Delhi-NCR Earthquake : दिल्ली-एनसीआर समेत उत्तर भारत में भूकंप के तेज झटके, नेपाल रहा भूकंप का केन्द्र | The Financial Express

Delhi-NCR Earthquake : दिल्ली-एनसीआर समेत उत्तर भारत में भूकंप के तेज झटके, नेपाल रहा भूकंप का केन्द्र

हाल ही के दिनों में आया यह दूसरा तेज भूकंप का झटका है, जिसकी तीव्रता रिक्टर स्केल पर 5.4 मापी गई.

Delhi-NCR Earthquake : दिल्ली-एनसीआर समेत उत्तर भारत में भूकंप के तेज झटके, नेपाल रहा भूकंप का केन्द्र
दिल्ली-एनसीआर समेत उत्तर भारत में एक बार फिर से भूकंप के तेज झटके महसूस किये गए.

Delhi-NCR Earthquake : दिल्ली-एनसीआर समेत उत्तर भारत में एक बार फिर से भूकंप के तेज झटके महसूस किये गए. नेशनल सेंटर फॉर सीस्मोलॉजी (NCS) ने बताया कि यह भूकंप शाम 7.57 बजे आया, जिसकी तीव्रता 5.4 मापी गई. भूकंप के झटके करीब 30 से लेकर 40 सेकंड तक महसूस किए गए. भूकंप के तेज झटके से डरे लोग अपने घरों से बाहर निकल आए. NCS के मुताबिक भूकंप का केन्द्र नेपाल में था, जिसकी गहराई 10km नीचे थी. पिछले कुछ दिनों में भूकंप के कई झटके महसूस किये गए हैं. हाल ही में आया यह दूसरा तेज भूकंप है.

इससे पहले बुधवार तड़के दिल्ली-एनसीआर में भूकंप के तेज झटके महसूस किये गए थे. हिमालयी क्षेत्र में बुधवार को आए भूकंप की तीव्रता 6.6 मापी गई. भूकंप की वजह से नेपाल में 6 लोगों की मौत हो गई थी. नेशनल सेंटर फॉर सीस्मोलॉजी (NCS) ने बताया कि यह भूकंप तड़के 1.57 बजे आया, जिसकी तीव्रता 6.6 थी. भूकंप का केंद्र पिथौरागढ़ से लगभग 90 किलोमीटर दूर नेपाल में था. पिछले कुछ दिनों में इस क्षेत्र में कम तीव्रता के कई झटके महसूस किये गए है.

कांग्रेस मेनिफेस्टो में 10 लाख नौकरियों और 20 हज़ार रु स्कॉलरशिप का वादा, 300 यूनिट मुफ्त बिजली का भी एलान

नेपाल में भूकंप की निगरानी करने वाली संस्था एनईएमसी (National Earthquake Monitoring Centre) ने कहा कि यह भूकंप सुबह करीब 2.12 बजे महसूस किया गया था. भूकंप का केंद्र डोटी (Doti) जिला में था. एनईएमसी के मुताबिक तेज भूकंप से पहले मंगलवार को रात 9.07 बजे 5.7 तीव्रता और रात 9.56 बजे 4.1 तीव्रता वाले भूकंप के झटके महसूस किये गए थे. इन दोनों भूकंप का केन्द्र भी डोटी जिला में ही था.

भूकंप के दौरान बरतें ये सावधानियां (NDMA के निर्देशों के अनुसार)

  • शांत रहें, रेडियो/टी.वी. को चालू करें तथा इस पर आने वाली हिदायतों का पालन करें.
  • समुद्र-तट तथा नदी के निचले किनारों से दूर रहें. बड़ी लहरें आपको बहा सकती हैं.
  • भूकंप के बाद आने वाले झटकों के प्रति तैयार रहें.
  • पानी, गैस तथा बिजली के स्विचों को बंद कर दें.
  • सिगरेट न पिएं तथा माचिस की तीली को न जलाएं अथवा किसी सिगरेट लाइटर का उपयोग न करें.
  • स्विच को ऑन न करें क्योंकि गैस लीकेज अथवा शॉर्ट-सर्किट हो सकता है.
  • यदि कहीं आग लगी हो तो इसे बुझाने का प्रयास करें. यदि आप इसे बुझा न सकें तो फायर ब्रिगेड को बुलाएं.
  • यदि लोगों को गंभीर चोट लगी हो, तो उन्हें तब तक न हिलाएं जब तक कि उन्हें कोई खतरा न हो.
  • उस ज्वलनशील पदार्थ जैसे अल्कोहल और पेंट जो जमीन पर बिखर गया हो को तुरंत साफ कर दें.
  • यदि आपको पता चल जाए कि लोग जल गए हैं, तो बचाव टीमों को बुलाएं.
  • हड़बड़ी न मचाएं तथा घायल लोगों की मदद करें.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

First published on: 12-11-2022 at 20:28 IST

TRENDING NOW

Business News