सर्वाधिक पढ़ी गईं

Farmers Protest: किसान पीछे हटने को राजी नहीं, PM ने फिर दिलाया भरोसा- नए कानून किसानों को फायदा पहुंचाने के लिए

किसानों की तरफ से सरकार से सशर्त बातचीत की पेशकश ठुकरा दी गई है. सरकार का कहना किसान अपना विरोध-प्रदर्शन पहले बुराड़ी ग्राउंड में करें उसके बाद बातचीत शुरू होगी.

Updated: Nov 30, 2020 5:26 PM
Farmers' protest, Farmers demand,किसानों ने चेतावनी दी है कि वे राजधानी में आने वाले सभी पांच प्रवेश मार्गों को बंद कर देंगे. (Image: AP)

Farmers’ Protest: दिल्ली की सीमा पर पंजाब के किसानों द्वारा लगातार 5 दिनों से जारी नए कृषि कानूनों के विरोध के ​बीच प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने एक बार फिर इन कानूनों को किसानों के हित में बताया है. वाराणसी में NH-19 के 6 लेन वाराणसी-प्रयागराज सेक्शन का उद्घाटन करने गए पीएम मोदी ने कहा कि नए कृषि कानूनों को किसानों को फायदा पहुंचाने के लिए लाया गया है. हम आने वाले दिनों में इनके फायदों को देखेंगे. नए कृषि सुधार किसानों को नए विकल्प और कानूनी सुरक्षा प्रदान करते हैं. किसानों को बड़े बाजारों का विकल्प उपलब्ध कराकर सशक्त बनाया जा रहा है. किसानों को अपनी फसल सीधे उन लोगों को बेचने की आजादी होनी चाहिए, जो उन्हें बेहतर कीमत और सहूलियत देते हों.

बता दें कि नए किसान कानूनों का विरोध कर रहे किसान दिल्ली की सीमा पर अड़े हैं. उनका विरोध प्रर्दशन सोमवार को लगातार पांचवे दिन जारी है. किसानों की तरफ से सरकार से सशर्त बातचीत की पेशकश ठुकरा दी गई है. सरकार का कहना किसान अपना विरोध प्रदर्शन पहले बुराड़ी ग्राउंड में करें उसके बाद बातचीत शुरू होगी. किसानों ने यह भी चेतावनी दी है कि वे राजधानी में आने वाले सभी पांच प्रवेश मार्गों को बंद कर देंगे. इस बीच, किसान प्रदर्शन के चलते ​से दिल्ली में ट्रैफिक भी काफी प्रभावित हुआ है. वहीं, जो किसान शनिवार को निरंकारी समागम ग्राउंड पहुंच गए हैं, उनका भी वहां प्रदर्शन जारी है. अब सरकार के अगले कदम पर नजर टिकी हुई है.

इससे पहले दोपहर में केन्द्रीय कृषि मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने गृह मंत्री अमित शाह के साथ मीटिंग की थी. किसान आंदोलन को तमिलनाडु के किसानों का भी समर्थन मिल रहा है. तिरुचिरापल्ली में किसानों की यूनियन ने अपनी मांग कागजों पर लिखकर और फिर उनके हवाईजहाज बनाकर हवा में उड़ाकर ​नए कृषि कानूनों के खिलाफ विरोध दर्ज किया. एक किसान का कहना है कि हमने दिल्ली जाने की कोशिश की लेकिन पुलिस ने हमें रोक दिया. केन्द्र को नए कृषि कानूनों को वापस लेना होगा.

टिकरी बॉर्डर ट्रैफिक मूवमेंट के लिए बंद

दिल्ली पुलिस ने ट्वीट कर जानकारी दी है कि किसानों के विरोध प्रदर्शन के मद्देनजर टिकरी बॉर्डर ट्रैफिक मूवमेंट के लिए बंद है. हरियाणा जाने के लिए झारोदा, धानसा, दरौला, झाटीखेड़ा, बादुसरी, कपासहेड़ा, रजोकरी NH-8, बिजवासन, पालम विहार और डूंडाहेड़ा बॉर्डर खुले हैं. दिल्ली पुलिस ने बताया कि सिंघु बार्डर दोनों तरफ से बंद है. वाहन चालक वैकल्पिक मार्ग का रुख करें. ट्रैफिक को मुकारबा चौक और जीटीके रोड से डायवर्ट किया गया है. यातायात बुरी तरह प्रभावित है. दिल्ली पुलिस ने सिग्नेजर ​ब्रिज से रोहिणी आने-जाने आउटर रिंग रोड, जीटीके रोड, एनएच44 और सिंघू बार्डर जाने से बचे.

वालंटियर डॉक्टर दे रहे मेडिकल सुविधाएं

दिल्ली-हरियाणा के सिंघू बॉर्डर पर जमा किसान प्रदर्शनकारियों को वालंटियर डॉक्टर मेडिकल सुविधाएं दे रहे हैं. एएनआई को एक डॉक्टर ने बताया, “हम सरकार से अपील करते हैं कि यहां जमा किसानों का कोरोना टेस्ट किया जाए. एक किसान को कोरोना होने से कई किसान उसकी चपेट में आ जाएंगे.

बता दें, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को अपने ‘मन की बात’ कार्यक्रम में कहा कि इन कृषि सुधारों ने किसानों को नए अधिकार और अवसर दिए हैं और बहुत कम समय में उनकी परेशानियों को कम करना शुरू कर दिया है.

किसानों ने ठुकराया अमित शाह का प्रस्ताव

केंद्र सरकार के कृषि कानूनों के विरोध में आंदोलनरत पंजाब के किसान संगठनों ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह का प्रस्ताव खारिज कर दिया. अमित शाह ने एक वीडियो जारी कर आंदोलित किसानों को 3 दिसंबर को बातचीत का न्योता दिया था. शाह ने कहा था कि अगर किसान उससे पहले वार्ता करना चाहते हैं तो उन्हें दिल्ली-हरियाणा सीमा पर मोर्चेबंदी छोड़कर दिल्ली में बुराड़ी के निरंकारी ग्राउंड पर जाना होगा.

रखी गई शर्त के बाद रविवार को 30 से अधिक किसान समूहों की बैठक हुई थी और उसके बाद उनके प्रमुखों ने फैसला किया है कि वे बुराड़ी नहीं जाएंगे क्योंकि वह एक खुली जेल है. वहीं, बुराड़ी के निरंकारी समागम ग्राउंड पर पहुंच गए किसानों का कहना है कि वे वही करेंगे, जो किसान यूनियनों का फैसला होगा.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. Farmers Protest: किसान पीछे हटने को राजी नहीं, PM ने फिर दिलाया भरोसा- नए कानून किसानों को फायदा पहुंचाने के लिए

Go to Top