सर्वाधिक पढ़ी गईं

अब दिल्ली में रात 3 बजे तक खुल सकेंगे बार, जानिए राज्य सरकार की नई एक्साइज पॉलिसी में क्या हुए हैं ऐलान

दिल्ली सरकार ने 2021-22 के लिए नई एक्साइज पॉलिसी का ऐलान किया है. इसके तहत दिल्ली में स्थित होटल्स, क्लब्स और रेस्तरां में रात तीन बजे तक बार खोलने की इजाजत रहेगी.

July 6, 2021 2:32 PM
Delhi government new excise policy allows bars to operate till 3 amएक्साइज पॉलिसी के मुताबिक दिल्ली के 68 विधानसभा क्षेत्रों में 272 म्यूनिसिपल वार्ड्स को 30 जोन में बांटा गया है. हर जोन में अधिकतम 27 रिटेलर्स ही हो सकेंगे. (Representative Image- ANI)

दिल्ली सरकार ने सोमवार को 2021-22 के लिए नई एक्साइज पॉलिसी का ऐलान किया है. इसके तहत दिल्ली में स्थित होटल्स, क्लब्स और रेस्तरां में रात तीन बजे तक बार खोलने की इजाजत रहेगी. हालांकि जहां शराब की राउंड द क्लॉक सर्विस यानी 24 घंटे बिक्री के लिए लाइसेंस जारी किया है, वहां यह नियम नहीं लागू होगा. इसके अलावा दिल्ली सरकार ने होटल्स, क्लब्स और रेस्तरां को जिस क्षेत्र के लिए लाइसेंस मिला है, उतनी दूरी में कोई भी भारतीय या विदेशी शराब की बिक्री कर सकता है. इसमें टेरेस, बॉलकनी या निचला एरिया भी शामिल है, हालांकि सार्वजनिक स्थान से लोगों की नजर में इसके परोसने पर नजर नहीं पड़नी चाहिए. 2021-22 एक्साइज पॉलिसी के मुताबिक शहर के सभी लिक्वर आउटलेट में ऐसे ग्राहकों को जाने से नहीं रोका जा सकेगा जो एक से अधिक ब्रांड्स पसंद करते हैं और सभी ब्रांडों के सेलेक्शन से लेकर बिक्री तक की पूरी प्रक्रिया परिसर के भीतर ही पूरी की जाएगी.

दो बार लिखित अनुरोध के बावजूद फाइजर ने लाइसेंस के लिए नहीं किया आवेदन, मई में भारत सरकार से बातचीत का किया था दावा

एक्साइज पॉलिसी की खास बातें

  • भारतीय व विदेशी लिक्वर (एल-7वी) की खुदरा बिक्री किसी भी बाजार, माल, कॉमर्शियल स्ट्रीट्स एंड एरियाज, लोकल शॉपिंग कांप्लेक्सेज और अन्य स्थानों पर की जा सकेगी.
  • नए एक्साइज सिस्टम के तहत दिल्ली में अपने बॉटल्स या ग्राउलर्स (Growlers) को शहर में किसी भी माइक्रोब्रूअरी से ताजा ब्रूड बियर (Brewed Beer) भरवाया जाया सकेगा.
  • माइक्रोब्यूअरीज किसी भी बार्स को ड्राट बियर (Draught Beer) सप्लाई कर सकेंगे. ड्राट बियर्स को बॉटल्स या ग्राउलर्स में ले जाने की इजाजत रहेगी.
  • माइक्रोब्रूअरी उन सभी बार्स और रेस्तरां को सप्लाई कर सकेंगे जिनके पास इसे सर्व करने का लाइसेंस है.
  • सभी एयरकंडीशंस रिटेल वेंडर्स के यहां शीशे के दरवाजे होंगे.
  • किसी वेंडर के यहां बाहर ग्राहकों को भीड़ लगाने की इजाजत नहीं होगी.
  • दुकान के बाहर और अंदर सीसीटीवी कैमरा लगाए जाएंगे और सुरक्षा के पर्याप्त इंतजाम किए जाएंगे क्योंकि दुकान के आस-पास के लॉ एंड ऑर्डर की जिम्मेदारी उन्हीं की होगी. अगर दुकान के आस-पास कोई विवाद होता है और दिल्ली सरकार को शिकायत मिलती है तो वेंडर का लाइसेंस रद्द हो सकता है.

कल खुलेगा क्लीन साइंस का आईपीओ, ग्रे मार्केट में 53% प्रीमियम पर पहुंचा भाव, निवेश के लिए एक्सपर्ट की ये है सलाह

  • बार को अपने यहां कोई एंटरटेनमेंट या परफॉरमेंस कराने की इजाजत होगी.
  • बार काउंटर पर खुले बोतलों में शराब की शेल्फ लाइफ को लेकर कोई रिस्ट्रिक्शंस नहीं होगा.
  • स्टार्टअप्स को प्रमोट करने के लिए नई पॉलिसी में लिक्वर के विभिन्न ब्रांड्स की दिल्ली के भीतर व बाहर बिक्री के लिए रजिस्ट्रेशन के लिए प्राइसिंग नॉर्म्स में संशोधन किया गया है. नए नियम लिक्वर के ब्रांड और इसके बिक्री के आंकड़े पर निर्भर होंगे.
  • शहर में 849 रिटेल लिक्वर वेंड्स होंगे जिसमें पांच सुपर प्रीमियम रिटेल वेंड्स हैं जिनका न्यूनतम कारपेट एरिया 2500 वर्गमीटर होगा.
    सुपर प्रीमिमय वेंड्स के परिसर में एक टैस्टिंग रूम बनाया जाएगा और यह 200 रुपये से अधिक की ही बियर और अन्य स्पिरिट्स 1 हजार रुपये से अधिक के भाव पर ही बेच सकेंगे.
  • सुपर प्रीमियम वेंड्स को अपने स्टोर में वाइन समेत कम से कम 50 आयातित लिक्वर ब्रांड्स रखने होंगे.
  • दिल्ली सरकार ने एक नया लाइसेंस एल-38 भी शुरू किया है जो बंकेट हॉल्, पार्टी प्लेसेज, फार्महाउसेज, मोटेल्स, वेडिंग/पार्टी/इवेंट वेन्यू को दिया जाएगा. इसके तहत एक बार की सालाना फीस के भुगतान पर भारतीय व विदेशी लिक्वर को परिसर में आयोजित पार्टियों में परोसा जा सकेगा.
  • एक्साइज पॉलिसी के मुताबिक दिल्ली के 68 विधानसभा क्षेत्रों में 272 म्यूनिसिपल वार्ड्स को 30 जोन में बांटा गया है. हर जोन में अधिकतम 27 रिटेलर्स ही हो सकेंगे यानी कि एक वार्ड में औसतन तीन रिटेल लिक्वर वेंडर्स हो सकते हैं.

सोशल मीडिया पर मिल रही नकारात्मक प्रतिक्रिया

दिल्ली सरकार के रात 3 बजे तक बार खोलने के फैसले पर सोशल मीडिया पर नकारात्मक प्रतिक्रियाएं मिल रही हैं. एक यूजर ने लिखा है कि सभी गतिविधियों को फिर से मंजूरी दिए जाने से पहले 70-80 फीसदी वैक्सीनेशन का लक्ष्य पूरा किया जाना चाहिए था और बाजार को एक महीने के लिए बंद या ऑड-इवन आधार पर खोला जा सकता था तो ऐसे में इतनी जल्दी करने की क्या जरूरत है. वहीं कई यूजर्स तीसरी लहर को लेकर इस फैसले के प्रति संशंकित दिखे.

(सोर्स: न्यूज एजेंसी एएनआई)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. राष्ट्रीय
  3. अब दिल्ली में रात 3 बजे तक खुल सकेंगे बार, जानिए राज्य सरकार की नई एक्साइज पॉलिसी में क्या हुए हैं ऐलान

Go to Top