सर्वाधिक पढ़ी गईं

नोटबंदी के 4 साल: काला धन घटाने और कर अनुपालन बढ़ाने में मिली मदद, पारदर्शिता को मिला बूस्ट: PM मोदी

आज 8 नवंबर को नोटबंदी के चार साल पूरे हो गए. इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने एक बार फिर नोटबंदी से देश को हुए फायदों को गिनाया.

Updated: Nov 08, 2020 5:02 PM
Demonetisation helped reduce black money, increased tax compliance, gave boost to transparency, PM Narendra Modi

आज 8 नवंबर को नोटबंदी के चार साल पूरे हो गए. इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Narendra Modi) ने एक बार फिर नोटबंदी से देश को हुए फायदों को गिनाया. पीएम मोदी ने ट्वीट के जरिए कहा कि नोटबंदी ने काले धन को कम करने और कर अनुपालन व फॉर्मलाइजेशन को बढ़ावा देने में मदद की. इसका नतीजा हुआ कि पारद​र्शिता को बूस्ट मिला.

उन्होंने कहा कि ये परिणाम देश की प्रगति के लिए काफी फायदेमंद हैं. उन्होंने ट्वीट में कुछ ग्राफिक्स भी शेयर किए, जो दर्शाते हैं कि कैसे नोटबंदी ने बेहतर कर अनुपालन, टैक्स व जीडीपी रेशियो में सुधार को सुनिश्चित कर भारतीय अर्थव्यवस्था की कैश पर निर्भरता कम की और राष्ट्रीय सुरक्षा को बढ़ावा दिया.

पीएम मोदी ने 8 नवंबर 2016 को रात 8 बजे देश में 500 रुपये के पुराने और 1000 रुपये के नोट चलन से बाहर हो जाने की घोषणा की थी और इनकी जगह 500 और 2000 रुपये के नए नोट लाने का एलान किया था.

राहुल गांधी ने फिर की आलोचना

वहीं दूसरी ओर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने नोटबंदी को लेकर केंद्र सरकार की आलोचना करते हुए रविवार को आरोप लगाया कि चार साल पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के उस कदम का मकसद अपने कुछ उद्योगपति मित्रों की मदद करना था और इसने भारतीय अर्थव्यवस्था को बर्बाद कर दिया. गांधी और कांग्रेस आरोप लगाते रहे हैं कि 2016 में की गई नोटबंदी लोगों के हित में नहीं थी और इसने अर्थव्यवस्था पर विपरीत असर डाला है. लेकिन इस आरोप का सरकार ने बार-बार खंडन किया है.

राहुल गांधी ने कहा कि चार साल पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारतीय अर्थव्यवस्था पर एक हमला शुरू किया था. उन्होंने किसानों, श्रमिकों और छोटे दुकानदारों को नुकसान पहुंचाया था. प्रधानमंत्री ने कहा था कि यह काले धन के खिलाफ लड़ाई है, लेकिन ऐसा नहीं है. यह एक झूठ था. यह आप पर हमला था. मोदी आपका पैसा लेना चाहते थे और उसे अपने 2-3 उद्योगपति मित्रों को देना चाहते थे. आप लाइनों में खड़े हुए, उस लाइन में उनके उद्योगपति मित्र नहीं थे. आपने अपना पैसा बैंकों में रखा और प्रधानमंत्री मोदी ने उस पैसे को अपने दोस्तों को दिया और उन्हें 3,50,000 करोड़ रुपये की कर्ज माफी दी.”

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. नोटबंदी के 4 साल: काला धन घटाने और कर अनुपालन बढ़ाने में मिली मदद, पारदर्शिता को मिला बूस्ट: PM मोदी

Go to Top