scorecardresearch

कारगिल युद्ध का हीरो ‘मिग-27’ हुआ रिटायर, जोधपुर एयरबेस से भरी आखिरी उड़ान

मिग-27 को विदाई देने के लिए भारतीय वायुसेना जोधपुर एयरफोर्स स्टेशन पर ग्रैंड सेरेमनी आयोजित की गई.

Fighter Jet MIG 27 retires from Indian Airforce after 35 years of service
Image: IAF Twitter

 

Fighter Jet MIG 27 retires from Indian Airforce after 35 years of service
Image: IAF Twitter

भारतीय वायुसेना में तीन दशक से अधिक समय तक सेवा में रहने वाले लड़ाकू विमान मिग-27 (MIG-27) ने आज आखिरी उड़ान भरी. कारगिल युद्ध और ऑपरेशन पराक्रम के हीरो कहलाने वाले मिग-27 को विदाई देने के लिए भारतीय वायुसेना ने जोधपुर एयरफोर्स स्टेशन पर ग्रैंड सेरेमनी आयोजित की.

भारतीय वायु सेना के बेड़े में 1985 में शामिल किया गया मिग-27 अत्यंत सक्षम लड़ाकू विमान है और जमीनी हमले की क्षमता का आधार रहा है. वायु सेना के सभी प्रमुख ऑपरेशन्स में भाग लेने के साथ मिग-27 नें 1999 के कारगिल युद्ध में भी एक अभूतपूर्व भूमिका निभाई थी. इस लड़ाकू विमान ने रॉकेट और बमों को दुश्मनों के ठिकानों पर एकदम सटीक निशाना लगाया था.

खासियत

मिग 27 एक रूसी सिंगल इंजन, सिंगल सीटर टैक्टीकल स्ट्राइक ग्राउंट अटैक फाइटर एयरक्राफ्ट है. इसकी मैक्सिमम स्पीड 1700 km/hr (Mach 1.6) है. यह एक 23 एमएम सिक्स बैरल रोटरी इंटीग्रल कैनन और कई रॉकेट, एयर टू सरफेस, एयर टू एयर मिसाइल्स और बम समेत 4000 किलो तक का अन्य आर्मामेंट एक्सटर्नली ढो सकता है. इसकी रेंज 2,500 km (1,550 mi; 1,350 nmi) है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

TRENDING NOW

Business News