सर्वाधिक पढ़ी गईं

2-DG: Dr Reddy’s ने लांच की कोरोना की दवा, इस कीमत पर इन अस्पतालों में होगी उपलब्ध

हैदराबाद स्थित डॉ रेड्डीज लैबोरटरी ने अस्पताल में भर्ती कोरोना मरीजों के लिए कोरोना की दवा 2-डीऑक्सी-डी-ग्लूकोज (2-DG) को कॉमर्शियल तौर पर लांच करने का ऐलान किया है.

Updated: Jun 28, 2021 4:01 PM
Dr Reddy announces commercial launch of anti-covid drug 2-DG check Here its price and availabilityदवा के एक सैशे की कीमत 990 रुपये तय की गई है लेकिन सरकारी अस्पतालों के लिए यह कम दाम पर उपलब्ध कराया जाएगा.

हैदराबाद स्थित डॉ रेड्डीज लैबोरटरी ने अस्पताल में भर्ती कोरोना मरीजों के लिए कोरोना की दवा 2-डीऑक्सी-डी-ग्लूकोज (2-DG) को कॉमर्शियल तौर पर लांच करने का ऐलान किया है. इस दवा को इंस्टीट्यूट ऑफ न्यूक्लियर मेडिसिन एंड अलाइड साइंसेज (INMAS), डिफेंस रिसर्च एंड डेवलपमेंट ऑर्गेनाइजेशन (DRDO) और डॉ रेड्डीज लेबोरेटरीज ने मिलकर तैयार किया है. यह दवा देश भर के सरकारी और निजी अस्पतालों को आपूर्ति की जाएगी. हालांकि कंपनी द्वारा जारी एक बयान के मुताबिक पहले इसे मेट्रो और टियर-1 शहरों में उपलब्ध कराया जाएगा. इसके बाद इसे देश के अन्य हिस्सों में भी उपलब्ध कराया जाएगा. इस दवा के एक सैशे की कीमत 990 रुपये तय की गई है लेकिन सरकारी अस्पतालों के लिए यह कम दाम पर उपलब्ध कराया जाएगा.

डोडला डेयरी 28% और किम्स 22% से अधिक प्रीमियम पर लिस्टेड, स्टॉक एक्सचेंज पर हुई मजबूत शुरुआत

पिछले महीने दवा नियामक की मिली थी मंजूरी

इस दवा की बिक्री 2डीजीटीएम ब्रांड नाम के तहत की जाएगी. कंपनी का दावा है कि इस दवा की शुद्धता 99.5 फीसदी है. कोरोना वायरस के खिलाफ तैयार की गई इस दवा को दवा नियामक डीसीजीआई (ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया) की 1 मई 2021 को मंजूरी मिली थी. हालांकि इस दवा का इस्तेमाल क्वालिफाइड फिजिशियन के सुपरविजन में सिर्फ मॉडेरेट से लेकर गंभीर संक्रमितों के इलाज के लिए अतिरिक्त थेरेपी के तौर पर ही किया जा सकता है. डॉ रेड्डी के चेयरमैन सतीश रेड्डी के मुताबिक कोविड ट्रीटमेंट पोर्टफोलियो में कंपनी ने एक और प्रॉडक्ट जोड़ा है. इससे पहले कंपनी ने स्नोमैन लॉजिस्टिक्स के साथ मिलकर रूस की Sputnik V वैक्सीन के वितरण के लिए साझेदारी कर चुकी है.

इस तरह काम करता है 2-DG

2-डीजी को जेनेरिक मॉलिक्यूल के तौर पर तैयार किया गया है जिसमें ग्लूकोज के गुण हैं. यह दवा शरीर में कोरोन वायरस से संक्रमित कोशिका में जाती है और फिर उस वायरस को अन्य कोशिका पर आक्रमण करने से रोकती है. यह दवा वायरस के वायरल सिंथेसिस और एनर्जी प्रोडक्शन को कम कर देती है जिससे यह अधिक तेजी से नहीं बढ़ पाता और कोरोना संक्रमितों को सप्लीमेंट ऑक्सीजन की अधिक जरूरत नहीं रह जाती है और उसे तेज रिकवरी होती है.
दवा का शुरुआती परीक्षण पिछले साल 2020 में मई और अक्टूबर के बीच छह अस्पतालों में 110 मरीजों पर किया गया था. अंतिम चरण के दौरान मार्च 2021 में 27 कोविड हॉस्पिटल्स में 220 मरीजों पर इसका अंतिम ट्रॉयल किया गया. ट्रायल के डेटा के मुताबिक इस दवा का उपयोग सुरक्षित है और कोरोना संक्रमितों में तेज रिकवरी होती है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. 2-DG: Dr Reddy’s ने लांच की कोरोना की दवा, इस कीमत पर इन अस्पतालों में होगी उपलब्ध

Go to Top