सर्वाधिक पढ़ी गईं

PF पर 2018-19 के लिए 8.55% ही रह सकती है ब्याज दर, 21 फरवरी की मीटिंग करेगी फैसला

EPFO ने 2017-18 में अपने अंशधारकों को 8.55 फीसदी ब्याज दिया.

February 11, 2019 8:20 PM
EPFO likely to retain interest rate at 8.55pc for FY19EPFO के आय अनुमान को बैठक में रखा जाएगा. (PTI)

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) 2018-19 के लिए अपने छह करोड़ से अधिक अंशधारकों की कर्मचारी भविष्य निधि (EPF) पर ब्याज दर 8.55 फीसदी पर बरकरार रख सकता है.

सूत्रों के मुताबिक, EPFO के ट्रस्टीज की 21 फरवरी को होने वाली बैठक में चालू वित्त वर्ष के लिए ब्याज दर के प्रस्ताव को रखा जाएगा. लोकसभा चुनाव को देखते हुए ब्याज दर चालू वित्त वर्ष के लिए 2017-18 की तरह 8.55 फीसदी पर बरकरार रखा जाएगा. EPFO के आय अनुमान को बैठक में रखा जाएगा.

हालांकि सूत्र ने इस अटकल को भी पूरी तरह खारिज नहीं किया कि लोकसभा चुनाव के मद्देनजर चालू वित्त वर्ष के लिए EPF जमा पर ब्याज दर 8.55 फीसदी से अधिक हो सकती है.

बोर्ड की मंजूरी के बाद वित्त मंत्रालय की चाहिए होगी मंजूरी

श्रम मंत्री की अध्यक्षता वाला ट्रस्टी बोर्ड EPFO का निर्णय लेने वाला शीर्ष निकाय है, जो वित्त वर्ष के लिए भविष्य निधि जमा पर ब्याज दर को अंतिम रूप देता है. बोर्ड की मंजूरी के बाद प्रस्ताव को वित्त मंत्रालय से सहमति की जरूरत होगी. वित्त मंत्रालय की मंजूरी के बाद ब्याज दर को अंशधारक के खाते में डाला जाएगा.

पिछले 5 वित्त वर्षों में क्या रही ब्याज दर

EPFO ने 2017-18 में अपने अंशधारकों को 8.55 फीसदी ब्याज दिया. 2016-17 में 8.65 फीसदी और 2015-16 में 8.8 फीसदी ब्याज दिया गया था. वहीं 2013-14 और 2014-15 में ब्याज दर 8.75 फीसदी थी.

इन मुद्दों पर भी किया जा सकता है गौर

ट्रस्टीज की बैठक में जिन अन्य मुद्दों पर विचार किया जा सकता है, उनमें नए कोष प्रबंधकों की नियुक्ति और EPFO द्वारा एक्सचेंज ट्रेडेड फंड (ETF) में किए गए निवेश की समीक्षा शामिल हैं.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. PF पर 2018-19 के लिए 8.55% ही रह सकती है ब्याज दर, 21 फरवरी की मीटिंग करेगी फैसला

Go to Top