सर्वाधिक पढ़ी गईं

Farmers’ Protest: टोल दिए बिना गुजर रहीं गाड़ियां, गोयल और तोमर ने आंदोलन के हाइजैक होने का लगाया आरोप

Farmers' Protest: किसानों ने कुछ दिनों पहले सरकार द्वारा भेजे गए प्रस्ताव को खारिज किए जाने के बाद ही इसकी घोषणा कर दी थी.

December 12, 2020 10:18 AM
farmers protest farmers closed toll today now vehicles passing without toll payment piyush goyal said leftists Maoists hijacked protestअंबाला में शंभू टोल प्लाजा से गाड़ियां बिना टोल के गुजर रही हैं.

Farmers’ Protest: किसानों ने आज कुछ टोल को बंद कर दिया है. मतलब कि यहां अब बिना टोल दिए गाड़ियां गुजर रही हैं. किसानों ने कुछ दिनों पहले सरकार द्वारा भेजे गए प्रस्ताव को खारिज किए जाने के बाद ही इसकी घोषणा कर दी थी. वहीं दूसरी तरफ कृषि कानूनों को लेकर किसानों और केंद्र के बीच अब तक कोई सहमति नहीं बन सकी है. इसे लेकर खाद्य, रेलवे व उपभोक्ता मामलों के मंत्री पीयूष गोयल ने आरोप लगाया है कि अब यह आंदोलन अधिकतर लेफ्टिस्ट्स और माओवादियों के हाथ में चला गया है जो किसानों के मुद्दे पर बात करने की बजाय अपना एजेंडा चलाना चाहते हैं. कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर का कहना है कि कुछ असामाजिक तत्व किसान आंदोलन को बदनाम करना चाहते हैं. तोमर ने किसानों से अपील की है कि वे अपने आंदोलन का गलत प्रयोग न होने दें.

यह भी पढ़ें- किसान अपनी मांग को लेकर पहुंच सुप्रीम कोर्ट

एंटी-सोशल कर रहे आंदोलन का इस्तेमाल- तोमर

तोमर ने कहा कि कुछ मीडिया रिपोर्ट्स के जरिए ऐसे पोस्टर्स सामने आए हैं, जिसमें टिकरी बॉर्डर पर आंदोलन में शामिल लोगों ने कई मामलों में बंद कुछ कार्यकर्ताओं को छोड़ने की अपील वाले पोस्टर्स दिखा रहे हैं. कृषि मंत्री के मुताबिक कुछ एंटी-सोशल एलीमेंट्स किसानों के आंदोलन का प्रयोग कर रहे हैं. उन्होंने किसानों से अपील की है कि अपने आंदोलन में एंटी-सोशल एलीमेंट्स को ना घुसने दें.

लेफ्टिस्ट्स-माओइस्ट्स कर रहे हाइजैक- गोयल

केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि भारतीय जनता जो कुछ भी हो रहा है, उसे देख रही है. लेफ्टिस्ट-माओइस्ट को देश भर में कहीं समर्थन नहीं मिल रहा है तो वे अब किसानों के आंदोलन को ही हाइजैक करने की कोशिश कर रहे हैं. गोयल ने आरोप लगाया कि ये लोग किसानों के आंदोलन का अपने एजेंडे को पूरा करने के लिए प्रयोग कर रहे हैं.

मानवाधिकार दिवस पर दिखाए गए थे पोस्टर

गुरुवार को किसान नेताओं ने जोर देकर कहा था कि कृषि कानूनों के खिलाफ उनका विरोध गैर-राजनीतिक है. उनका यह स्पष्टीकरण ऐसे समय में आया जब टिकरी बॉर्डर पर मानवाधिकार दिवस (10 दिसंबर) पर कुछ प्रोटेस्टर की ऐसी फोटोज सामने आई जिसमें वे ऐसे लेखकों, बौद्धिक और रेशनलिस्ट्स को छोड़ने की मांग कर रहे थे जिन्हें कई आरोपों में जेल में बंद किया गया है. सिंघू बॉर्डर पर प्रेस कांफ्रेंस के जरिए किसान नेताओं ने कहा कि उन्होंने सभी राजनीतिक नेताओं को अपने प्लेटफॉर्म का प्रयोग करने से मना किया है. टिकरी बॉर्डर पर उमर खालिद और सुधा भारद्वाज समेत कुछ लोगों को जेल से रिहा करने की मांग संबंधी पोस्टर दिखाए जाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि इसके बारे में उन्हें जानकारी नहीं हैं. उन्होंने कहा कि यह किसानों का मानवाधिकार दिवस मनाने का तरीका हो सकता है.

पुलिस बलों की तैनाती

किसानों ने आज के लिए टोल बंद करने की चेतावनी दी थी. इसे लेकर फरीदाबाद पुलिस ने कहा कि फरीदाबाद के सभी पांच टोल प्लाजों पर करीब 3500 पुलिस बलों को दंगा रोधी दस्तों के साथ तैनात किया जाएगा. इसके अलावा आज दिल्ली से जयपुर हाईवे ब्लॉक किए जाने की चेतावनी को लेकर एनएच48 पर करीब 2 हजार पुलिस बलों को तैनात किए जाने का फैसला लिया गया है. ऑफिशियल्स के मुताबिक पंचगांव चौक, राजीव चौक, इफको चौक और सिरहौल टोल पर समेत एक्सप्रेसवे पर पांच-छह प्वाइंट्स पर चेक प्वाइंट्स पर इन्हें तैनात किया जाएगा. हालांकि डीसीपी (हेडक्वार्ट्स) आस्था मोदी के मुताबिक जरूरत पड़ने पर पुलिस बलों की संख्या बढ़ाई जा सकती है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. Farmers’ Protest: टोल दिए बिना गुजर रहीं गाड़ियां, गोयल और तोमर ने आंदोलन के हाइजैक होने का लगाया आरोप

Go to Top