ने ईटी वैश्विक व्यापार सम्मेलन में यहां कहा, “निजीकरण के लिए राजनीतिक सहमति की आवश्यकता होगी. साथ ही इसके लिए कानून (बैंकिंग विनियम अधिनियम) में संशोधन करना होगा। मेरा मानना है कि इस विचार पर राजनीतिक सहमति नहीं है। यह काफी चुनौतिपूर्ण फैसला होगा.” उद्योग मंडल एसोचैम ने पिछले हफ्ते कहा था कि पीएनबी घोटाले के बाद सरकार को सरकारी बैंकों का निजीकरण कर देना चाहिए, ताकि वे निजी बैंकों की तरह शेयरधारकों के प्रति जवाबदेही से काम करें और जमाकर्ताओं के हितों की सुरक्षा हो.

फेडरेशन ऑप इंडियन चैंबर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (फिक्की) ने कहा कि पिछले दशक के दौरान सरकारी बैंकों के पुनर्पूजीकरण से उनके स्वास्थ्य में सुधार पर बहुत कम असर हुआ है, इसलिए देश में ‘गतिशील बैंकिंग क्षेत्र’ बनाने के लिए उनका निजीकरण कर देना चाहिए.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. सरकारी बैंकों के निजीकरण की कोई योजना नहीं: अरुण जेटली

Go to Top