मुख्य समाचार:

प्रख्यात वकील राम जेठमलानी का निधन, 95 वर्ष की उम्र में अपने आवास पर ली अंतिम सांस

जेठमलानी की तबियत कुछ महीनों से ठीक नहीं थी.

September 8, 2019 12:31 PM
Eminent lawyer and former union minister ram jethmalani passes awayImage: PTI

जाने माने वकील और पूर्व केन्द्रीय मंत्री राम जेठमलानी (Ram Jethmalani) का रविवार को निधन हो गया. वह 95 वर्ष के थे. उनके पुत्र महेश जेठमलानी ने बताया कि जेठमलानी ने नई दिल्ली में अपने आधिकारिक आवास में सुबह पौने आठ बजे अंतिम सांस ली. महेश और उनके अन्य निकट संबंधियों ने बताया कि उनकी तबियत कुछ महीनों से ठीक नहीं थी. 14 सितंबर को राम जेठमलानी का 96वां जन्मदिन आने वाला था.

महेश ने बताया कि उनके पिता का अंतिम सरकार यहां लोधी रोड स्थित शवदाहगृह में शाम को किया जाएगा. जेठमलानी के निधन पर उपराष्ट्रपति वैंकेया नायडू, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल, बिहार के मुख्यमंत्री नी​तीश कुमार समेत कई नेताओं ने शोक जताया. शाह ने जेठमलानी के निवास पर पहुंचकर दिवंगत आत्मा को श्रद्धांजलि दी और शोक संतप्त परिवार के प्रति संवेदनाएं व्यक्त कीं.

सोहराबुद्दीन शेख मामले में अमित शाह के थे वकील

जेठमलानी सोहराबुद्दीन शेख कथित फर्जी मुठभेड़ मामले में अमित शाह के वकील थे. घटना के समय गुजरात के गृहमंत्री रहे शाह के खिलाफ इस मामले में केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने आरोप पत्र दायर किया था, लेकिन अदालत ने सबूतों के अभाव में उन्हें रिहा कर दिया था.

अटल सरकार में थे केंद्रीय मंत्री

जेठमलानी अटल बिहारी वाजपेयी के नेतृत्व वाली राजग सरकार में केंद्रीय कानून मंत्री और शहरी विकास मंत्री थे. उन्होंने 2010 में सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन के अध्यक्ष पद पर भी सेवाएं दी थीं.

केवल 17 साल की उम्र में पा ली थी कानून की डिग्री

जेठमलानी का जन्म 14 सितंबर 1923 को सिंध प्रांत (अब पाकिस्तान) के शिकारपुर में हुआ था. उन्होंने मात्र 17 वर्ष की आयु में कानून की डिग्री हासिल की थी. जेठमलानी के परिवार में उनके बेटे महेश के अलावा उनकी एक बेटी है, जो अमेरिका में रहती है. उनकी एक अन्य बेटी रानी जेठमलानी का 2011 में और एक अन्य बेटे जनक जेठमलानी का निधन हो चुका है.

असाधारण प्रतिभा के धनी वकील को खो दिया: PM

पीएम मोदी ने शोक व्यक्त करते हुए कहा, ‘देश ने असाधारण प्रतिभा के धनी वकील और एक प्रतिष्ठित शख्स को खो दिया, जिसने अदालतों और संसद में काफी योगदान दिया. पूर्व केंद्रीय मंत्री जेठमलानी में अपने विचारों को रखने की क्षमता थी और वह बिना किसी भय के ऐसा करते थे. आपातकाल के बुरे दिनों के दौरान उनके धैर्य और सार्वजनिक स्वतंत्रता के लिए उनकी लड़ाई को याद रखा जाएगा. दुख के इन क्षणों में उनके परिवार, दोस्तों और कई प्रशंसकों के प्रति मेरी संवेदनाएं हैं.’

भारत ने महान बुद्धिजीवी, देशभक्त खो दिया: नायडू

उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने कहा कि देश ने एक बड़े बुद्धिजीवी और देशभक्त को खो दिया है. उपराष्ट्रपति सचिवालय ने ट्वीट किया, ‘राम जेठमलानी के निधन का समाचार सुनकर बहुत दुख हुआ. …. भारत के बेहतरीन बुद्धिजीवी. उनके निधन से भारत ने एक विशिष्ट न्यायविद, एक बड़े बुद्धिजीवी और एक देशभक्त को खो दिया जो अंतिम सांस तक सक्रिय रहे.’’

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. प्रख्यात वकील राम जेठमलानी का निधन, 95 वर्ष की उम्र में अपने आवास पर ली अंतिम सांस

Go to Top